1 महीने का बच्चा

Question: Mera baby 1 month ka hai use sardi hui hey gharelu nuska bata dijiye

1 Answers
सवाल
Answer: Ajvain aur oil lahsun vala oil garm karke uski body pe msag kri Mali's karo Ajvain aur hldi pis kr uski pest bankr garm karke kuski chhati pe lagaye.thoda hi garm.agar purani cloth k upper bhi gar pest lagavi kr puri rat rhne de.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mera 8 month chal raha hai mujhe bohot khansi ho rahi hai do din se mujhe koi gharelu nuska bata dijiye jisse mujhe rahat mil jaye
उत्तर: जैसे ही महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें जल्दी इन्फेक्शन हो जाता है। क्योंकि उनकी बॉडी बहुत ही सेंसिटिव हो जाती है प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है 1) सर्दी खांसी से खुद को बचाने और गर्भावस्था में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आपको अपने डायट में ताजे फल सब्जियां और साबुत अनाज शामिल कर सकती हैं। 2) तरल पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए जैसे अदरक वाली चाय हर्बल चाय और फलों का जूस 3) ज्यादा थके नहीं आराम करें आप जितने आराम से रहेंगे आपको इन्फेक्शन उतना ही कम होगा 4)खासी आने पर ईलायची मुंह में लेखर चुसें। उपाय-- सर्दी होने पर अक्सर नाक बंद हो जाता है तो आप गर्म पानी गर्म पानी का मशीन से भाप ले सकती हैं इसमें आप दो तीन बूंद नीलगिरी का तेल डाल ले इससे सिर के ऊपर तो लिया ढक कर अपना सर बर्तन के ऊपर झुकाकर भाप लें इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सर दर्द कम हो जायेगा और सर्दी से भी राहत मिलेगी साथ ही अगर गले में भी दरद या टांसील हो तो गरम पानी में नमक डालकर दीन में चार पांच बार तो राहत मिलेगी आप तुलसी अदरक का रस आधा आधा चम्म्च लेकर शहद मीलाकर पी सकती हैं।इससे सर्दी खांसी में राहत मीलेगी। गुनगुने गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर आप इसे पी सकती हैं अगर आपकी सर्दी खांसी ठीक नहीं हो रही है और आप को तेज बुखार है तो आप को बिल्कुल भी देर नहीं करना चाहिए डॉक्टर से कंसल्ट करें और अपनी मर्जी से कोई भी दवाई ना ले .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Meri baby ko boht sardi or khasi hai koi gharelu nuska btao
उत्तर: उत्तर: हेलो डियर ,,,अभी आपकी बेबी 3 month,ki है इतने छोटे बच्चों khaci सर्दी मौसम बदलने और प्रतिरोधक क्षमता में कमी होने के कारण होना एक सामान्य बात है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो कुछ घरेलू उपाय के द्वारा आप बेबी के सर्दी खांसी को दूर कर सकते हैं| बेबी को अपना दूध पिलाते रहिए ,मां के दूध में प्रतिरोधक क्षमता होती है अजवाइन की पोटली बनाकर उसे बेबी के छाती ,पीट ,पैर और हाथ के तलवों को धीरे-धीरे मसाज कीजिए | अगर baby ka nose जाम है तोआप बेबी के नाक में नोजल ड्रॉप डाल सकते हैं नोजल ड्रॉपDr. द्वारा recommended Ho...| लहसुन को गर्म सरसों तेल में डालकर गर्म कर ले ,इसी तेल से बेबी की हल्की हल्की मालिश कीजिए | सेंधा नमक को सरसों तेल में मिलाकर बेबी की मालिश कर सकते हैं | सरसों तेल या नारियल तेल में तुलसी की पत्तियों को पीसकर milyeऔर इस से बेबी की malis kre..| सोते समय बेबी का सर ऊंचा रखें इसे बेबी को सांस लेने में आसानी होगी | बेबी को भाप दिलाने के लिए कमरे या बाथरूम में गर्म पानी डालकर पूरे कमरे मे स्टीम भर ले और इसी कमरे में बेबी को 10 से 15 मिनट बैठाकर रखें बेबी के कफ एंड कोल्ड में राहत मिलेगी| बेबी की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें बेबी को जब भी छुए हाथ धोकर छुए ,नहीं तो बेबी को इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता है |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby one month ka hai use khasi aur sardi hui hai kya karna chahiye
उत्तर: 1क कप सरसो के तेल में अजवाइन और लहसुन की दस कलियां लेकर उसे पकाए, थोड़ा ठंडा होने पर उससे बच्चे की मालिश करे। सरसों के तेल, लहसुन और अजवाइन में कीटाणु-रोधक और विषाणु-रोधक गुण होते हैं। यह आपके बच्चे को काफी मात्रा में आराम प्रदान करने में सहायता करता है। बच्चे को सर पे ऐसी टोपी पहना के रखें जिससे की उसके कानो में ठंडी हवा ना घुसे। एक बात जो बच्चे नहीं बता पाते हैं वो यह है की ठण्ड की वजह से उनके कानो में बहुत दर्द होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera baby 7 mont ka hai use khasi hui hai to mai gharelu upay ky karu
उत्तर: hello dear थोड़ा अजवायन के बीज के साथ थोड़ा पानी उबालें और बेबी को इसे पिलाएं। इसके अलावा, अगर बच्चा ऊपर का दूध ले रहा है तो दूध उबालते समय अजवायन डाल दें इसे बेबी को दें। सरसों के उबलते तेल में लहसुन और लौंग डालें और इसे बेबी की छाती पर लगाने से भी खांसी मे आराम मिलता है। पैन पर कुछ अजवायन के बीज भूनें और इसे साफ सूती कपड़े पर रख दें, और पोटली तरह से बना लें। इसे बच्चे की छाती, पैरो के तलवो, हथेली और पीठ पर लगाएं। अपने बच्चे के पैरों के तलवो मे vicks रगड़ें और सूती या ऊनी मोजे पहनाए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें