3 महीने का बच्चा

Question: mera baby 3 manth ka hai uska वज़न kitna hona chahiye wo bahut patla dubla है

2 Answers
सवाल
Answer: हेलों डियर 3 महीने की बेबी गर्ल का वेट (4.5 -7.4) के.जी. और बेबी बॉय का वेट (5 -7.9) के.जी. के आसपास होना चाहिए आपका बेबी बहुत पतला है .3 महीने के बेबी का खाना माँ का ढूध या फॉरम्यूला मिल्क होता है अगर आपका बेबी आपका मिल्क पीता है तो आप अपना खाना हेल्थी रखें .क्योकी आपके बेबी का आहार माँ का ढूध होता है डिलिवरी के बाद माँ बहुत कमज़ोर हो जाती है बेबी को हेल्थी करने के लिए माँ का स्वस्थ रहना ज़रूरी होता है आपके हेल्थी होने से आपका मिल्क भी बेबी के लिए हेल्थी होगा आप आयरन प्रोटीन कैल्सीअम से भरपूर खाना खाएं ताकि बेबी को पूरे पोषण आपके मिल्क से मिलें आप दालें अनाज राजमा मूनगफ़लि चने दलिया मिल्क दही ड्राइ फ्रूट्स,गुड के लड्डू खाएं ये लड्डू प्रेजेनसी के बाद बहुत हेल्थी होते है और बच्चे को समय से बार बार फीड करायें ताकि बच्चे को पूरे पोषण मिलें और पानी की कमी बच्चे को ना हो माँ का ढूध बच्चे का इम्यूनिटी पावर बढ़ाता है और बच्चे को बीमारी से दूर रखता है.bacvhe ki malish olive oil se din me 2 baar kare.
Answer: उसका वज़न 5.7 से 7.2 के.जी. appox होना चाहिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera baby 40days ka hai pr wo bahut dubla patla hai use pryapt matra me maa
उत्तर: अगर आपके बेबी का वज़न नही बढ़ रहा है मतलब बेबी को इतना दूध नही मिल रहा . शायद आपको दूध काम आ रहा है , आप बेबी को फॉर्म्यूला भि दि सकती है , या अपने खाने में ये सब शामिल करे , दूध बढ़ेगा . मेथी के बीज सौंफ सौंफ भी स्तन दूध की आपूर्ति बढ़ाने का एक अन्य पारंपरिक उपाय है लहसुन लहसुन स्तन दूध आपूर्ति को बढ़ाने में भी सहायक माना गया है हरी पत्तेदार सब्जियां हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, मेथी, सरसों का साग और बथुआ आदि  जीरा दूध की आपूर्ति बढ़ाने के साथ-साथ माना जाता है कि जीरा पाचन क्रिया में सुधार और कब्ज, अम्लता (एसिडिटी) और पेट में फुलाव से राहत देता है लौकी व तोरी जैसी सब्जियां पारंपरिक तौर पर माना जाता है कि लौकी, टिंडा और तोरी जैसी एक ही वर्ग की सब्जियां स्तन दूध की आपूर्ति सुधारने में मदद करती हैं। तिल के बीज, जई और दलिया तुलसी- तुलसी स्तन दूध उत्पादन बढ़ाने में सहायक है मेवे माना जाता है कि बादाम और काजू स्तन दूध के उत्पादन को बढ़ावा देते हैं. स्तनपान के दौरान पम्पिंग सेशन से स्तन में दूध की मात्रा बढ़ती है। दूध की आखिरी बूंद के बाद करीब 5 बार स्तन को पंप करें। स्तन से ज्यादा दूध की मांग करने पर शरीर को ज्यादा दूध उत्पादन का संदेश जाता है। स्तनपान कराते समय स्तन को बदलें: जब भी स्तनपान कराएं तो स्तन को बराबर बदलें। इससे शरीर में दूध उत्पादन की मांग बढ़ेगी। साथ ही इससे आपका बच्चा भी आराम से स्तनपान कर सकेगा। दरअसल इससे स्तन खाली होता है और ज्यादा दूध का उत्पादन होता है। एक बार स्तनपान कराते समय कम से कम दो से तीन बार स्तन बदलें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby 5 manth ka h uska bet kitna hona chahiye
उत्तर: हेलो डियर आप के बेबी का वजन jannm के समय जो वज़न हो उसका 2 गुना होना चाहिये |
»सभी उत्तरों को पढ़ें