4 महीने का बच्चा

Question: mera baby 4month ka h kaph jama h subah sans lene m paresani hoti h m kya karu

2 Answers
सवाल
Answer: छोटे बच्चों को सर्दी खांसी जुकाम और कफ से राहत के लिए कुछ घरेलू उपाय 1) सर्दी होने पर छोटे बच्चे का सिर हमेशा थोड़ी ऊपर रखें जिससे उसे सांस लेने में परेशानी ना हो। 2) खड़ी हल्दी को गर्म तवे पर हल्का सेंक लें और उसमें सरसों तेल की कुछ बूंदें मिलाकर उसे घोष कर पेस्ट बना लें इस पेस्ट से बच्चे का मालिश करें इससे बच्चे की शरीर में गर्माहट आएगी और उसे सर्दी से राहत मिलेगी 3) सरसों का तेल गर्म करके उसमें थोड़ी सी अजवाइन और लहसुन की कुछ कलियां डालकर पका लें ठंडा होने पर इसी तेल से बच्चे के पूरे शरीर में मालिश करें 4) सर्दी होने पर बच्चे को ठंडी हवाओं से बचाएं कान ढक कर रखें पैरों में मोजे पहनाकर रखें अक्सर बच्चों को सर्दी ठंडी हवा से होती है 5)बच्चे को कभी भी कोई मेडिसीन बिना डा. सलाह के न दें
Answer: जयफ़ल को सरसों के तेल मे डाल कर फ़िर घीस कर बच्चे को chata दीजिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mujhe sans lene me dikkat hoti h to kya mera baby size me bda h
उत्तर: हेल्लो डीयर प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये ७५% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। सांस फुल्ने के कारण प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड ५०,% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले कैसे कण्ट्रोल करें उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो डॉक्टर मेरा 8व महीना h मुझे साँस लेने में परेसानी हो rahi h
उत्तर: प्रेग्नन्सी मैं सांस लेने की परेशानी बहुत कॉमन है। ये 75% प्रेगनेंट वीमेन को होती है जो नार्मल है। प्रेगनेंसी के दौरन बॉडी मैं बहुत से परिवर्तन होते हैं उनमे से एक है हारमोनल परिवर्तन। प्रेगनेंसी टाइम मे प्रोजेस्टोजेन एक हर्मोने है इसका लेवल जब हाई होने लगता है तोह रेस्पिरेटरी सिस्टम मै बहत प्रेशर आता है जिस्सकी वजह से प्रेगनेंसी मैं सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। प्रेग्नन्सी की शुरुवात मै आपका ब्लड 50% बढ़ जाता है जिस्सकी वजह से हार्ट को पंप करने मे बहुत लोड पड़ता है जिस्सकी वजह से सांस लेने मै दिक्कत होती है। बेबी के वेट की वजह से आपके लुंग्स पर प्रेशर पडता है जिस्सकी वजह से आपको सांस लेने मै प्रॉब्लम होती है। बेबी की वजह से ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ जाती है जिस्सकी वजह से साँस लेने मै प्रॉब्लम होती है। सांस न फूले उसस्के लिए ये टिप्स फॉलो करे १)जब भी सांस लेने मै प्रॉब्लम हो तब २०मिन्स तक डीप ब्रीथिंग करे। २)ज़्यादा भरी या हैवी लोड वाला कोई काम न करे। ३)अगर आप कहीं बैठे या लेटे हैं तो आपकी सांस फूल रही है तो आप पोजीशन चेंज करे। ४)डेली थोड़ी एक्सरसाइज करें जैसे की वॉकिंग,दीप ब्रीथिंग आदि।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: सर्दी , जुकाम हो gaya h, सोते टाइम साँस लेने m प्रॉब्लम होती h क्या करूं
उत्तर: हेलो डिअर , आप को अगर प्रेग्नेंसीय में जुखाम ,खाँसी हो गया हैं तो आप इस तरह से अपनी घरेलू तरीके से जुखाम, खाँसी ठीक कर सकती है अदरक चाय सिंपल और असरदार उपाय है। शहद का आधा चम्मच लें, नींबू की कुछ बूंदें और दालचीनी का एक चुटकी मिलाए और रोजाना दो बार लें।गर्म पानी पीने से आराम मिलता है। दूध और हल्दी मिक्स करके पिएँ। नमक के पानी मिक्स करके पिएँ । शहद, नींबू का रस और गर्म पानी लें। मसालेदार चाय - अपनी चाय तैयार करते समय तुलसी अदरक और काली पेपर पाउडर डाले। आप अदरक तुलसी मिश्रण खा सकती हैं।आप शहद और अदरक ले सकती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें