2 महीने का बच्चा

Question: mera baby 52 din ka hai uske pet m गै स हो ग यि है कुछ उपाय बटाइए

1 Answers
सवाल
Answer: गुनगुने पानी मे हींग डालकर pilae,(bilkul jara c hing pilae) ऑर पेट म भी लगाए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मरें स्थनो मे गठ हो गायी है प्लीज कुछ उपाय बटाइए
उत्तर: हेलो डियर, बेबी को फीड कराने पर ब्रैस्ट में दर्द दूध के जमाव होने की वजह से भी दर्द और गांठ होने लगता है ऐसे में आप कुछ इस तरह से घरेलू उपाय कर कर सकती है , इससे ब्रैस्ट दर्द और गाठ में राहत मिल जाएगा , अपने बेबी फीड कराने से पहले ब्रैस्ट की मसाज अच्छे से करे ताकि दूध का जमाव कम हो जाएगा और दूध के सकुलेशन बढ़ जाएगा तो ब्रैस्ट में दर्द और गाठ कम हो जाएगा , ऐसे में आप ब्रैस्ट को गर्म थैली से दबाव करके सिकाई करे इससे गर्माहट पा कर दूध का अच्छे से बहाव होने लगेगा और ब्रैस्ट में दर्द कम हो जाएगा, ऐसे में ज्यादा कसने वाले ब्रा पहनने से भी ब्रैस्ट में पेन होता है आपको आरामदायक और सूती ब्रा पहनना चाहिए ताकि ब्रैस्ट पे रैशेस न पड़े और ब्रैस्ट को ज्यादा कसने वाले ब्रा नही पहनना चाहिए ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हल्लो मुझे बहुत कफ़ और खांसी हो ग ई है क फ निका लने का कुछ घरगुति उपाय बताए
उत्तर: हेलो डियर एक चम्मच शहद में थोड़ा सा अदरक का जूस और थोड़ी सी हल्दी डालकर दिन में दो चम्मच लीजिए से राहत मिलेगी और रोज रात को सोने के पहले गरम गरम हल्दी वाला दूध पी जिए उससे भी खांसी में आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere pet me gais ki wjah se pet दरद हो रहा है गैस को ठीक करने का उपाय बटाइए
उत्तर: हेलो डिअर, गर्भावस्था में पेट की गैस को दूर करने के घरेलू उपाय इस प्रकार से हो सकते हैं, आप जो भी खाना खाएं उसे खूब खूब चबा चबा कर खाएं ऐसे आपका खाना अच्छे से पच जायगा ,आपको ऐसे में सादा भोजन करना चाहिए जिससे आपको गैस नही बनेगी , कोई भी बाहरी चीजे जैसे फ़ास्ट फ़ूड जैसे चीजे न खाए घर का बना सादा खाना खाये इससे गैस नही होगी रात तो थोड़े से पानी में मेथी दाने भिगो कर रख दें और सुबह उस पानी को पी लें। इससे गर्भावस्था में बनने वाली गैस में आराम आ जाता हैं, ज़्यादा पानी पीए: इस अवस्था में अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। समुचित मात्रा में पानी पीने से भोजन को पचने में आसानी होगी और न तो अपच होगा और न ही गैस बनेगी फाइबर युक्त भोजन से पाचन क्रिया सही रहती है और पेट में सूजन नहीं आती है जिसके कारण गैस बनती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरी बेटी को रात में बहुत खासी आती है और उसको उलटी हो जाती है कुछ उपाय बटाइए
उत्तर: अगर आपके बच्चे को नीचे बताई गयी परेशानी में से कुछ भी तकलीफ है तो आप इन बच्चों की सर्दी खांसी ठीक करने के लिए घरेलू नुसख़ों का प्रयोग कर सकतीं हैं: हल्की सी नाक बह रही हो (पानी आ रहा हो ) हल्की लेकिन लगातार खांसी हो रही हो ; हल्का गला खराब हो; नाक बंद हो ;     1. कपूर  थोड़े से नारियल के तेल में बहुत थोड़ा सा कपूर का पाउडर लेकर गरम कर लें। इस तेल को ठंडा करके इसके चार से पाँच बूंदें अपनी हथेली पर लें और इस इससे अपने छोटे बच्चे की छाती पर मालिश जैसा कर दें। यहाँ यह बात ध्यान रखें की कपूर की मात्रा बहुत ज्यादा न हो क्यूंकी कुछ बच्चों को इससे स्किन एलर्जी हो सकती है। 2. यूकीलिप्टस तेल: यूकीलिप्टस तेल की कुछ बूंदें बच्चे को सूँघा दें । इसकी कुछ बूंदें बच्चे के बिस्तर पर छिड़कने से भी आराम आ सकता है । इससे भी बच्चों की सर्दी खांसी की तकलीफ में आराम आ जाएगा। 3. हल्दी : नवजात शिशुओं के लिए इस उपाय के रूप में सूखी हल्दी का एक छोटा टुकड़ा ले लें और इसे मोमबत्ती या फिर छोटे दिये की लौ में हल्का सा जला दें। इसके बाद बच्चे को इस जली हुई हल्दी के धुएँ को एक मिनट तक सुंघाएँ । घबराएँ नहीं, यह धुआँ एक पतले धागे की तरह होता है इसलिए बच्चे को इससे कोई खतरा नहीं होगा। याद रखें की दो वर्ष से ऊपर के बच्चों को थोड़ी सी हल्दी दूध में मिलाकर भी दी जा सकती है। बच्चों की सर्दी खांसी ठीक करने का यह एक अच्छा उपाय है। 4. सिरहाना टेढ़ा : अगर आपके नन्हें के शरीर में बलगम बन रहा है तो उसे सोने में निश्चय ही दिक्कत आ रही होगी। इसलिए इस अवस्था में उसे आराम देने के लिए उसके तकियों को थोड़ा सा टेढ़ा कर दें और बच्चे को उस टेढ़े सिरहाने पर सुलाएँ। इससे उसकी नाक में बना बलगम सरलता से नीचे आ जाएगा और बच्चा चैन की नींद ले सकेगा। 5.लहसुन: लहसुन की दो कलियाँ छील कर उन्हें 50 मीली पानी में10 मिनट के लिए छोड़ दें। इस पानी को ठंडा करके 2 घूंट अपने जिगर के टुकड़े को दें। यह पानी हर 2-3 घंटे में उसे पीने को दें तो बच्चे को सर्दी खांसी से आराम आ जाएगा। लेकिन ध्यान रखें की यह पानी 4 वर्ष से ऊपर के बच्चों को ही पीने को दें। 6.अदरक: अदरक का इस्तेमाल बंद नाक और बलगम बनने की परेशानी में बहुत काम आता है। इस उपाय के लिए अदरक के एक छोटे टुकड़े को घिस लें और इसे गरम पानी में मिलकर ठंडा होने के लिए 10 मिनट के लिए रख दें । 2वर्ष से ऊपर के बच्चों को यह पानी पीने के लिए दिया जा सकता है । इस उपाय से तुरंत ही बच्चों की सर्दी–खांसी की परेशानी ठीक हो सकती है। 7. चिकन सूप: अगर आप चाहें तो आठ माह से ऊपर के बच्चों को चिकन सूप देकर भी उनकी सर्दी–खांसी में आराम दिया जा सकता है। 8. तुलसी पत्ते: तुलसी के पत्तों में बहुत औषधीय गुण होते हैं। छोटे बच्चों को सर्दी–खांसी ठीक करने के उपाय के रूप में इन्हें पानी या दूध किसी भी प्रकार से मिलकर पिया जा सकता है। तुलसी के कुछ पत्तों को पानी में भिगो कर एक घंटे के लिए रख दें और 2 वर्ष से ऊपर के बच्चों को यह पीने के लिए दिया जा सकता है । 9. शहद: शहद भी सर्दी–खांसी ठीक करने के उपाय के रूप में अपनाया जा सकता है। एक वर्ष से ऊपर के बच्चों को आधा चम्मच शहद दूध में मिलाकर दिन में दो बार दिया जा सकता है। 10. अजवाइन: नवजात शिशु को सर्दी खांसी से बचाने के उपायकभी–कभी बहुत मुश्किल होते हैं। ऐसे में अजवाइन का उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए अजवाइन को थोड़ा सा लेकर हल्की आंच पर भून लें और इसकी एक छोटी सी पोटली बना लें। इस पोटली को अपने नवजात शिशु की नाक के पास लाएँ जिससे उसकी साँसों के साथ इसकी महक उनके नाक में जाए। 11. सलाइन की बूंदें: सलाइन का पानी बंद नाक में जादू जैसा काम करता है। इस पानी की 2-3 बूंदें नाक के दोनों ओर डाल कर बच्चे का सिर हल्के हाथ से ऐसे हिलाएँ जिससे वो पानी आसानी से नाक में अंदर चला जाए । इससे भी बच्चों को सर्दी में तुरंत आराम आ जाएगा । 12. भिंडी : भिंडी का लेस बच्चे के शरीर पर प्रोबायोटिक प्रभाव डालता है और इससे आपके बच्चे को होने वाले सर्दी–खांसी के कारण बलगम और गले की सूजन में आराम आता है। इसके लिए एक भिंडी को छोटे–छोटे टुकड़ों में काट लें और इसे गरम पानी में मिलाकर ठंडा होने के लिए10 मिनट के लिए रख दें। एक वर्ष से ऊपर के बच्चे को इसे थोड़ा –थोड़ा कर पिला दें। सर्दी–खांसी दूर करने के उपाय के रूप में यह बहुत सरल उपाय है। 13. कैमोमाइल: यह एक प्रकार की चाय है जिसे दो वर्ष से ऊपर के बच्चों को दी जा सकती है। इस चाय को बहुत सारे पानी में बिलकुल पतला करके बच्चों को दें तो इससे उनके दुखते गले को बहुत आराम मिलेगा। 14. नींबू: विटामिन सी से भरपूर होने के कारण नींबू शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाने में भी सहायक होता है। नींबू के रस में थोड़ा सा शहद और बहुत सारा पानी मिलकर अगर एक वर्ष से ऊपर के बच्चों को पिलाया जाये तो उससे छोटे बच्चों को सर्दी–खांसी में बहुत आराम आएगा। 15. दालचीनी: दालचीनी एक प्रभावशाली एंटी बैक्टीरिया, एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरिया के गुणों से भरपूर होने के कारण बहुत फायदे की चीज है। एक वर्ष से ऊपर के बच्चों को यह बहुत आराम से दी जा सकती है। एक चम्मच शहद में ¼ चम्मच दालचीनी का पाउडर मिलाकर बच्चे को हर चार घंटे के अंतराल पर दें। जैसे ही सर्दी खांसी की शुरुआत हो तो यह मिक्स्चर देने से तुरंत आराम आ जाता है।  16. सरसों का तेल : 5-10 चम्मच सरसों के तेल में पिसे हुए लहसुन और अजवाइन के बीज का तड़का दें । इसके ठंडा होने पर इसे छान कर एक बोतल में भर लें। जब भी आपको लगे कीबच्चों को सर्दी–खांसी की शुरुआत हो तो इसकी हल्के हाथ से बच्चे के माथे, गले और छाती पर मालिश करें। तकलीफ से तुरंत आराम आना शुरू हो जाएगा। 17. विक्स वेपोरब: छोटे बच्चों की खांसी ठीक करने के लिए विक्स एक बहुत अच्छा उपाय है । बच्चे के पाँव में इसकी मालिश करके उसे मोज़े पहना दें। अगर चाहें तो इसकी मालिश छाती और गले पर भी कर दें। 18. नमी: जब छोटे और नवजात बच्चों को सर्दी खांसी का असर होता है तो बच्चे हवा की शुष्कि से परेशान हो जाते हैं । ऐसे में कमरे में नमी देने का पूरा इंतजाम करके उन्हें आराम देने का प्रयास करें। 19. भाप दें : बहुत बच्चों को कभी भी भाप उस तरह नहीं दी जाती है जैसे हम वयस्क व्यक्ति को देते हैं। इसके लिए आप कमरे में के बाल्टी या बाथरूम में बाथटब गरम पानी से भर लें। ऐसे में छोटे बच्चे को अपनी बाँहों में लेकर भाप के वातावरण में खड़े हो जाएँ । इससे छाती में जमा बलगम आसानी से ढीला पड़ सकता है । नन्हें बच्चों की सर्दी–खांसी में इससे बहुत जल्दी आराम आने की संभावना होती है। 20. घी : छोटे बच्चों को सूखी खांसी होने की स्थिति में 2 बड़े चम्मच घी को गरम करके उसमें 2-3 काली मिर्च के दाने पीस कर मिला दें और बच्चे को सारा दिन थोड़ा–थोड़ा देते रहें । यह एक वर्ष से ऊपर के बच्चों को आराम से दिया जा सकता है। यदि आपके बच्चे को इनमें से कोई भी तकलीफ है तो आप फौरन डॉक्टर को दिखाएँ : नाक से हल्का हरा या पीला और गाढ़ा पानी आ रहा है तेज खांसी के साथ पिला या हरा बलगम है बहुत तेज बुखार है टॉन्सिल्स की सूजन के कारण निगलने में परेशानी सांस लेने में कठिनाई तेज सांस चल रही है आप हमें जरूर बताएं की आपके बच्चे के लिए सर्दी और खांसी दूर करने के लिए किस विधि ने काम किया ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें