1 महीने का बच्चा

Question: mera baby 25 din ka hai usko pet me baar bar mod padte hai...iske liye main kya kar sakti hu...wo is karan se thik se sota b nahi hai

1 Answers
सवाल
Answer: हाय आप उसको हीङ्ग नाभि पर लगा कर देखिए उस्से आराम मिल सकता है ... हीङ्ग को अपने मिल्क मै घोल कर भी उसे पिला सकते है ऑर हाँ आप अपने खान पान धयान रखें क्युकी आप जो khayengi वही उसे फीड मै मिलेगा .. आप हीङ्ग जीरे की रोटी khayiye
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो mam मेरा बेबी e 19 दिन का है और vahan बार बार पॉटी kar रहा है iske लिए क्या दवाई हो सकती है
उत्तर: आप परेशान ना हो बेबी को बार बार पोटी लगना नॉर्मल है। क्यूकी अभी बेबी का पाचन तंत्र बिल्कुल भी मजबूत नही होता है उसे कुछ भी पचने में अभी थोड़ी परेशानी होती है इसलिए आप जब उसे दूध पिलाती है तो बेबी पोटटय बार बार करने लगता है।आप बस अपनी बेबी को बार-बार अपना दूध पिलाएं ।उसे डीहाड्रते ना होने दें। अगर आपका बेबी 12 से ज्यादा बार पॉटी कर रहा है तो अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा 3 मंथ का है उसका पेट नहीं भरता मेरे दूध से तो मैं दिन में 2 बार काऊ का दूध पीला सकती हूँ क्या प्लीज बताओ
उत्तर: हेलो डियर आपका बेबी सिर्फ 3 महीने का है इसलिए आपको उसे कॉउ का दूध नहीं पिलाना चाहिए यदि आपको ऐसा लग रहा है कि आपके दूध से उसका पेट नहीं भरता तो आपको अपना दूध बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए उसके लिए आप मेथी की सब्जी खा सकते हैं मेथी के लड्डू खा सकते हैं मेथी के दाने का पानी पी सकते हैं केसर वाला दूध पी सकती है ड्राई फ्रूट खा सकती है हरी सब्जियां खा सकती है इससे आपका दूध बढ़ने में आसानी होगी और आप अपनी बेबी को जितना ज्यादा फीडिंग करवाएगी उतनी ही ज्यादा आपको दूध आने लगेगा लेकिन आपको बेबी को कॉउ का मिल्क बिल्कुल भी नहीं पिलाना चाहिए क्योंकि कॉउ का मिल्क बेबी को 1 साल के बाद दिया जाता है यह बेबी को जल्दी से हजम नहीं हो पाता इस को देने से बेबी को परेशानी हो सकती है इसीलिए आप बेबी को कॉउ का मिल्क ना दे अपना और बेबी का ख्याल रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mera baby 5 month 20days ka hai wo raat main thik se nahi soti baar Bar rote hue uthti hai.... Pet bhar ke dudh bhi piti hai
उत्तर: डिअर कुछ बच्चे सेट होने में काम टाइम लेते हैं तोह कुछ बच्चे ज़्यादः टाइम लेते हैं आप बेबी को जब भी सुलाओ डब्से पहले बेबी की मालिश कर दे फिर बेबी को अच्छे से फीड करवाये और जहाँ सुलाए शांति रखें जिससे बेबी को समझ मई आने लगता है की दिन और रात में क्या फर्क होता है बिलकुल शोर न करे और बेबी के पास आप रहरिन जिससे बेबी को सिक्योर फील होता है अगर आप अवेलेबल नहीं हो तोह कोई बात नहीं आप बेबी के ास पास पिलो लगा दे जिससे बेबी डरे नही और रूम में डिम लाइट हु रखें इससे बेबी की स्लीपिंग पैटर्न चेंज होने लगेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें