36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 9th month start huaa hai mere pairo me bhot swelling rahti hai kya kru mai

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Hi ma'am mera 7 month chal rha hai or mere pairo me bhot sujan hai kya kru
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी के दौरान होने वाले हाथ पैरों और चेहरे के सूजन को एडिमा कहते हैं। यह वाटर रिटेंशन के कारण और B P बढ़ने के कारण होता है जैसे-जैसे शिशु बढ़ता है तो उस का दबाव शरीर के निचले अंगों पर ज्यादा पड़ता है जिसके कारण निचले अंगों को ब्लड ले जाने वाली नसे दबती है। नसों के दबने की वजह से ही हाथ पैर चेहरे होंठ ब्रेस्ट नाक कूल्हों और आंखों के नीचे सूजन होता है। यह प्रेगनेंसी की एक आम समस्या है आपको बस थोड़ा एक्स्ट्रा केयर करने की जरूरत है जैसे कभी भी आप बैठे पर लटका कर ना बैठे। सोते समय हमेशा लेफ्ट करवट सोए इससे आपके निचले नसों पर दबाव कम पर पड़ता है। और ब्लड सरकुलेशन अच्छे से होता है। आप जितना ज्यादा पानी पिएंगे आपके लिए उतना ही अच्छा रहेगा। जब सूजन ज्यादा हो जाए तो सरसों के तेल या कोई भी तेल से पैरों की मालिश करवाएं। मालिश करवाते समय ध्यान रहे ऊपर से नीचे मसाज नहीं करना है नीचे से करते हुए ऊपर की डायरेक्शन पर लेकर जाना है। चेहरे पर ज्यादा सूजन होने से थोड़ा सरसो का तेल लगाकर गुनगुने नमक पानी से सेकाई करे । खाने में नमक की मात्रा धीरे धीरे कम करें। सुबह शाम वॉक करें। हल्के एक्सरसाइज भी करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पैरों में बहुत दर्द होता है क्या करूं मैं .
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mam mere 9th month chal rha h or mere pairo p swelling bhot jyada h kya kru
उत्तर: कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान चेहरे, हाथों या ऐडि़यों पर सूजन आ जाती है.पैरों में दर्द या सूजन हो जाना एक आम बात है इसकी वजह से ज्यादा चिंतित होने की जरुरत नहीं है| आप ये सब कर के देखें आराम मिलेगा नमक में पैर भिगोना गर्भावस्था के दौरान आराम करना बहुत महत्त्वपूर्ण हैं। अपने पैरों के बीच एक तकिया रखकर अपनी बायीं ओर पर लेटे हुए घुटनों को छाती की ओर उठाने या फैलाने की कोशिश कीजिए पानी गर्म करके किसी बोतल में भर लें| आज कल मार्किट में सिकाई करने के लिए रबर की ख़ास बोतलें आती हैं जो सिकाई करने के लिए ही बनायी गयी होती हैं, आप उस बोतल का इस्तेमाल कर सकते हैं| पानी उतना ही गर्म करें जितना आप सह सकें| अब बोतल में पानी भरकर इससे पैरों की सिकाई करें| कोई जल्दबाजी ना करें, आराम से कम से कम 20 -30 मिनट तक सिकाई करें| इससे पैरों कर दर्द और सूजन तुरंत कम होने लगेगी| एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें नीम के पत्ते डाल दें और तब तक उबालते रहें जब तक नीम के पत्ते अपना रंग ना छोड़ने लगें अर्थात पानी का रंग हरा हो जाना चाहिए| अब इस पानी से पत्तियां निकालकर इसमें थोड़ी फिटकरी मिला लें और इस पानी में कुछ देर तक अपने पैरों को डालकर रखें| नीम के अंदर बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है, और यह दर्द निवारक का कार्य भी करता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें