33 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 8th month chal rha hai or mujhe raat me latne k bad karvat nhi li jati or meri haddiyon me b bht dard hota h

1 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी के मंथ में हमारे कमर पर जोर पड़ता है जिससे कमर दर्द, पीठ दर्द, पैर दर्द, पसलियों मे दर्द की शिकायत होती है। वजन बढ़ जाने की वजह से पैरो में भी दर्द रहता है। आप करवट लेकर लेफ्ट साइड करके सोय। पैरों में दर्द के लिए आप कुछ देर आराम कीजिए अपने पैरों में सरसों के तेल से मालिश कीजिए और अपने पैरों को halka गर्म पानी में हल्का नमक डालकर थोड़ी देर duba कर रखिए इससे आपको पैरों के दर्द में आराम मिलेगा। दोनो पैरो के बीच में तकिया लेकर सोये। इससे बहुत आराम मिलेंगा। आप सरसो के तेल से हलकी हलकी मालिश भी कर सकती है। कमर के दर्द पीठ और पैरो के दर्द के लिए सरसो का तेल बहुत फायदेमंद रहता है। आप थोड़ा जयाद अराम किया कीजिए. जयाद देर खड़े होकर और जयाद झुक कर काम करना अवोइड कीजिए .. खाने पीने मे पोष्टिक अहर लीजिए अगर दर्द कमज़ोरी से हुआ तो वह खाने पीने में धयान देन से ही ठीक हो जायेगा अगर आपको ज्यादा दर्द है तो आपको डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere pait bahut bhari rehta h or योनि me dard bahut h itna dard hota h ki karvat bhi nhi li jati aisa q
उत्तर: प्रेग्नेंसी के आखिरी आखिरी मंथ में हमारी pelvic एरिया के मसल्स और बोन दोनों फैलने लगते हैं जिससे हमें बीच-बीच में पेन होता रहता है यह नॉर्मल है आप घबराइए नहीं यह प्रेगनेंसी में होता ही है इससे हमें नॉर्मल डिलीवरी के लिए हेल्प मिलती है हमारा बॉडी अपने आप को इसके लिए तैयार करता रहता है जैसे-जैसे बच्चे का साइज बढ़ता जाता है जिससे पेट में हल्का दर्द या खिंचाव महसूस होता है । लेकिन अगर ज्यादा दर्द है और लंबे समय तक है तो आप अपने डॉक्टर से जाकर तुरंत संपर्क कीजिए इसके लिए आप बीच में करवट बदलते रहिए और हल्की मसाज कीजिए आप दोनों पैरों के बीच में तकिया लेकर भी सो सकती है इससे आपको थोड़ा आराम मिलेगा। लास्ट लास्ट के month मे आप कुछ बातों का खास ध्यान रखिए। बच्चे का मूवमेंट दिन में कम से कम 15baar होना जरुरी हैं कभी कभी बच्चे सोते रहते हैं. यदि आपको मूवमेंट मेहसुस नहीं हो रही है तो आप ठंडा पानी पीजिए अपने पेट me हाथ फेरते रहिये... अगर कुछ मूव मेंट ना दिखे तो डॉ को जरूर दिखाए. लास्ट लास्ट प्रेग्नेन्सी में बच्चे का सर पेल्विक एरिया मि फिक्स होने लगता है जिससे बेबी का मुवमेंट थोड़ा कम या अलग लग सकता है. आप किसी भि प्रकार का वेजिनल लीकेज को नोटिस करते रहिए । जिससे आपको पता चलेगा अगर आपका वाटर लीक होगा तब और किसी भी प्रकार का डिस्चार्ज होगा तब आपको डॉ से संपर्क करना है।।।सफेद डिस्चार्ज नार्मल है उसमें घबराने की बात नहीं है।।। अगर किसी भी प्रकार का तेज़ पेट में दर्द होता है तो अपने डॉ से मिलिये।।यह लेबर पेन भी हो सकता है। आप अपने बेबी के लिए एक हॉस्पिटल बैग तैयार कर लीजिये जिसमे कुछ जरुरी सामान रखना होगा जेसे बच्चे के २...३ सेट धुले कपडे और धुप में अच्छे से सुखाय हुये।आपके २...३ सेट फीडिंग वाले गाउन दो तीन पैर अंडर गारमेंट... जरूरी हॉस्पिटल के डॉक्युमेंट्स... diaper... बेबी वाइप... एक टॉवल और बेबी को ढाक्ने और cuddle करने के लिए ब्लंकेत... दूध पिलाने के लिए एक स्टॉल... कोई भी एंटीसेप्टिक लिक्विड सोप और हैंड सैनिटाइजर.. पैड... एक छोटा मिरर और comb। आप अच्छा सन्तुलित खाना लीजिये।।खुश रहिये और अपने बेबी का वेट कीजिये।... प्रेगनेंसी की पूरी अवधि ४०वीक्स मानी जाती है। बहुत से बच्चे ३७वीक से ४० वीक के अंदर पैदा हो जाते है। वीक्स आपके पीरियड के पहले दिन से काउंट किय जाते है। जरूरी नहीं है कि बच्चे सिर्फ पेन से ही पैदा होते हैं कभी-कभी अवधि पूरी हो जाने के बाद बच्चों को ज्यादा देर तक पेट में रहने से नुकसान भी हो सकता है इसलिए आप डॉक्टर के निर्देशों का पालन करते रहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 8th month chal rha h. par aaj subha se mujhe pet or kamr me dard mahsus ho rha h jaise period k time pr hota h.
उत्तर: हेलो डियर पेट में दर्द होना आम बात है क्युकी हमारे सरीर के बढ़ते हार्मोस ऑर उसमें हुई बदलाव की वज्ह से यह दर्द होता है ये पेट में गर्भाशय में बेबी के ग्रोथ बद्ने के सान खिचते है जिंस वज्ह से दर्द महसुसु होता है यह दर्द कुछ ही टाइम के लिए रहता है फ़िर खुद ही ठीक हो जता है कमर मे दरद होना तो सभी गभवती स्त्रियो के लिए सामान्य सी बात है क्योकि इसी समय मे मासपेसियो मे बहोत खिचाव होता है और हमारे शरीर का हामोनस भी बदलता हैइसके राहत के लिए आप घूटनो मे तकिया लगाकर सोए व्यायाम करे।मगर ध्यान रखे कि जादा व्यायाम नही करे । कमर की हल्के हाथो से मालिस करे। एक ही स्थित मे जादा देर रहने से बचे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 8th month chal rha hai or meri yoni me both dard hota hai .... khi koi problem to nhi na ....
उत्तर: हेलो डियर Pregnancy में प्राइवेट पार्ट में दर्द होना नॉर्मल है जैसे जैसे बेबी की ग्रोव्थ बधती है तो uterus का साइज़ भी इन्क्रीज होने लगता है और पेल्विक हिस्से की मांसपेशियों पर दबाव पड़ने लगता है और प्राइवेट पार्ट में दर्द होने लगता है प्राइवेट पार्ट का दर्द दूर करने के लिए आप ज्यादा देर तक एक जगह पर खड़ी ना रहे और ना ही ज्यादा देर तक कहीं पर बैठे। आप एक करवट में भी ना सोए ।रोज सुबह थोड़ी देर के लिए टहलने जाए ।इससे आपको प्राइवेट पार्ट के दर्द में आराम मिलेगा। इससे आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नही होगी।
»सभी उत्तरों को पढ़ें