30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera 7th month chal rha h or meri dhadkan bht tej rhti h bht ghabrahat rhti h

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kabhi kabhi meri dhadkan bhut tej ho jati hai 7th month chl rha hai
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में ऐसा होना नॉर्मल बात है बेबी का आकार बढ़ने के वजह से आपका वज़न adhik हो जाता है और जब आप चलती या कोई भी काम करती है कभी कभी साँस फूलने और दिल की धड़कन बढ़ जाती है आप परेशान ना हो आप ऐसे में सीडिया ना chadhe और ना ही उतरे भारी काम ना करें ना कोई भारी सामान उठाये जब भी दिल की धड़कन बढ़ जायें तब आप सारे काम छोड़ कर आराम करे कुछ देर में ठीक हो जायेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera chalk or mitti khane ka bht dil krta h mra 7th month chal rha h
उत्तर: हेलो डियर ,,,,,aapko 30 week ki preganeci hai..प्रेगनेंसी में हार्मोन्स चेंजेज के कारण प्रेगनेंट लेडी को मिट्टी, चौक, मुल्तानी मिट्टी ,पेंसिल आदि खाने का मन होता है, लेकिन इसका मूल कारण कैल्शियम की कमी होती है जो की प्रेगनेंसी के दौरान अधिक मात्रा में बॉडी को बेबी के विकास के लिए कैल्शियम की जरूरत होती है जिसे बॉडी दूसरे माध्यम से करना चाहता है इसीलिए प्रेगनेंट लेडी को चौक,मुल्तानी मिट्टी ,पेंसिल मिट्टीआदि खाने का मन होता है लेकिन मिट्टी खाने से आपको प्रेगनेंसी में परेशानी आ सकती है इसके साथ ही साथ बेबी के ग्रोथ में भी प्रॉब्लम हो सकती है क्योंकि मिट्टी में अनेक प्रकार के रसायनिक तत्व होते हैं जो कि अधिक मात्रा में बॉडी में पहुंचने पर बॉडी इफेक्ट कर सकते हैं जिसका प्रभाव सीधे-सीधे आपके बेबी के शारीरिक व मानसिक विकास पर पड़ सकता है इसलिए बेहतर होगा कि आप मिट्टी ना खाएं ,मिट्टी ना खाने के लिए आप पहले अपने खाने में कैल्शियम युक्त आहार जैसे दूध ,दही ,पनीर केला ,dry froutsआदि ले जैसे कि शरीर में कैल्शियम आयरन की पूर्ति होने लगेगी हारमोंस बैलेंस होने लगेगा और आपका मिट्टी खाने का मन भी कम हो जाएगा आपको पेंसिल,मिट्टी खाने का मन करे तो आप आप ऑरेंज कैंडी ,इलाइची ,डार्क चॉकलेट आदि का प्रयोग करें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 7th month chal rha h heartburn
उत्तर: हेलो डियर--- अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और छाती या पेट में जलन दरद और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है। तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है।गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये।एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें