32 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mera बेबी तिरछा h isme baby ko koi dikkat to nhi hogi na

1 Answers
सवाल
Answer: ji koi dikkat nhi hogi vo dilevry tk sidha ho jayega
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera 7 month chal rha h. mera plecenta niche h. koi dikkat to nhi hogi na
उत्तर: लो प्लेसेंटा होने की स्थिति में ज्यादातर माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि बच्चा जैसे-जैसे ग्रोथ करता है, उसका दबाव प्लेसेंटा पर पड़ता है और आपको कभी भी ब्लीडिंग स्पोटिंग होने की संभावना रहती है। इसलिए हमेशा माताओं को आराम करने की सलाह दी जाती है । इस केस में माताओं को ज्यादा झुक कर और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए।लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera urine me infection h to baby ko koi dikkat nhi na hoga
उत्तर: हेलो डियर नहीं बेबी ो कुछ नहीं डियर आप नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो करें आपको यूटीआई से जल्दी ही राहत मिलेगी :- पानी और तरल पदार्थों का सेवन ज्यादा करना चाहिए। हर 1 घंटे में पेशाब लगना जरूरी है इसलिए दिनभर में लगभग 10-12 गिलास पानी पीना चाहिए। तेज आई पेशाब को रोके नहीं, जब भी पेशाब लगे, तुरंत जाएं वरना UTI होने का खतरा बढ़ जाएगा। पेशाब रोकने के कारण भी यह संक्रमण फैलता है। हमेशा कॉटन फैब्रिक के ही अंडरगारमेंट पहनें, जिससे त्वचा हमेशा सूखी बनी रहे और बैक्टीरियल फॉर्मेशन न हो। रोज नहाना और पर्सनल हाइजीन रखने से इस बीमारी से दूर रहा जा सकता है। खानपान की स्वच्छता का ध्या रखना भी जरूरी है। गंदी जगह पर बनाया गया खाना खाने से भी यह परेशानी हो सकती है। खाने का संक्रमण खून में मिल जाता है जिससे यूरिनरी कॉर्ड संक्रमण हो सकता है। UTI की समस्या सफाई न रखने के कारण ज्यादा होती है। इसलिए संक्रमण से बचने के लिए शरीर की साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए। अपना टॉइलट हमेशा साफ-सुथरा रखें। डॉक्टर के बताये अनुसार पूरी दवा लेनी चाहिए। ठीक हो गए ऐसा समझ कर दवा बीच में छोड़नी नहीं चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hallo mam mujhe 2din se khasi aa rhi h koi dikkat to nhi hogi na mera bacche ko
उत्तर: हेलो डियर आप ने बताया कि आपको 2 दिन से खांसी आ रही है तो इससे आपके बच्चे को कोई भी दिक्कत नहीं होगी फांसी के लिए आप कोई सिरप ले सकती हैं इसके अलावा आप सितोपलादि चूर्ण शहद के साथ ले सकती है इससे आपको खांसी में आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें