5 weeks pregnant mother

Question: mene 2 bar qution pucha answer nay milra

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mane 2 bar pucha utar nahi aaya
उत्तर: आपको परेशानि हुई उसके liye माफ़ कीजिए , आप एक बार अपना सवाल फिर पूछें , मै कोशिश करूँगी की आपको जल्दी जवाब दूँ|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mene शुगर के bare में pucha tha koi answer hi न aya
उत्तर: डायबिटीज किसी को भी हो सकती है, लेकिन गर्भावस्था में इसके होने की आशंका अधिक होती है। इसके कई कारण हो सकते है जैसे कि… अगर गर्भावस्था में महिला का वजन अधिक हो तो जेस्टेशनल डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। डायबिटीज गर्भावस्था के दौरान ही नहीं होती। कई बार गर्भधारण करने से पहले भी डायबिटीज हो सकती है, लेकिन जब तक आप इसकी जाँच नहीं करवाते। आपको इस बारे में पता नहीं चल सकता। गर्भावस्था के दौरान कई हार्मोन्स निकलते हैं, जो शरीर द्वारा निर्मित इंसुलिन के विपरीत काम करना शुरू कर देते हैं, जिसके कारण डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है। ब्लड शुगर का बढ़ना या इस पर नियंत्रण न होने से भी डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है। गर्भावस्‍था के दौरान शरीर में ब्‍लड़ सुगर को कंट्रोल में रखना आवश्‍यक होता है। इसके लिए आपको नियमित परीक्षण करवाकर डॉक्‍टर से सम्‍पर्क करना होगा और डॉक्‍टर के द्वारा बताएं जाने वाली सभी दवाओं और एक्‍सरसाइज व परहेज को फॉलो करना चाहिए। प्रेग्‍नेंसी के दौरान व्‍यायाम करने से लाभ मिलता है। मधुमेह से ग्रसित गर्भवती महिला को एक्‍सरसाइज जरूर करना चाहिए, इससे बॉडी, हेल्‍दी रहती है। घर के बाहर थोड़ी देर के लिए टहलें और छोटे - छोटे स्‍टेप वाली एक्‍सरसाइज करें। एक डायबटीक प्रेग्‍नेंट वूमन को अपनी लाइफस्‍टाइल को सबसे पहले सुधारना चाहिए। उसे सुबह समय से उठकर योगा और ध्‍यान लगाना चाहिए, थोड़ी देर टहलना चाहिए, प्रॉपर और हेल्‍दी ब्रेकफास्‍ट करना चाहिए। प्रेग्‍नेंसी के दौरान अच्‍छा सोचना चाहिए। इससे बच्‍चे का शरीर में विकास अच्‍छी तरह होता है और सुगर की बीमारी का बच्‍चे की परिपक्‍वता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mene bohot bar swal pucha hai uska jwab milega bhi ya nhi
उत्तर: माफ कीजिए.. ज्यादातर mom येही कोशिश करते हैं कि, आपको आपके सवालों का जवाब जल्दी से जल्दी कुछ समय में ही मिल जाए। लेकिन बहुत ज्यादा क्वेश्चन होने के कारण कभी-कभी इसमें लेट भी हो जाता है। लेकिन आप घबराइए नहीं, अगर आपको ऐसा लगता है कि, आपके क्वेश्चन का आंसर नहीं मिल रहा है तो आप दोबारा अपना क्वेश्चन पोस्ट कर दीजिए। जिससे जल्द से जल्द आपको आपका आंसर मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें