16 weeks pregnant mother

Question: mene दूसरा अल्ट्रासाउंड लिया है अब kese pta लगेगा ki वो kesa है मेरा bcha kesa है thik है या koi प्रॉब्लम तो नही hai

2 Answers
सवाल
Answer: आप आपने अल्ट्रा साउंड की फोटो सेंड कराये
Answer: Altrasaund की फोटो kese करु send
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरा दूसरा महीना चल रहा है . ओर मुझ baki ladies ki tarah उल्टी या जी मचलाने जैसी कोई प्रॉब्लम नही होटी .. तो इसमें कोई प्रॉब्लम नही है ना
उत्तर: हैलो डियर-जरूरी नहीं कि गर्भावस्था के लक्षण सभी गर्भवती स्त्रियों में हो जैसे सभी गर्भवती यों की शारीरिक संरचना अलग होती है वैसे ही सबको प्रेगनेंसी के लक्षण भी अलग-अलग होते हैं इसमें परेशान होने वाली बात नहीं की आप को गर्भावस्था के लक्षण नहीं दिख रहे हैं ।गर्भावस्था की कई लक्षण है जिससे गर्भवती हैं परेशान रहती हैं आप बहुत भाग्यशाली हैं जिन्हें इन सब लक्षणों से नहीं गुजरना पड़ रहा है।पहली गर्भावस्था मेंबच्चे की हलचल 5 से 6 महीने के बीच महसुस होता है। यह अनुभव बिल्कुल नया होगा । जो महिलाएं पहली बार गर्भ धारण करती हैं उन्हें शांत बैठने और लेटने पर बच्चे की हलचल फिल होती हैं।बच्चे की पहली हलचल पॉपकॉर्न के फूटने मछली के तैरने और तितली फड़फड़ाने जैसे महसुस होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा टॉर्च पॉजिटिव है और प्रेग्नेन्सी का दूसरा महीना है कोई प्रॉब्लम तो नही होगी
उत्तर: टोर्च टेस्ट तब कराया जाता है जब कई प्रकार के इन्फेक्शन एक sath हो जाते है । टोर्च इन्फेक्शन 4 प्रकार के संक्रमण का समूह होता है। टोक्सोप्लाज्मोसिस   रूबैला      सायटोमेगालोसिस   हरपीज torch infection Ke Karan garbhavastha me bacche ka Vikas thik se nahi hota है । isliye torch test karate hai jisse sahi samasya pata chal sake aur thik treatment se bachhe ka sahi vikas ho sake. आप परेशान ना हो डॉक्टर से रेग्युलर परामर्श लेते रहें और उनके instructions को फॉलो करे जीस्से आपके बच्चे को प्रॉब्लम नही होगी ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा वेट 44 के.जी. है ऑर अभी हम 8 वीक प्रेग्नेन्ट है हमको कोई प्रॉब्लम तो नही होगी या बच्चे को वो वीक तो नही होगा
उत्तर: आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है आपको कोई प्रॉब्लम नहीं होगी लेकिन आपको अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना होगा अधिक से अधिक आयरन और कैल्शियम युक्त भोज्य पदार्थों का सेवन करें जिससे आपका हीमोग्लोबिन सही बना रहे और बच्चे को किस प्रकार से पोषण मिलता रहें । वजन बढ़ाने के लिए दूध और दूध के उत्पादन का सेवन दिन में कम से कम २ या ३ बार करें। अपने आहार में हरी सब्जियां और ताज़े फलों का सेवन भी बढ़ा दीजिए। खानपान में करबोहाइड्रेट और फैट की ज्‍यादा मात्रा बिलकुल न बढ़ायें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें