गर्भावस्था की तैयारी

Question: mem thyroid ki problem hone se pragnancy consive karna possible nahi hota hai kya ??

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mem kya 36 week mein delivery possible hai.. koyi problem ton nahi hogi.. plz reply g
उत्तर: हेलो डियर जनवरी 36 वीक्स के बाद की डिलीवरी फुल टर्म मानी जाती है इसलिए कोई डरने वाली बात नहीं है , वैसे बच्चा जितने ज्यादा दिन पेट के अंदर रहता है उतना ही हल्दी होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mem muje pcod hai to me aek sal se baby consive ki davay le rahi hui phir bhi consive nahi kar pa rahi hui ab muje kya karna chahiye ?
उत्तर: हेलो डियर पैदल घूमना, जॉगिंग, योग, ज़ुम्बा डांस, एरोबिक्स,साइक्लिंग, स्विमिंग किसी भी तरह का शारीरिक व्यायाम रोज़ करें। व्यायाम के साथ आप मैडिटेशन भी कर सकती ही जिससे तनाव काम होगा। जंक फ़ूड,अधिक मीठा,फैट युक्त भोजन,अत्यधिक तैलीय पदार्थ,सॉफ्ट ड्रिंक्स, का सेवन बंद कर अच्छा पौष्टिक आहार लेना ज़रूरी है। अपनी डाइट में फल,हरी सब्जियां,विटामिन बी युक्त आहार,खाने में ओमेगा 3 फेटी एसिड्स से भरपूर चीज़ें शामिल करें जैसे अलसी, फिश, अखरोट आदि। आप अपनी डाइट में नट्स, बीज, दही, ताज़े फल व सब्जियां ज़रूर शामिल करें। दिन भर भरपूर पानी पीएं। मीठा खाने से परहेज करें क्योंकि डाइबिटीज़ होना इस बीमारी कारण हो सकता है। किसी भी तरह का मोटापा पैदा करने वाला पदार्थ जैसे, सफेद आटा, पास्ता, डब्बाबंद आदि न खाएं। सही आहार, नियमित व्यायाम और लाइफस्टइल में सुधार कर के इस समस्या को रोका जा सकता है।बाकी एक आम तरीका अपनाया जाता है वह है, ओव्यलैशन करानेवाली दवाइयां या इंजेक्शन्स का इस्तेमाल। सही डायट, एक्सरसाइज़ और वज़न नियंत्रित करने के साथ-साथ इन दवाइयों को लेने ले प्रेगनेंट होने में मदद हो सकती है। इन दवाइयों में ऐसे हार्मोन्स होते हैं जो अंडाशय या ओवरी को एक से अधिक अंड़े निकालने के लिए उत्तेजित करने का काम करते हैं। इसलिए अगर आप इन दवाइयों की मदद से नियमित रुप से आव्युलेट कर रही हैं या आपके अंडाशय से नियमित रुप से एग रिलीज़ हो रहे हैं। तो आप प्रेगनेंट हो सकती हैं। बेहतर यही होगा कि आप किसी अच्छे गाइनकलॉजिस्ट से अपनी स्थिति के बारे में बात करें। ताकि पता लगाया जा सके कि पीसीओएस के साथ आपके गर्भधारण की सम्भावना कितनी है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: aaplog bta q nahi rahe ki uterus bada hone se kya hota hai
उत्तर: हेलो कभी-कभी यूट्रस में फाइब्रॉयड की समस्या होने से यूट्रस का साइज बढ़ जाता है। इस समस्या के लिए डॉक्टर से सलाह लेना ज्यादा उचित होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें