21 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hlo mem mera 5th month complit hone wala h lekin kuch sino se kafi vomitibf ho rhi h aisa kyu ho rHa h weekness b jyada kg rhi h thakan b lg rhi h ausa kuch dino ae kyu ho rha g?

1 Answers
सवाल
Answer: आप अपना बी.पी. ओर हेमोग्लोबिन के स्तर को चेक करवाये डॉक्टर के सलाह से
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hlo mem poti black kyu aa rhi h 5th Month khatm hone wala h vagina problm b thik ho gai fr y kyu ho rha h plz kuch batay
उत्तर: हेलो डियर, प्रेगनेंसी के दौरान डॉक्टर कई सारी मेडिसिंस प्रेग्नेंट महिला को खाने के लिए बोलते हैं जिसमें से आयरन कैल्शियम और फोलिक एसिड मस्ट होती है अगर आप आयरन की टेबलेट खाती है तो उसकी वजह से भी पार्टी का कलर ब्लैक होता है क्योंकि आईरन टैबलेट्स का आयरन बॉडी में पूरी तरह absorb नहीं हो पाता jo पोटी के through बाहर निकल जाता है इस केस में स्टूल ब्लैक आना नॉर्मल है l कभी-कभी आयरन युक्त सब्जी जैसे पालक खाने के बाद भी स्टोन ब्लैक आता हैl जब आप आयरन की टेबलेट नहीं ले रही है उसके बाद अगर आपका स्कूल ब्लैक है तो फिर टेंशन लेने वाली बात है उस केस में आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए l
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera five मंथ complete hone wala है lekin kuch feel nhi ho rha है kyu
उत्तर: hello dear ,गर्भावस्था के शुरूवात के महीनों मे शिशु की हलचल का गर्भवती को अहसास नहीं हो पाता। ज़्यादातर महिला को गर्भावस्था के 20वें सप्ताह के आसपास शिशु का हिलना-डुलना महसूस होता है। इसके अलावा, 24वें सप्ताह के बाद लगातार बच्चे पेट मे लात मारता है. ये गर्भवती महिला महसूस कर सकती है । इससे पहले शिशु काफी छोटा होता है, इसलिए उसकी हालकिसी हालचल को पहचान पाना मुश्किल होता है। ऐसे में इस बेबी के हालचल को गर्भवती महिला कभी-कभी गैस की समस्या समझ बैठती हैं। कई बार आपको पेट में स्पंदन-सा महसूस हो सकता है, जो शिशु की हलचल हो सकती है। ज़्यादातर शिशु की लात का अहसास दूसरी और तीसरी तिमाही में होता है। ख्याल रखें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 7 month start hone wala hai lekin mera sirf pet bada ho rha hai main khud moti nhi ho rhi aisa kyu ?
उत्तर: हेलो m एक हेल्थी प्रेगनेंसी के लिए आप यह सारी चीजें ले सकती हैं दूध और दूध के सारे प्रोडक्ट इसमें प्रोटीन कैल्शियम विटामिन B12 होता है दाल चावल रोटी खाने से शरीर को कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन मिलता है। फल सलाद और सब्जियां खाएं इससे शरीर में फाइबर और विटामिन की कमी पूरी होती है केला और अनार खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन और ब्लड बढ़ता है। प्रेगनेंसी के दौरान 1 दिन में कम से कम 5 प्रकार के मौसमी फल खाने चाहिए। ध्यान रखें पपीता और अनानास ना खाएं प्रेगनेंसी में मछली खाना बहुत फायदेमंद होता है इससे शरीर को ओमेगा-3 प्रोटीन और फैट मिलता है जो बच्चे के विकास के लिए जरूरी होता है। नारियल पानी पिए यह एसिडिटी को कंट्रोल करके शरीर में पानी और मिनरल्स की कमी को पूरी करता है प्रेगनेंसी के दौरान फैट लेना भी जरूरी होता है। वेट के लिए आप बटर और घी खा सकती हैं घी खाने से नॉर्मल डिलीवरी के चांसेस बढ़ जाते हैं। यह सारी चीजें खाएं आपको फायदा जरूर मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें