20 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: pedu me kuch halka sa bas masus hota h

2 Answers
सवाल
Answer: Hello...शिशु की पहली हरकत aaप को 16से 22 वीक में अनुभव होगी..halaki भ्रूण का गर्भ में हिलना डुलना 7 से 8 वीक क अन्दर ही चलु हो जाता है..पर उसका मूवमेंट इतना कम होता है की कुछ पता ही नहीं चलta..जो मायें पहली बार गर्भ धारण करती हो उन्हें शांत बैठने पर या लेटने पर इसका एहसास होता है.. dekha गया है की जो maaye दुबली पतली होती है..उनहे बच्चे की मूवमेंट का पता जल्दी लगता है...ok
Answer: पहली गर्भावस्था मेंबच्चे की हलचल 5 से 6 महीने के बीच महसुस होता है।जो महिलाएं पहली बार गर्भ धारण करती हैं उन्हें शांत बैठने और लेटने पर बच्चे की हलचल फिल होती हैं बच्चे की पहली हलचल पॉपकॉर्न के फूटने गैस के बुलबुले मछली के तैरने और तितली फड़फड़ाने जैसे महसुस होता है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Pedu me halka dard hota hai din me kabhi kabhi
उत्तर: हेल्लो डीयर अगर प्रेगनेंसी के दौरान आपके pedu में दर्द हो रहा है तो ये नॉर्मल है। जैसे-जैसे प्रेगनेंसी के दौरान आपका वेट बढ़ता है वैसे-वैसे आपके पेट के निचले हिस्से की मांसपेशियों में खिंचाव पैदा होने लगता है जिसकी वजह से आपके pedu में दर्द होने लगता है जो नॉर्मल होता है पेडू के दर्द को को करने के लिए आप निम्न उपाय कर सकती ह आप लगातार एक ही स्थिति में खड़ी ना रहे ,ना ज्यादा देर तक कहीं पर बैठे ।संतुलित और पौष्टिक भोजन ही करें । ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए । ज्यादा हील वाली च्प्पल ना पहने। तनाव मुक्त रहें । जमीन पर पैरों को मोड़ कर ना बैठे । एक ही स्थिति में ज्यादा देर तक ना सोए। और अगर आपको ज्यादा पेट दर्द हो रहा है तो आप तुरंत ही अपने डॉक्टर से मिलें ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरे पेड़ू में हल्का सा सूजन है तो नॉर्मल होता है क्या
उत्तर: डिअर प्रेग्नैन्सी मे हमारा वेट बढ़ता है जीस्से बॉडी मे ब्लड फ्लो भि बेड जाता है जिस वजह से बॉडी स्वेलिंग आती है ये नोर्मल है घबराये नही थोड़ा पानी गरम करे उसमें सेदह नमक डाले और पैरो को डुबो कर बैठे इस्से स्वेलिंग कम होगी कोशिश करे ज़्यादा देर खड़ी ना रहें पैरों को लत्ककर ना बैठे
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: नीचे पेड़ू एम आके खिचाव सा महसूस होता ह
उत्तर: हेलो प्रेग्नेंसी के आखरी वीक्स में ऐसा होना नॉर्मल ही..क्योंकि बेबी का वेट और हाइट ज्यादा हो गया होता ही इज वक़्त..इसकी वजह से खिंचाव महसूस होता ही..आप रेस्ट कीजिए, कंटिन्यू वर्क ना करे..इवनिंग वॉक करिये रोज..
»सभी उत्तरों को पढ़ें