गर्भावस्था की तैयारी

Question: mam pregnancy me bleedig q hoti h iske reson batao or ye kaisi honi chaiye mam mere thake jaise nikl rhe h

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere ब्रेस्ट hard hote ja rhe h or pain bhi h usme to ye kaisi pblm h ?
उत्तर: प्रेगनेंसी में कभी कभी पेट में और आपकी छाती में या स्तन में दर्द होना आम बात है| प्रेग्नेंसी के दौरान आपका गर्भाशय बड़ा हो रहा है जिसकी वजह से डायाफ्राम पर भी प्रेशर आता है| डायाफ्राम पेट और छाती को अलग करने वाली एक पतली सी झिल्ली है| तो इस वजह से आपको ब्रेस्ट में थोड़ा पेन हो सकता है| प्रेग्नेंसी के दरमियान ब्रेस्ट का कद भी थोड़ा बढ़ता है और इस प्रक्रिया के दरमियान भी थोड़ा दर्द होता है| प्रेगनेंसी में पेट और छाती या ब्रेस्ट में दर्द का दूसरा कारण इनडाइजेशन या गैस की समस्या हो सकता है| प्रेगनेंसी में कई चीजों खाने से इनडाइजेशन हो सकता है और जिससे गैस की समस्या से कारण पेट या तो फिर छाती में दर्द या जलन होता है| ऐसा ना हो इसके लिए आप खाने में ध्यान रखें| ज्यादा ऑइली and स्पाइसी फूड ना खाएं| और जब भी खाना खाए थोड़ा-थोड़ा करके ज्यादा बार खाए एक बार बहुत सारा खाना ना खाए|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैम मेरे गले में जलन होती ः क्यों
उत्तर: हेलो डियर आपके गले में जलन ऍसिडिटी की वजह से हो सकती है । एसिडिटी एक आम समस्या है जो प्रेगनेंसी के दौरान अधिकतर महिलाओं को हो जाती है।इससे बचने के लिये आप सन्तुलीत और पौस्तिक भोजन कीजिये।तैलीय और वसा युक्त भोजंन का सेवन मत किजिये।ज्यदा से ज्यादा मात्रा मे पानी पीजिये।चिन्ता मुक्त रहिए ।एसी कोई भी चीज़ मत पिजिये या खाइये जिससे आपको ऍसिडिटी की समस्या हो ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: rat ko mere pero me bhot tezz bainte aate h ye q aare h or ye naa aaye iske liye m kyaa kru
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में पैरों तक पर्याप्त रक्त संचार न हो पाने के कारण उसमें ऑक्सीजन की कमी से पैर दर्द होने लगता है। यह घुटनों, और पैरों की उँगलियों में भी होता है। कभी कभी पैर सुन्न पड़ सकता है।बदलते हॉर्मोन्स लेवल से पैरों में दर्द होता है। जैसे गर्भाशय का आकार बढ़ता है उस प्रकार बदन की निचली मांसपेशियां ढीली पड़ने लगती हैं। इस कारण महिलाओं में पैर दर्द होता है। बढ़ते वज़न के कारण उसकी पैरों की हड्डी पर प्रभाव पड़ता है जिससे मांसपेशियों और पैरों में दर्द होता है। पैरों के दर्द से बचने के लिए पैर की उँगलियों को हलके हाथ से दबाएं। साथ ही गुनगुने तेल से मालिश करें! यह धीरे धीरे बेहतर परिणाम देगा। गर्भावस्था में ऊँची हील की सैंडल न पहनें। आरामदायम फ्लैट्स और ढीली चप्पलें पहनें। इनसे भी आपके पैरों और एड़ियों को आराम मिलेगा।bainte से जहां तक में समझ पा रही हूं पर पैरों में दर्द होता है इसकी बात कर रहे हैं यदि कुछ और प्रसन्न है तो प्रश्न को दोबारा से और सही से लिखें ताकि हम सभी आपकी सहायता कर सकें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मैम मुझे कब्जी की शिकायत बहुत रहती ह और वोमेटिंग भी होती ह इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी के दौरान कब्ज़ होना नॉर्मल प्रॉब्लम है आप परेशान मत होइये ।कबज को दूर करने के लिए निम्न उपाय अपना सकती है 1. जब आप सुबह उठे नींबू के साथ एक गिलास गर्म पिएँ। 2. अनाज और ब्रेड, ब्राउन चावल, और सेम के साथ-साथ ताजा फल और सब्जियां जैसे उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ खाएं। 3. लंबी सैर के लिए जाएं । 4. रात मे एक गिलास गर्म पानी या हर्बल चाय लें। 5: पृनेस रोज खाएं इससे पेट साफ होता है। 6: कैफीनयुक्त पेय से बचें। 7. जब भी आपको लगे की फ्रेश होने जाना चाहिए जरुर जाए मल को रोके नही। 8: मल वाली जगह पर नारियल तेल लगाए। 9. 8 10 गिलास पानी पियें रोज। 10. फाइबर युक्त आहार जैसे जई, अनार के बीज आदि लें। 11. रोज वॉक करे । 12. दवा के लिए आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श लें। प्रेग्नन्सी के दौरान उल्टी होना नॉरमल है ऐसा बॉडी मे होने वाले हर्मोनल परिवर्तन की वजह से होता है।उल्टी को दूर करने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती है- अदरक का रस चाटने से उल्टी मे आराम मिलता है इसके अलावा आपको जब भी उल्टी मह्सूस हो तो कुर्री पत्ता सूंघ सकती है।आप हरा धनिया पीस्कर उसका सेवन करिए इससे भी उल्टी आनी बन्द हो जाती है।आप निम्बू मे काली मिर्च काला नमक मिकस करके उसे चातिये इससे भी आपकौ आरांम मिलेगा।
»सभी उत्तरों को पढ़ें