21 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mujhe sine mai bhut jalan hoti h kuch bhi khaya nhi jata ab aap btaiye m kya kru jisse m kuch kha bhi saku or bhuk bhi lge

1 Answers
सवाल
Answer: यह काफी आम है और कोई नुकसान नहीं पहुंचाती,एसिडिटी की वजह से हार्टबर्न भी हो सकता है आप शायद एसिडिटी और जलन से पूरी तरह छुटकारा न पा सकें, मगर आप कुछ उपाय आजमाकर इसे कम करने का प्रयास अवश्य कर सकती हैं, जैसे कि तैलीय या मसालेदार भोजन, चॉकलेट, खट्टे फल, शराब और कॉफी, ये सभी खाद्य पदार्थ एसिडिटी को बढ़ाने के लिए जाने जाते हैं। अगर, आपको असहजता महसूस हो, तो कुछ समय के लिए इन पदार्थों से परहेज रखें सोडायुक्त पेयों की बजाय पानी पीएं, रेडीमेड भोजन और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें, जैसे कि टॉमेटो कैचअप, अचार और चटनी आदि। इनमें बहुत ज्यादा मात्रा में नमक, प्रिजर्वेटिव्स और एडिटिव्स होते हैं। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही का सेवन एसिडिटी और हार्टबर्न का सदियों पुराना इलाज माना जाता है। एक कप अदरक की चाय भी आपको राहत पहुंचा सकती है। केला खाने से भी इसमें फायदा होता है। थोड़ी मात्रा में, लेकिन बार-बार भोजन खाती रहें। भोजन को अच्छी तरह चबाकर खाएं। एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच लंबा अंतराल होने से भी एसिडिटी बनने लगती है। भोजन के दौरान बहुत ज्यादा मात्रा में तरल पदार्थ न पीएं। गर्भावस्था के दौरान रोजाना आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी है, मगर ये एक भोजन से दूसरे भोजन के बीच की अवधि में ही पीएं। कोशिश करें कि रात को आप सोने से करीब तीन घंटे पहले अपना भोजन कर लें। कई बार लेटने से भी छाती में जलन होने लगती है, क्योंकि गुरुत्व बल के कारण पेट से अम्ल बाहर निकलने लगते हैं। रात को देर से भोजन करने पर, कोशिश करें कि खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें तकिये लगाकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें.
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mujhe sine me jalan hoti h aur isi wajah se kuch kha pi nhi pati hu kya kru ki ye sine aur gale ka jalan thik ho jay
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में सीने में जलन होना आम बात है क्योंकि गैस की प्रॉब्लम की वजह से ही सीने में जलनहोती हैइसलिए आपको पूरी तरह से संतुलित आहार लेना चाहिए था किसी भी तरह से तेल मसाले और ज्यादा ऑइली चीजें नहीं खानी चाहिए चाय कॉफी cool drink soda इन सब चीजों का प्रयोग बहुत कम करें या फिर हो सके तो इन चीजों से परहेज करें खाना खाने के बाद तुरंत आराम ना करें कुछ देर तक walk करें और एक ही बार में बहुत सारा खाना ना खाए थोड़ा थोड़ा करके दिनभर खाएं इससे आपका खाना आसानी से बचेगा और आपको गैस की प्रॉब्लम भी नहीं होगी जिससे आपको सीने में जलन की परनारियल पानी पीने ताजे फलों का जूस pie इस तरह से आपको तकलीफ भी कम होगी और आपको नींद आने में भी आसानी होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: madam mere sine m jalan bhut hoti h kya kru
उत्तर: अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी औरपेट फुलने , छाती या पेट में जलन दरद और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है।तैलीय या मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते हैं। तो कुछ समय के लिए इन से परहेज करें एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन का इलाज होता है गर्भावस्था के दौरान आठ से 12 गिलास पानी पीना जरुरी होता है,हो सके तो रात को सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा ले। रात को खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही लेटें। तकिये लेकर सोएं, ताकि आपके कंधे आपके पेट से ऊंचे रहें।जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें। हेलो डियर-अक्सर महिलाओं को पहली बार गर्भावस्था के दौरान एसिडिटी और छाती या पेट में जलन दरद और गैस होती है।गर्भावस्था के दौरान सीने में जलन और दरद एसिडिटी शरीर में हॉरमोनल बदलावों के कारण होती है। तैलीय या चटपटा मसालेदार खाना चॉकलेट, खट्टे फल, चाय और कॉफी, एसिडिटी को बढ़ाते है। एक गिलास ठंडा दूध या एक कटोरी दही लेने से एसिडिटी और जलन में आराम मिलता है।गर्भावस्था मे 12 गिलास पानी पीना चाहीये।एसीडिटि से बचने के लिये सोने से करीब तीन घंटे पहले खाना खा लेना चाहिए जीर्ण भोजन न करें जल्दी पचने वाले हल्के और सुपाच्य भोजन और फल फुल जूस हरी सब्जियां आदि लें।खाना खाने के कम से कम एक घंटे बाद ही सोना चाहिए जादा परेशानि होने पर डाक्टर से सलाह लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe bhot vomiting hoti h kuch bhi nhi kha pati kya kru ki kuch kha saku
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में हार्मोन के बदलने की वजह से उल्टी होना बहुत ही नॉर्मल बात है और यह प्रेगनेंसी में किसी भी महीने तक हो सकता है कभी-कभी यह 3 महीने तक ही होकर बंद हो जाता है मगर कभी-कभी पूरे 9 महीने तक उल्टी हो सकता है और इससे आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नहीं होगी मगर इसके लिए आपको अपने खान-पान में खास ध्यान देना चाहिए ताकि आपको किसी तरह की कमजोरी ना हो सकेताकि आपका बेबी पूरी तरह स्वथ रह सके इसके लिए आप पूरी तरह से संतुलित आहार ले तथा उल्टी होने की स्थित मे कोशिश करे कि जादा तला भुनाना खाए जितना हो सके हल्का भोजन करे एक ही बार मे पेट भरकर ना खाऐ दिन भर मे थोढा थोढा करके खाऐ इससे आपका पेट जादा नही भरेगऔर खाना को पचने मे आसानी होगी और आप जादा उल्टी होने से बच पाये।तथा तरल वस्तुओ का इस्तमाल जादा से जादा करे ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें