19 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mujhe gas ki problem bht jyada rhti h . pet drd bhi hota h kbhi bht tej .. kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: हैलो डियर गर्भावस्था में अक्सर गैस बनने की परेशानी होती है जिससे आप घरेलू उपायों द्वारा उपचार कर सकती हैं। 1) अपने मेथी के दानों को भीगा कर सुबह उसका पानी पी लें इससे आपको गैस से राहत मिलेगी 2) गर्भावस्था में अधिक से अधिक पानी पीना गैस की समस्या का निवारण है 3) फाइबर युक्त भोजन और फलों का सेवन करना चाहिए । 4) एक लीटर पानी में एक चुटकी अजवाइन डालकर उबाल लें और इसे पूरे दिन थोड़ी थोड़ी मात्रा में पिए इससे आपको गैस से राहत मिलेगी । हेलो डियर-गर्भावस्था में अक्सर पेट दर्द की समस्या हो जाती है यह सामान्य है पेट दर्द की समस्या बेबी बंप के बढ़ने और पेट की मांसपेशियों में पड़ने वाले दबाव और गैस के कारण हो सकता है इससे बचाव के लिए अधिक से अधिक मात्रा में पानी पियें ज्यादा देर तक खड़े ना रहे आराम करें ज्यादा चले फिर और थके नहीं अगर पेट दर्द हल्का है तो आप गुनगुने पानी से नहा कर भी दर्द से राहत पा सकते हैं और अगर आपका पेट दर्द बढ़ता ही जा रहा है और किसी प्रकार का स्त्राव हो रहा हो तो आपको देरी नहीं करना चाहिए और डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए अगर आपको पेट दर्द से राहत नहीं हो रहा है तो बिना डॉक्टरी सलाह के कोई भी मेडिसिन ना ले।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: back pain bht jyada bdh rha h kya kru mam kbhi kbhi tolerate ni hota
उत्तर: गर्भावस्था में कमर दर्द होना एक आम बात है ...करीब आधे से ज्यादा महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान किसी न किसी समय कमर और पीठ दर्द की शिकायत होती है ....आपका वजन सामान्य से अधिक है या फिर कभी-कभी गलत तरीके से उठने बैठने से भी पीठ और कमर में प्रॉब्लम हो जाती है..पीठ और कमर दर्द कम करने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं जैसे ...kamar और पीठ के व्यायाम कर सकती हैं आप सरसों के तेल की मालिश भी करवा सकते हैं, मालिश करने से मांसपेशियों का आराम मिलता है ...सही मुद्रा में बैठने की आदत डालनी चाहिए इससे भी कमर और पीठ दर्द में आराम मिल सकता है, गर्म स्नान दर्द कम करने में मदद कर सकते हैं उचित जूते या सैंडल पहने कम ऊंचे और आरामदायक जूते पहने फिर भी आप अपने डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera 7th mnth chlra h mujhe bht weekns lagti h pet m bhi kbhi kbhi pain hota h ghabraht hone lagti h . m kya kru
उत्तर: वीकनेस आने पर आप घी में 50 ग्राम मुनक्का हल्की आंच पर सेक कर सेंधा नमक मिलाकर दिन में तीन बार खाएं एक कप गर्म पानी में दो चम्मच नींबू का रस मिलाकर पिए शक्कर और सूखा धनिया दो-दो चम्मच मिलाकर ले ज्यादा स्ट्रेस ना ले हेल्दी डाइट ले बहुत देर तक काम ना करें बीच-बीच में आराम करती रहे नाश्ते में जूस जरूर लें इससे आपको एनर्जी फील होगी प्रेगनेंसी में शरीर में हार्मोन चेंजेज होते हैंजिसके कारण थका थका महसूस करना सांस फूलना घबराहट Bechaini जैसा लगना यह सारी आम बातें हैं इसके लिए आपको बहुत ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है कभी भी आप बहुत ज्यादा एक साथ काम ना करें जब भी लगे कि आपको घबराहट महसूस हो रही है आप थोड़ी देर लेट जाएं अपना मनपसंद कुछ गाना सुने रोज हल्का एक्सरसाइज करें मेडिटेशन करें जिससे आपको फ्रेश फील होगा ढीले ढाले कपड़े पहने नींद पूरी लें किसी भी बात का स्ट्रेस बिल्कुल भी ना ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere ko gas ki problem bhot hoti hai or uski vjah se pet drd bhi hota hai mai kya kru
उत्तर: गर्भावस्था में पेट की गैस को दूर करने के घरेलू उपाय इस प्रकार से हो सकते हैं: 1.मेथी के दाने:  सामान्य रूप से मेथी के दाने पेट की हर समस्या, विशेषकर गैस बनने के समस्या को बहुत आसानी से दूर करते हैं। यही नियम गर्भवती स्त्री के साथ भी लागू होता है। गर्भावस्था में जब ज्यादा गैस बनने लगती है तो मेथी दानों का प्रयोग अच्छा रहता है। रात तो थोड़े से पानी में मेथी दाने भिगो कर रख दें और सुबह उस पानी को पी लें। इससे गर्भावस्था में बनने वाली गैस में आराम आ जाता है। 2.तनाव दूर रखें:    तनाव किसी भी सामान्य अवस्था में व्यक्ति की दिनचर्या और खान-पान को प्रभावित करता है। इसी प्रकार गर्भावस्था में भी तनाव स्त्री के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा आसार डालता है। तनाव में रहने के कारण खाने पीने के तरीके और समय में परिवर्तन हो सकता है और परिणामस्वरूप गैस बनने लगती है। इसलिए बहुत जरूरी है की गर्भावस्था में गैस के उपाय के रूप में तनाव से दूर रहें। 3.ज़्यादा पानी पीए: ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन हर व्यक्ति के स्वास्थ्य को ठीक रखता है। गर्भावस्था में भी स्त्री को पानी केई कमी की समस्या हो सकती है इसलिए इस अवस्था में अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। समुचित मात्रा में पानी पीने से भोजन को पचने में आसानी होगी और न तो अपच होगा और न ही गैस बनेगी। 4.फाइबर युक्त आहार:  फाइबर युक्त भोजन से पाचन क्रिया सही रहती है और पेट में सूजन नहीं आती है जिसके कारण गैस बनती है। गर्भवती स्त्री को अपने भोजन में फाइबर युक्त भोजन को अधिक से अधिक खाना चाहिए। इसके लिए फलों का सेवन ज्यादा मात्रा में किया जा सकता है। गर्भावस्था में फाइबर युक्त भोजन गैस को बनने से रोक देता है। 5.व्यायाम: गर्भावस्था में नियमित व्यायाम स्त्री और गर्भ के शिशु के लिए बहुत लाभदायक रहता है। इससे शरीर की मांसपेशियों में नरमाहट बनी रहती है और पाचन क्रिया भी ठीक से होती है। नियमित व्यायाम से डाइजेशन ठीक रहता है और गैस नहीं बनती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam मुझे ges ki problem rhti h or pet me drd hota h kya kru mera 4 month chal rha h
उत्तर: गर्भावस्‍था के दिनों में पेट में अपच और गैस की समस्‍या आम है। गर्भावस्‍था के प्रारम्भिक दिनों में यह काफी ज्‍यादा होती है, ऐसे में महिला को काफी समस्‍या होती है और उसे सारा दिन अजीब सा महसूस होता रहता हैमेंथी के दाने- पेट सम्‍बंधी हर प्रकार की समस्‍या के लिएमेंथी के दाने काफी लाभकारी होते हैं। रात में मेंथी के दानों को भिगोकर रख दें और सुबह उस पानी को पी लें। इससे काफी लाभ मिलेगा। तनाव दूर रखें- गर्भावस्‍था के दौरान तनाव न लें। इससे स्‍त्री को काफी समस्‍या हो सकती है। टेंशन से पेट में दर्द या ऐंठन हो न हो लेकिन सूजन आ ही जाती है क्‍योंकि आप खाने-पीने पर सही ध्‍यान नहीं दे पाते हैं। 3. ज्‍यादा पानी पीना- गर्भावस्‍था के दिनों में डिहाईड्रेशन की समस्‍या काफी ज्‍यादा होती है और इस कारण पेट में ब्‍लोटिंग हो सकती है। इसलिए, गर्भवती होने पर पानी को ज्‍यादा पिएं ताकि शरीर में डिहाईड्रेशन न होने पाएं। 4. फाइबरयुक्‍त आहार- फाइबर युक्‍त आहार का सेवन करने से पेट सही रहता है, पाचनक्रिया ठीक बनी रहती है और पेट में सूजन भी नहीं आती है। फलों का सेवन खूब करें, इनमें बहुत सारा फाइबर होता है। 5. व्‍यायाम- व्‍यायाम करने से ब्‍लोटिंग नहीं होती है। टहलें और हल्‍के योगासन करें। इससे गर्भवती महिला को फिट महसूस होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें