22 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mujhe aaj nabi k left side m chubhn jesa fell ho rha h . esa kyu hota kbhi left kbhi right dard hota h nabi k pas

2 Answers
सवाल
Answer: गर्भवस्था के दौरान पेट का वज़न धीरें धीरें जब बढ़ता है toकमर or पेट के निचले भाग पर ज़ोर जयदा पड़ता है इसलिए तकलीफ़ होती है . आप अपने दर्द को कम करने के लिये अपने pet पर नारियल के तेल से हलकें हाथों से मालिश कर सकती है .. और सोते समय कमर के पीछे ऑर aapne पैरों के नीचे पिलो लगायें .. आराम मिलेगा . मालिश को आप दिन मे 4 से 5 बार दोहरा सकती है .. ऑर tavel को ठण्डे pani mei गीला कर के पेट के ऊपर रख सकती है . आप को ज़रूर दर्द कम लगेगा . और तकलीफ़ जायदा लगें to अपने डॉक्टर को भि bata सकती है ..ok
Answer: gas acidity ki wajha se
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam aaj mujhe apne vagina me kbhi kbhi halka drd feel ho rha h esa kyu ho rha hoga
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में प्राइवेट पार्ट में दर्द होना नॉर्मल है क्योंकि यह गर्भाशय का साइज बढ़ने की वजह से नीचे की और उसका दबाव पड़ता है इसलिए योनि में दर्द होता है इसके लिए आप अपने योनि का साफ-सफाई का खास ध्यान रखें गुनगुने पानी से अच्छी तरह से साफ करें इससे आपको दर्द में कुछ राहत मिलेगी यदि आपको बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है या इस्माइल वाला डिस्चार्ज हो रहा है दर्द के साथ ही तो आप डॉक्टर से सलाह लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere left side kulhe m or थाई m bhut dard hota h . kbhi kbhi akadan si aa jati h vha pr .aisa kyu ho rha h ?
उत्तर: हेलो डियर -अक्सर गर्भावस्था के दौरान उठते बैठते समय कूल्हों और उसके आस पास में दर्द होता है यह भी गर्भावस्था के अन्य लक्षणों में से एक है गर्भावस्था के दौरान रिलीज होने वाले हार्मोन रिलैक्सिंग जो कूल्हे में दर्द के लिए जिम्मेदार है गर्भावस्था के दौरान गर्भ में शिशु के मुव मेंट के कारण भी यह दर्द हो सकता है कूल्हों के दर्द से राहत पाने के लिए सोते समय कूल्हों के नीचे तकिया रखें इसे आप को बहुत राहत महसूस होगी यह दर्द अक्सर गर्भावस्था के आखिरी 3 महीनों में अधिक बढ़ जाता है इसलिए करवट से सोए और तकिए का सहारा लें दर्द से राहत के लिए आप हॉट वाटर बैग से सिकाई कर सकती हैं अधिक से अधिक पानी का सेवन करें इससे आपको दर्द में राहत मिल सकती है अधिक से अधिक आराम करें ज्यादा देर खड़े ना रहे अगर दर्द असहनीय लगे तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere aaj left side me pet dard ho rha esa kyu
उत्तर: हेलो डियर ,"""'पेट के left said में होने वाला दर्द नॉर्मल है बेबी के वेट और ग्रोथ के कारण पेट पर बेबी के वजन से दबाव पड़ने लगता है जिससे कि पेट ke left saidसे हल्का हल्का दर्द का अनुभव होने लगताhai.. पेट के दर्द को कम करने के लिए आप एक ही स्थिति में ना खड़े रहे अपनी पोजीशन को बदलते रहे ,बीच-बीच में हलचल kre,अत्यधिक शारीरिक श्रम ना करें ,भारी-भरकम सामान ना उठाएं थकने वाले काम ना करें नींबू पानी ,पानी ,शरबत ,जूस आदि ले उससे आपको राहत मिलेगी, left side Sone Ka Prayas kare ..अत्यधिक दर्द बढ़ जाने पर डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं' |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hlo mam mujhe right m niche की side dard हो rha h kbhi kbhi kl se kamar एम bi dard hota h kya ye normal h
उत्तर: यूटरस की राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण पेट में दर्द होता है .यह राउंड लिगामेंट्स mainly 2 tissues ke रूप में होती है .जो आपके यूट्रस को स्थिर रखते हैं .वह यूट्रस और fetal के बढ़ने के साथ खींचती है. पेट में दर्द लगभग 18 से 24 वीक के बीच शुरू होता है. और एक तरफ दर्द होता है पर कभी कभी दोनों तरफ भी होता है. अगर आपको पेन हो रहा है और यह पेन बहुत ज्यादा नहीं है या रुक रुक के बार बार नहीं आ रहा है तो आप आराम से रहें. खाने पीने का ध्यान दें. आपने खाने में फाइबर ज्यादा ले. पानी खूब पिएं . खाना एक बार में बहुत सारा नहीं खाए . थोड़ा-थोड़ा खाना चबाकर खाएं. खाना खाने के बाद आप दो चुटकी अजवाइन खाएं .इससे आपको गैस की समस्या होगी तो बहुत राहत मिलेगी. आप बिल्कुल परेशान ना हो .प्रेगनेंसी में जब हमारा शरीर बहुत सारी हारमोंस बदलावों से गुजरता है साथी बहुत सारे परिवर्तन हमारे शरीर के अंदर और बाहर होते हैं उसमें हमें कहीं ना कहीं ऐसा दर्द होते हैं .आप परेशान ना हो. अपना ध्यान रखें. कुछ घरेलू उपाय से आपको आराम मिल सकता है. आप सबसे पहले गर्म पानी की सिकाई कर सकती हैं. पेन रिलीफ वाले कोई से अपॉइंटमेंट लगा सकती हैं . अपने पैरों को थोड़ा ऊंचा रखकर सोए साथ ही जब भी आप उठे और बैठे आप ध्यान रखें कि आप सही तरीके से उठे और बैठे . आप आरामदायक जगह पर लेटे हैं. सही तरीके से लेट है. बैठने के समय भी अपना naram जगह पर बैठे. आप अपने खाने में पौष्टिक आहार लेने .पानी खूब पिएं . डॉक्टर की dihui सप्लीमेंट समय पर ले . दर्द होने पर आप कोई भी एक्सरसाइज या कोई भी ज्यादा काम ना करें . आप बहुत देर तक खड़ी भी ना रहे. अपना पूरा ध्यान रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें