37 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mere pero me bhut dard h aur bar bar toilet aa rha h

3 Answers
सवाल
Answer: 🙏कभी-कभी मांसपेशियों और हड्डियों पर पड़ने वाले दबाव के कारण पैरो मे दर्द के साथ सूजन भी हो सकती है यह दर्द और सुजन बच्चे के जन्म के साथ ही खत्म हो जाता है यह कभी किसी तो कभी किसी पैर में होता है यह परेशानी ज्यादातर प्रेगनेंसी में महिलाओं को होता ही है यह दर्द गर्भाशय में बच्चे के बढ़ने के कारण पड़ने वाले दबाव के कारण होता है दर्द से राहत के लिए आप पैरों और तलवों में हल्के गुनगुने तेल से मालिश ले सकती हैं नमक कम खायें।पैर के नीचे तकिया लेकर सोऐं। दर्द वाले की स्थिति में आप ज्यादा देर तक चले नहीं ना खड़े हो आपको आराम करना चाहिए और आपको फ्लैट आरामदायक नरम चप्पले पहननी चाहिए प्रेगनेंसी में बार बार बाथरूम जाना आना प्रेगनेंसी की निशानी है। प्रेगनेंट होने पर आपको बार बार युरिन आ रहा है ऐसा महसुस होता है। खासकर प्रेगनेंसी के शुरूआत और अंतिम में कभी कभी तो पेशाब न लग रहा होता है। फिर भी बार बार वाशरूम जाना पड़ता है। हारमोन्स में बदलावों के कारन मुत्राशय खाली होने पर भी भरा हुआ महसुस होता है। रात को नींद खराब न हो इसलिये आपको रात में कम से कम पानी पिना चाहीये ।जिससे रात को बार बार पेशाब करने बाथरूम न जाना पडे़। Take care💐
Answer: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय होने के बाद एक समस्या पैरो के दर्द की होती है प्रेग्नेंसीय के दौरान ठीक से रक्त प्रवाह ना होने के कारण पैरो में दर्द होता है प्रेग्नेंसीय में आपका वेट बढ़ जाता है जिसके वजह से सारा बॉडी का सारा भार पैरो पे आ जाता है और पैरो में दर्द होने लगता है आप अपने पैरों की सरसो के तेल से मालिश करे आपको आराम मिलेगा आप अपने पैरों को गुनगुने पानी मे नमक डालकर धो दे इससे भी आपके पैरों का दर्द कम हो जाएगा , ज्यादा हाई हील सैंडिल न पहनें , आप अपने पैरो की एक्सरसाइज करें पैर दर्द में बहुत लाभ होगा प्रेग्नेंसीय के लास्ट मे गर्भाशय का आकार बढ़ने की वजह से बार बार पेशाब होती है आप को रात में कम पेशाब लगे इसके लिए कोशिश करें कि सोने से एक या दो घंटे पहले पानी या अन्य तरल पदार्थ कम मात्रा में लें। अगर, आप यह तरीका आजमाना चाहती हैं, तो सुनिश्चित करें कि आप दिन में आठ से 12 गिलास पानीअवश्य पीएं। आपको अगर ज्यादा पेशाब लगे तो आप कोई भी जैसे चाय काफी और कोल्डरिग ना ले इससे भी आवश्यता से अधिक पेशाब लगती है प्रेग्नेंसीय में पेशाब लगने से रोके नही आप अपना पेट खाली कर दे तो दूसरी बार पेशाब की ज्यादा दिक्कत नही होगी
Answer: दर्द से राहत के लिए आप को gungune पानी में नमक डालकर उसमें पैरों को थोड़ी देर डाल कर रखें पानी का तापमान गुनगुना होना चाहिए। इसमें कम से कम अपने पैरों को 10 से 15 मिनट डाल कर रखें इससे आपको आराम मिलेगा और जैसे-जैसे आप का गर्भाशय बड़ा होता है मैं मूत्राशय पर दबाव बनाने लगता है जिसकी वजह से मूत्राशय पूरी तरह से खाली नहीं हो पाता है और आपको बार-बार पेशाब आती है इसलिए पेशाब को लेकर आप परेशान ना हो यह स्वाभाविक है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mere pet me bahot tej dard ho rha hai aur bar bar toilet ho rha hai
उत्तर: हेलो डियर आप बिल्कुल भी इस बात पर परेशान ना हो .यह बहुत ही नॉर्मल है. प्रेगनेंसी में ऐसा होना बार बार सुसु आना बहुत ही नॉर्मल है. या ऐसा बार बार लगना यह भी बहुत नॉर्मल है .यह समस्या ज्यादातर फर्स्ट ट्राइमेस्टर और थर्ड सेमेस्टर में जरूर होती है .बिल्कुल भी इसमें आप चिंता नहीं करें ठीक हो जाएगी. यूटरस का बड़ा हुआ साइज यूरिन पास करवाने क्षमता कम हो जाती है जिस वजह से हमें बार बार सुसु के लिए जाना पड़ता है. साथ ही यूट्रस के दबाव के कारण भी हमें पूरे समय लगता रहता है कि हमें बाथरूम जाना है हमें सूसू लगी है. इस चीज को रोकना तो मुश्किल है. shushu रोक नहीं सकते और हमारा बार बार सुसु जाना हम रोक नहीं सकते और पानी भी बहुत piye. उस में कमी ना करें . पानी पीने की कमी से और भी कोई दूसरी सीरियस प्रॉब्लम हो सकती है इसलिए पानी पीती रहे . रात में यह समस्या बहुत ही कष्टदायक हो जाती है मुझे पता है इसलिए आप कोशिश करें कि आप रात में सोने से पहले एक या 2 घंटे पहले पानी ना पिएं. जिस वजह से आपको रात में मुश्किल से एक या दो बार ही जाना पड़ सकता है. यूटरस की राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव के कारण पेट में दर्द होता है .यह राउंड लिगामेंट्स mainly 2 tissues ke रूप में होती है .जो आपके यूट्रस को स्थिर रखते हैं .वह यूट्रस और fetal के बढ़ने के साथ खींचती है. पेट में दर्द होता है. और एक तरफ दर्द होता है पर कभी कभी दोनों तरफ भी होता है. अगर आपको पेन हो रहा है और यह पेन बहुत ज्यादा नहीं है या रुक रुक के बार बार नहीं आ रहा है तो आप आराम से रहें. खाने पीने का ध्यान दें. आपने खाने में फाइबर ज्यादा ले. पानी खूब पिएं . खाना एक बार में बहुत सारा नहीं खाए . थोड़ा-थोड़ा खाना चबाकर खाएं. खाना खाने के बाद आप दो चुटकी अजवाइन खाएं .इससे आपको गैस की समस्या होगी तो बहुत राहत मिलेगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्लीज टेल में . बार बार टॉयलेट आ रहा ह
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान बार-बार टायलेट आना नॉर्मल है क्योंकि जैसे-जैसे प्रेगनेंसी बढ़ती है वैसे-वैसे गर्भाशय का आकार और वजन दोनों ही बढ़ता है और यह यूरिन ब्लेडर पर दबाव बढ़ाता है जिसकी वजह से ब्लैडर पूरी तरह खाली नहीं हो पाता और बार बार पेशाब आता है इससे आपको किसी प्रकार की प्रॉब्लम नहीं होगी लेकिन आपको प्रतिदिन 10 से 12 क्लास पानी पीना चाहिए और जितना हो सके तरल पदार्थों का सेवन करें साथ में नारियल पानी का भी सेवन प्रतिदिन करें इससे आपका शरीर हाइड्रेट बना रहेगा और आपको अन्य प्रकार के इंजेक्शन नहीं होंगे आप स्वस्थ रहेंगे और आप की प्रेगनेंसी हेल्दी और नॉर्मल होगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam meri wife 5month ki pregnt h aur use bar bar toilet aa rhi h aur kamar aur pet me dard ho rha h
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी में बार बार टॉयलेट आना बहुत ही कोमल चीज है क्योंकि यूट्रस के ऊपर प्रेशर पड़ता है इसीलिए बार-बार टॉयलेट आती है इसमें कोई घबराने की बात नहीं है , कमर और पेट दर्द भी बहुत ही कोमल चीज है आप अपनी वाइफ को बोलिए कि वह अच्छे से अपने पेट की मसाज कर आया करे हल्के गुनगुने तेल से और हो सके तो गर्म पानी से स्नान करें और अपने जितना हो सके पीछे तकिया लगा कर के टेक लगा करके आराम से बैठे ताकि उनको कमर के दर्द की भी परेशानी ना हो , अगर आपको लगे की आपकी वाइफ यह दर्द बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से कंसल्ट कर लीजिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें