34 weeks pregnant mother

mam mere प्राइवेट part k bagal k joint me bhut pain h....koi paresani to ni h

सवाल
डियर इसमें कोई प्रॉब्लम नहीं है प्रेगनेंसी के समय में हार्मोन अल चेंज होते रहते हैं इस वजह से यह दर्द कभी-कभी हो जाता है डिलीवरी के बाद यह सब खत्म हो जाएगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere left leg ke joint me bhut pain hota h koi problem to nhi hogi ?
उत्तर: प्रेगनेंसी में पैरों में दर्द होना बहुत ही कॉमन है इसका कारण वजन बढ़ जाना है जिससे खून का प्रवाह कम हो जाता है और दूसरा कारण पोटेशियम कैल्शियम मैग्नीशियम जैसे खनिज की कमी भी हो सकती है पैर दर्द से बचने के लिए आप स्टेचिंग करें पैर के पंजों को हल्का-हल्का घुमाएं हर रोज हल्की फुल्की वॉक करें जिससे पैरों की मांसपेशियां मजबूत होंगी और दर्द कम होगा साथ ही खाने में हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस यह सब ले जिससे आपके शरीर में पोषक तत्वों की कमी नहीं होगी अगर कभी पैर में दर्द ज्यादा हो तो आप गर्म पानी में नीम के पत्ते डालकर boil Kare , गर्म पानी को गुनगुना करें और पैर dubaa कर रखें पैर दर्द में आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: ऑर mere pet k nichle part me भि dard bna rhta h ... koi problem to ni h ना ?
उत्तर: हेलो डियर आप अभी अपनी प्रेगनेंसी के 9 मंथ में है.प्रेग्नेंसी में (लोअर एब्डोमिनल )पेट के निचे daard कभी कभी होता है। Lower abdominal मतलब कि पेट के नीचे की तरफ अगर आपको दर्द हो रहा है तो उसका kard यह है कि आपका यूट्रस अब बढ़ रहा है. राउंड लिगामेंट्स में खिंचाव होने के कारण आप नीचे की तरफ दर्द महसूस करती हैं और यह दर्द फर्स्ट ट्राइमेस्टर में बहुत ही नॉर्मल है.अपना ध्यान रखे । भरी सामान नहीं उठए।बहुत समय तक खड़े नहीं रह। बैठा ते समय या लेते समय आपने पैरो को ऊपर की और थोड़ा ucha रखे। Paani बहुत पिए ।पोषतीक और हल्का आहार ले। Jyada दर्द होने पे तुरंत ही डॉक्टर को दिखाए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hi mam मरें 7 mnth start हुआ h mere प्राइवेट part me bot pain होता h ऑर उसके aas pas ke area me bhi bot pain rehta h..or mam pain bohot jyada h..pls give me some advise
उत्तर: पेट में बढ़ रहे वजन के कारन पेट के स्नायु और आंत पे दबाव बढ़ता है और इस वजह से वजाइना में दर्द या वाइट डिस्चार्ज होता है. इसमें गभरने वाली बात नहीं है. इसके लिए आप खाना एक बार में बहोत सारा न खाये. थोड़ा थोड़ा करके ज्यादा बार खाइये. वाकिंग करे. ज्यादा पानी पिए. ये सब से आपको रहत मिलेगी.
»सभी उत्तरों को पढ़ें