36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mere नाभि मि दरद रहता है और बीच बीच मै लहक्ता है क्यों

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरे नाम पेट की नाभि से नीचे की तरफ जोर सा रहता है ऐसा क्यों है मेरी नाभि से नीचे जोर सा रहता है ऐसा क्यों है
उत्तर: बेबी घूमता है इसलिए ऐसा होता है... डॉन 'ट वरी...सब नॉर्मल है...जैसे जैसे बेबी की ग्रोथ होगी ये खिचाव और बढ़ेगा... बेस्ट ऑफ लक.प्लीज़ लाइक माई कमेंट
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हमेशा बुखार क्यों रहता है और पेट दरद भी रहता है
उत्तर: hello प्रेगनेंसी के दौरान शरीर का टेंपरेचर नॉरमल टेंपरेचर है थोड़ा ज्यादा रहता है भोजपुरी प्रेगनेंसी थोड़ा बहुत पेट में दर्द भी होता रहता है आप बुखार चेक करें अगर हंड्रेड डिग्री है या उससे ऊपर है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से सलाह ले और गर्भावस्था के दौरान बुखार आये तो अधिक से अधिक पानी पिए। अधिक मात्रा में पानी पीने से आपके शरीर का तापमान कम होगा और हलके बुखार से आपको राहत मिलेगी और ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थो का भी सेवन करें। शरीर के तापमान को कम करने के लिए ग्लूकोज और इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी को पूरा करने के लिए नीबू पानी, मौसमी का जूस  और नारियल पानी का सेवन भी लाभदायक होता है।     गर्भवती महिला को बुखार आने पर ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए। आराम करने से आप जल्दी रिकवर हो जाएंगी।  बुखार यदि तेज हो तो माथे पर भीगी पट्टियां रखें और यह तब तक करें जब तक शरीर का तापमान कम ना हो जाये।  बुखार आने पर आपको गुनगुने पानी से ही नहाना चाहिए। यह आपके तापमान को कम करने में मदद करेगा।  हेल्दी डाइट का सेवन करें। ताजे फल जैसे सेब, संतरा, चीकू, अनार ज्यादा से ज्यादा खाए। बुखार में सेब खाना बहुत ही फायदेमंद होता है,। अपने आहार में ज्यादा से ज्यादा हरी पत्तेदार सब्जियों को शामिल करें।  बुखार यदि सर्दी-खासी की वजह से हो तो गरारा करना, गले में खराश को दूर करने का सबसे बेहतर उपाय है। 230 मिलीलीटर गरम पानी में आधा चम्मच नमक मिलाकर गरारा करें। कम से कम दिन में दो बार गरारा करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: कमर मि हमसा दरद रहता है
उत्तर: हैलो गर्भावस्था के दौरान पीठ दर्द एक आम है क्योंकि आप वजन प्राप्त कर रहे हैं, हार्मोन का केंद्र आपके श्रोणि के जोड़ों में अस्थिबंधन को आराम दे रहा है .. पीठ दर्द को कम करने के तरीके यहां दिए गए हैं, मुझे उम्मीद है कि वे आपकी मदद कर सकते हैं: 1. एक अच्छी मुद्रा में रहो ... # सीधे और लंबा ऊंचा खड़े हो । # अपनी छाती को ऊंचा रखें. # अपने कंधे को आराम से रखें # अपने घुटनों को बंद मत करो। 2. ऊँची एड़ी na पहनें .... केवल फ्लैट पहनें। 3. side le ke soye. 4. भारी वस्तुओं को उठाओ मत। 5. ठंडा और गर्म sek करें। मुझे उम्मीद है कि उपर्युक्त सुझाव आपकी मदद करेंगे .. ध्यान रखें..
»सभी उत्तरों को पढ़ें