2 महीने का बच्चा

Question: mam mera 4 month chal rha hai mujhe nind bhut kam aati hai..mai kya kru.

2 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी में बी प लो और हाई की समस्या रहती ही है इसमे भी सर दर्द चक्करर आना नार्मल हैसर दर्द टेंशन लेने के कारण भी होता है येसर दर्द नीचे झुककर नीचे काम करने के कारण भी नींद भी इसी कारण नही आती आप टेंशन मत लीजिये देर घबराहट का एक कारण bp लौ भी है डिअर आप समय समय पर बी पि चेक करवाए रहिये और लू क के लिए 1नमक ज्यादा खाइये 2फ्रूट्स में कला क लगा कर खायो 3पनीर में भीकाला नमक लगा क्र खाओ 4 कॉफ़ी लीजिये हलकी और कॉफ़ी टॉफ़ी भी ले सकते है 5 आप ब पी नार्मल रखने के लिए समय समय पर चेक उप करवाते राहिये। डियर जी घबराना ऑर उलटी होना वैसे टु आम बात है पर डियर प्रेग्नेन्सी में हमारे हार्मोन मि काफी बदलाव होता है जिंस कारण काफी प्रॉब्लम आती है पर डियर ऐसे मे आपको घबराने की ज़रूरत नही ये सारी प्रॉब्लम प्रेग्नेन्सी के बैड आपने आप खत्म हो जाती है किसी को यह प्रॉब्लम पहेली तिमाही तक ही होती हैयानी 12 हफ्ते तक ओर किसी को पूरी प्रेगनांच्य में होती है कभी कभी ये प्रॉब्लम आयरन की गोकि के साइड एफ्फेक्ट से भी होती है हमें गैस प्रॉब्लम ओर उल्टी आना जी मचलने की वजह से हमे कुछ अच्छा नही लगता ओर मुह का सवाद चेंज हो जाता है कब्ज की वजह से हमारा मुह का स्वाद चेंज हो जाता है इस कारण हमारा खाने का मन नही करता आप खाना खाना नही छोड़े थोड़ा थोड़ा खाये बार बार ले अगर आपका जी मसीजलता है तो अप्प सुबह एक अदरक का टुकड़ा मुह में रखे और देर अगर आप कहना नही खाएंगी तो आपकी तबियत भी खराब हो सकती बै आपके बेबी को भी प्रॉब्लम हो सकती है तो डिअर आप खाना खाएं जूस वगैरह ले नारियल पानी ले और आपके डॉक्टर ने जो दवाई दी है आयरन कैल्शिम की वो टाइम से ले । आप अपना ध्यान राखियेग,,,
Answer: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान नींद ना आना या नींद कम आना दोनो ही आम बात होती है। प्रेग्नेंसी के समय हमारे शरीर में कुछ हार्मोन परिवर्तन होते हैं जिसकी वजह से यह समस्या देखने को मिलती है आप बिल्कुल भी परेशान ना हो ।आप यह उपाय अपना करके अपनी परेशानी को कम कर सकती हैं। गर्भावस्था में अनिद्रा या अच्छी नींद के लिए कुछ सुझाव ---- कुछ हल्के व्यायाम करें। भारी भोजन खाने से बचें। हल्का खाना खाए। बहुत सारे मुलायम तकिए लें जो आपको आराम दे। अपने कमरे के तापमान को सामान्य रखें। सोने से पहले अच्छी किताबें पढ़ें। 2 घंटे सोने से पहले गर्म दूध पीएं। तनाव से बचें। सोने से पहले गर्म पानी से स्नान करें।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mam mujhe nind bhut kam aati ha
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान भरपूर नींद लेना बहुत जरूरी है प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में बहुत से हारमोनल चेंज हो जाते हैं इसी के साथ ऐसी स्थिति में बहुत तनाव होता है जिस वजह से नींद ना आना स्वाभाविक है नींद आने के का बहुत से कारण हो सकते हैं नींद ना आने पर आप कुछ उपाय कर सकते हैं जैसे कि खाने में तरल तरल पदार्थ लें जैसे पानी और जूस पिए ध्यान दें रात में सोने से पहले तरल पदार्थ ना लें इसे रात को बार-बार urine आ सकती है और नींद खराब होगी मॉर्निंग वॉक करें हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करें इससे ब्लड सरकुलेशन होता रहेगा रात के समय पैरों में ऐंठन कम होगी तनाव बिल्कुल ना ले इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने आपको हर वक्त खुश रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mera 7 month chal rha hai mujhe raat ko nind nhi aati hai bechani hoti hai mein kya kru
उत्तर: ज्यादा वक्त सीधे पीठ के बल नहीं सोना चाहिए वर्ना रक्त का प्रवाह सही न होने पर कई परेशानियां हो सकती हैं और कोई भी परेशानी नींद खराब कर सकती है. लेफ्ट सोने का ट्राइ करे , किडनी यूटेरेस तक खुन का प्रवाह अच्छा होगा .. जिसे आपकी नीन्द ना आने की तकलीफ़ कम होगी .. प्रेग्नेंसी के दौरान की जाने वाली एक्सरसाइज और टहलना नियमित रखें,इससे शरीर में रक्तका प्रवाह सही बना रहता है, रात में पैरों में ऎंठन की परेशानी कम करने में मदद मिलती है, इसके अलावा रात मे सोने से पहले एक ग्लास गरम मिल्क पी कर सोएं इससे हाथ पैर मे दर्द भी कम होगा और नीन्द भी ठीक से आएगी . आपको सोने मे ज़्यादा प्रॉब्लम हो तो आज प्रेग्रेंसी pillow का bhi use कर सकते है ,ये बहुत आरामदायक होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe nind bhut kam aati hai.. sone ki bhut koshis krti hu fir v nind nhi lgti, din me to bilkul v nind nhi aati mai kya kru? mera 7th month chal rha hsi
उत्तर: प्रेगनेंसी के दौरान भरपूर नींद लेना बहुत जरूरी है प्रेगनेंसी के दौरान शरीर में बहुत से हारमोनल चेंज हो जाते हैं इसी के साथ ऐसी स्थिति में बहुत तनाव होता है जिस वजह से नींद ना आना स्वाभाविक है नींद आने के का बहुत से कारण हो सकते हैं नींद ना आने पर आप कुछ उपाय कर सकते हैं जैसे कि खाने में तरल तरल पदार्थ लें जैसे पानी और जूस पिए ध्यान दें रात में सोने से पहले तरल पदार्थ ना लें इसे रात को बार-बार यूनियन आ सकती है और नींद खराब होगी मॉर्निंग वॉक करें हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करें इससे ब्लड सरकुलेशन होता रहेगा रात के समय पैरों में ऐंठन कम होगी तनाव बिल्कुल ना ले इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने आपको हर वक्त खुश रखें
»सभी उत्तरों को पढ़ें