38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam merr chahre hath aur pairon m bahut suj rhe hai mujhe kya karna chahiye

1 Answers
सवाल
Answer: कुछ महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान चेहरे, हाथों या ऐडि़यों पर सूजन आ जाती है.पैरों में दर्द या सूजन हो जाना एक आम बात है इसकी वजह से ज्यादा चिंतित होने की जरुरत नहीं है आप ये सब कर के देखें आराम मिलेगा नमक में पैर भिगोना अपने पैरों के बीच एक तकिया रखकर अपनी बायीं ओर पर लेटे हुए घुटनों को छाती की ओर उठाने या फैलाने की कोशिश कीजिए पानी गर्म करके किसी बोतल में भर लें| आज कल मार्किट में सिकाई करने के लिए रबर की ख़ास बोतलें आती हैं जो सिकाई करने के लिए ही बनायी गयी होती हैं, आप उस बोतल का इस्तेमाल कर सकते हैं पानी उतना ही गर्म करें जितना आप सह सकें, अब बोतल में पानी भरकर इससे पैरों की सिकाई करें, कोई जल्दबाजी ना करें, आराम से कम से कम 20 -30 मिनट तक सिकाई करें, इससे पैरों कर दर्द और सूजन तुरंत कम होने लगेगी. एक बर्तन में पानी गर्म करें और इसमें नीम के पत्ते डाल दें और तब तक उबालते रहें जब तक नीम के पत्ते अपना रंग ना छोड़ने लगें अब इस पानी से पत्तियां निकालकर इसमें थोड़ी फिटकरी मिला लें और इस पानी में कुछ देर तक अपने पैरों को डालकर रखें, नीम के अंदर बैक्टीरिया से लड़ने की शक्ति होती है, और यह दर्द निवारक का कार्य भी करता है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mere chahre hath pairon m bahut sujan ho rhi hai kya karna chahiye
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान हमें बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है इस दौरान वजन बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर में बहुत सारे परिवर्तन दिखाई देते हैं पैरों में सूजन होना ज्यादातर शरीर में सोडियम की मात्रा का बढ़ जाने की वजह से, शरीर में खून की कमी हो जाने की वजह से, बार बार उल्टी होने के कारण, हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होने के कारण हो सकती है| गर्भावस्था के दौरान हमारा शरीर का bhar इतना ज्यादा हो जाता है कि पूरा भार हमारे पैरों पर पड़ता हैl जिसके कारण पैरों में सूजन होना आम बात है| उसे किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं होती लेकिन ध्यान देना बहुत जरूरी होता है| आप कोई बात को ध्यान देकर पैरों की सूजन को ठीक कर सकते हैंl सबसे पहली बात अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या होगी तो| आपको अपने खाने में नमक की मात्रा कम करना चाहिए क्योंकि नमक में बहुत ज्यादा सोडियम होने के कारण शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है| आपको बहुत देर तक अपने पैरों को लटका कर नहीं बैठना चाहिए| आप जब भी बैठे अपने पैरों को टेबल के सहारे लेकर बैठेl आप अपने आहार में कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा को बढ़ाएं ताकि आपको पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन मिल सके| आपको हमेशा exerciseकरते रहना चाहिए ताकि आपके शरीर में ब्लड का सरकुलेशन अच्छे से हो सकेl और लंबे समय तक आप एक ही जगह ना खड़े रहे आप हर थोड़ी थोड़ी देर में अपना पोजीशन बदलते रहे|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere hath per bahut jalan karte h or bal bht jhad rhe h kya karna chahiye
उत्तर: हेलो डियर हाथ पैर में जलन कमजोरी की वजह से होती है इसलिए आप अपने खानपान में खास ध्यान दें और भरपूर मात्रा में क्या श्याम प्रोटीन विटामिंस इन सब चीजों को अपने खाने में शामिल करें हेलो डियर प्रेगनेंसी में बाल झड़ने की प्रॉब्लम होना बहुत ही सामान्य बात है आर्य प्रॉब्लम हार्मोन के बदलने के वजह से होती है यदि आपके बाल बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं तो आप अधिक से अधिक के सब्जियों और ताजे फलों का उपयोग करें नारियल के दूध से आप अपने बालों की जड़ों में अच्छे से मसाज करें इन तरीकों से बालों का झड़ना कम होगा और आप अपने बालों में जब भी तेल लगाएं तो उस तेल को थोड़ा सा गुनगुना करके लगाएं इससे आपके बालों की जड़ें मजबूत होंगे और बाल कम गिरेंगे चौड़े कंधों का उपयोग करें बालों को रोल लिया स्ट्रेट करने के लिए इलेक्ट्रिक चीजों का उपयोग ना करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hello..mere hath our pairon mai Zinzinat ho rahi Kya karna chahiye ans plz
उत्तर: अगर आपके हाथ पैरों में झनझनाहट होती है तो उसका एक कारण विटामिन बी12 की कमी हो सकती है... आप अपने डेली डाइट में दूध को जरूर शामिल करें और सुबह शाम दूध जरूर पिएं....विटामिन B12 फूड्स mein पाया जाता है वह है दूध, दही, पनीर, सोया प्रोडक्ट्स जैसे कि सोयाबीन, सोया दूध टोफू, oatmeal, अंडे के पीले भाग में विटामिन B12 अधिक मात्रा में होता है झींगा मछली, सेलफिश, salm मछली... आप कोई भी फूड अपने खाने में रोज ले हो सकता है इससे आपको आराम मिले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mujhe pet me or pairon m bahut dard hota hai ...iske liye kuch aap batayengi
उत्तर: गर्भावस्था में पेट दरद के उपाय ----गर्भावस्था के दौरान पेट में दर्द, पीड़ा और मरोड़ होना सामान्य बात है। अगर आपकी गर्भावस्था एकदम स्वस्थ चल रही है, तो पेट दर्द आमतौर पर चिंता का कारण नहीं होते।  गर्भ में शिशु के होने की वजह से आपकी मांसपेशियों, जोड़ों और नसों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आपको पेट के आसपास के क्षेत्र में काफी असहजता महसूस हो सकती है।   मजबूत, मांसपेशियां जो आपकी हड्डियों को जोड़ते हैं, उनमें पूरी गर्भावस्था के दौरान बढ़ते गर्भ को सहारा देने के लिए खिंचाव होता है। इसलिए जब आप हिलती-डुलती हैं, तो आपको शरीर में एक या दोनों तरफ हल्का दर्द महसूस हो सकता है।थोड़ी देर के लिए बैठ जाएं।जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें।हल्के गर्म पानी से नहाएं।जहां दर्द हो रहा हो उस क्षेत्र में गर्म पानी की बोतल या गेहूं की छोटी पोटली से सिकाई करें। अगर आप गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें, तो इसमें गर्म पानी भरें (खौलता हुआ पानी नहीं) और ध्यानपूर्वक इसे तौलिये या किसी मुलायम कपड़े में लपेट लें। वहीं दूसरी तरह, गेहूं की पोटली एक कपड़े की पोटली होती है जिसमें गेहूं की भूसी भरी होती है। इस पोटली को माइक्रोवेव में कुछ मिनटों तक गर्म करना होता है। यह पोटली आपके शरीर के आकार के अनुसार ढल जाती है और एक घंटे या इससे ज्यादा के लिए गर्म रहती है।आराम करें। कई बार, sexकरने और पर भी मरोड़ या हल्का सा कमर दर्द हो सकता है। जिससे मरोड़ जैसा महसूस हो सकता है।आप कैसा महसूस कर रही हैं,डॉक्टर को बताएं। वह यह अंदाजा लगा पाएंगी कि आपकी असहजता की वजह गर्भावस्था के दर्द और पीड़ा ही हैं या फिर कुछ और। गर्भावस्था में पैर दर्द ---गर्भावस्था के सुरूवात से लेकर अंतिम चरण तक पैरों तथा पैरों और तलवों में दरद होना सामान्य है ।यह जादातर महीलाओं को होता है। गर्भ में पल रहे शिशु केकारण गर्भाशय का भार पैरों पर पड़ने लगता है।इससे पैरों को अधिक भार झेलने के दरद और सुजन भी हो सकती है जो शिशु जन्म के बाद खतम हो जाता है।दरद से बचने के लिये पैर के तलवों को गुनगुने तेल से मालीश करें और कम चले जादा देर तक खड़े न रहें आराम करें ऊंची हील न पहने आराम दायक फ्लैट चप्पलें पहनें इससे आपके पैरों को आराम मीलेगा।।
»सभी उत्तरों को पढ़ें