20 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam dr ne plecenta niche ki or btaya isse drne ki baat h koi

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों आप 20 वीक प्रेगनेट है आपका प्लेसेंटा ( गर्भनाल ) नीचे की ओर है आप घबराये नही और डॉक्टर की सलाह को फॉलो करे घबराये नही गर्भनाल नीचे की ओर होने से डॉक्टर ज़्यादा से ज़्यादा आराम करने की सलाह देते है और कोई भी थकान वाले काम आप ना करे क्योकी कभी कभी ऐसा होने से ब्लीडिंग की प्रॉब्लम हो जाती हआप परेशान ना हो जैसे जैसे आपका बच्चा ग्रो करता है गर्भनाल ऊपर की तरफ चली जाती है इसलिए यह काफी पॉसिबिलिटी हो जाती है नीचे स्थित गर्भनाल गर्भावस्था के दौरान ऊपर की तरफ खिसक जाए और कोई प्रॉब्लम ही ना हो अगर प्रेगनेंसी के अंत में भी आपकी गर्भनाल नीचे की तरफ से स्थित हो तो डॉक्टर कण्डिशन के हिसाब से ट्रीट्मेण्ट करते है आप थकान वाले काम ना करे सेक्स ना करे वॉक योगा एक्सर्साइज ना करे हेल्थी डायट ले पॉजिटिव रहें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: madam doctor ne low line plecenta btaya h kya yh tenshion ki baat h
उत्तर: हैलो डियर--लो प्लेसेंटा की स्थिति में अधिकतर आराम करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि बच्चा जैसे-जैसे ग्रोथ करता है, प्लेसेंटा पर दबाव पड़ता है और गर्भवती को spoting हो सकती है। इसलिए आराम करने की सलाह दी जाती है । इस स्थिति में जादा झुक कर थकने सफर करने और ज्यादा देर खड़े रहकर काम नहीं करना चाहिए ज्यादा थखने वाले एक्सरसाइज और योगा और वाकिंग भी नहीं करनी चाहिए। डॉ इस समय पर सेक्स करने से भी हमेशा मना करते हैं पूरी प्रेगनेंसी में आपको अपना खास ध्यान रखना पड़ता है लो प्लेसेंटा ज्यादातर स्कैन के द्वारा शुरुआती महीनों में ही पता चल जाता है यह प्रेगनेंसी के अंत अंत तक ठीक भी हो जाता है। क्योंकि हमारी यूटरस का साइज़ बढ़ता है और प्लेसेंटा नीचे से साइड की तरफ शिफ्ट हो जाता है।इसमें घबराने की कोई बात नहीं है इसमें आपको हमेशा नॉर्मल डिलीवरी अवॉइड करने की सलाह देते हैं क्यूकी प्लेसेंटा सर्विक्स को कवर करके रखता है और नॉर्मल डिलीवरी के केस में बच्चा पहले निकलना चाहिए उसके बाद प्लेसेंटा लेकिन लो प्लेसेंटा के केस में प्लेसेंटा पहले होता है और बच्चा बाद में इसलिए हमेशा सी सेक्शन करने की सलाह दी जाती है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam प्लेसेन्टा zayada niche btaya h docotor ne koi tenshan ki baat to nahi h
उत्तर: इसे मेडिकल टर्म में प्लेसेंटा प्रिविआ कहा जाता है। यह एक ऐसी समस्या है, जिसमे अपरा(प्लेसेंटा) अपनी सामान्य जगह से थोड़ी निचे की ओर होता है, कभी-कभी यह सर्विक्स(cervix) के बहुत ही ज्यादा समीप होता है या उसे ढक भी देता है। सर्विक्स योनि और गर्भाशय के बीच का हिस्सा है। आप कह सकते हैं की अगर प्लेसेंटा बहुत ज्यादा नीचे के और है तो यह बच्चे के जन्म के समय बढ़ा उत्पन्न कर सकती है। यह समस्या 36वें सप्ताह के पहले कभी भी अपने आप ठीक हो जाती है। जैसे-जैसे गर्भाशय फैलता है, बच्चे का भर गर्भाशय के निचले भाग पर बढ़ता जाता है और खिचाव की वजह से प्लेसेंटा किनारे की तरफ बढ़ने लगते है। आप कोशिश करें की अधिक से अधिक आराम करें , जायदा भारी वस्तु न उठाएं, सीढियाँ न चढ़े और ऐसे कोई भी काम न करें जिसमे पेट पर भार पड़ता हो।
»सभी उत्तरों को पढ़ें