35 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hlo mam aj mere kamar m or pet m dard ho rhi h or lose mosan bhi ho rhe h

1 Answers
सवाल
Answer: हैलो डियर-गर्भावस्था में जैसे जैसे आपकी बैली साइज बढ़ती है यह समस्या बढ़ती जाती है मेडिटेशन के जरिए आप अपने कमर दर्द की समस्या से राहत पा सकती है इसके लिए आप किसी शांत जगह पर लेट जाएं और अपने सांस पर अपना ध्यान केंद्रित करें इससे आपके हारमोंस भी नियंत्रित होंगे कमर दर्द से बचने के लिए आप ज्यादा देर तक एक ही अवस्था में ना रहे और ना ही ज्यादा देर तक खड़े रहे दर्द से राहत के लिए हमेशा करवट लेकर पी लो का इस्तेमाल करके सोए जिससे आपको राहत मिलेगी और निंद भी आयेगी।गर्भावस्था में अक्सर पेट दर्द की समस्या हो जाती है यह सामान्य है पेट दर्द की समस्या बेबी बंप के बढ़ने और पेट की मांसपेशियों में पड़ने वाले दबाव और गैस के कारण हो सकता है इससे बचाव के लिए अधिक से अधिक मात्रा में पानी पियें ज्यादा देर तक खड़े ना रहे आराम करें ज्यादा चले फिर और थके नहीं अगर पेट दर्द हल्का है तो आप गुनगुने पानी से नहा कर भी दर्द से राहत पा सकते हैं और अगर आपका पेट दर्द बढ़ता ही जा रहा है और किसी प्रकार का स्त्राव हो रहा हो तो आपको देरी नहीं करना चाहिए और डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए बिना डॉक्टरी सलाह के कोई भी मेडिसिन ना ले गर्भावस्था में महिलाओं को अक्सर कब्ज और उल्टी दस्त जैसी परेशानीयां हो सकती है। इसके पीछे की मुख्य वजह हार्मोन में बदलाव है। तो इस समय अधिक से अधिक लिक्विड और पानी लेने की कोशिश कीजिए, क्योंकि उल्टी दस्त से पानी की कमी की हो सकती है। दस्त में आपको अधिक पानी पीने और अधिक से अधिक तरल सुप जुस आदि ले सकती हैं ओआरएस का घोल या फिर पानी पीने से पेट का इंफेक्‍शन काफी साफ हो सकता है। आप चाहे तो शहद में पानी मिला कर भी पी सकती हैं। इसमें अलावा उबला हुआ सेब और कच्‍चे केले खाने में ले सकते हैं।आयरन सप्‍पलीमेंट के कारन भी कभी कभी गर्भवती महिलाओं को सूट नहीं करता। लेकिन आपको डॉक्‍टर प्रेगनेंसी के आयरन सप्‍पलीमेंट दे सकते हैं। खाने में आप सुपाच्य भोजन और दाल चावल खिचडी़ दही आदी ले सकते हैं। अगर आपके दस्त दो-तीन दिनों के बाद खत्म नहीं होता तो अपने डॉक्टर से जरूर चेकअप करांए।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मैम मेरे 7मई से 9 मंथ लॅग गया है और मेरा पेट और कमर बहुत दर्द हो रहे है
उत्तर: हेलो जैसे प्रेग्नेंसी के शुरुआती एक दो मही ने तकलीफ देह हो ते है ं वैसे ही प्रेग्नेंसी के आखिरी एक दो महीने तकलीफ देह होते हैं । और आप इन्हीं महीनों से गुजर रही है। जब बच्चा पूरी तरीके से डेवलप हो जाता है तो पेट में उसके लिए जगह कम पड़ने लगती है। जिसके कारण हमारे शारीरिक अंगों पर उसका दबाव पड़ता है ।जिसके कारण थकावट होती है। और स्टमक लंगस पर भी दबाव पड़ता है और उनके काम थोडे प्रभावित होते हैं। लंगस पर दबाव पड़ने से घबराहट बेचैनी सांस ले ने में दिक्कत और चक्कर आना और सिर दर्द होता है। और स्टमक पर दबाव पड़ने से भूख नहींं लगती और एसिडिटी होती है जिसके कारण गले और सीने में जलन होती है और उल्टी होती है। खाना डाइजेस्ट नही होता और बार बार पॉटी आती है। ब्लैडर पर दबाव पड़ने के कारण पेड़ू में दर्द होता है और बार बार सुसु आती है। आप ज्यादा से ज्यादा ज्यादा पानी पीजिए। सुबह शाम वाॅक करें ज्यादा देर एक ही पोजीशन पर ना बैठे और ना ही सोए रेस्ट ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe 3 din s pet m dard ho rha h lose moshan bhi ho rhe h
उत्तर: हेलो डियर,, अभी आपको प्रेगनेंसी ke end hone vsla hai.है कभी-कभी प्रेगनेंसी के दौरान लूज मोशन ,pet dard होना बहुत ही नॉर्मल समस्या है इसलिए आप बिल्कुल भी टेंशन ना ले ,भोजन में अधिक से अधिक तरल भोज्य पदार्थ जैसे mug की खिचड़ी ,मिक्स वेजिटेबल खिचड़ी ,सब्जियों का सूप ,फलों का जूस ,इत्यादि को भोजन में शामिल करें| इसके अलावा ओ.आर.एस का घोल व 10 से 12 पानी जारी रखें | तकलीफ अत्यधिक बढ़ जाने पर डॉक्टर के पास जरूर जाएं किसी भी प्रकार की दवाइयों -गोली का सेवन अपने मन से ना करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere कमर m दर्द हो रहा h और रुक रुक k पेट m भी दर्द हो रहा h
उत्तर: प्रेगनेंसी में कमर दर्द बहुत ही नॉर्मल होता है इस समय हमारे हारमोंस में बहुत ज्यादा बदलाव आते हैं शरीर में बदलाव की वजह से और यूट्रस का भार कमर पर धीरे धीरे आना शुरू होता है इस वजह से कमर में दर्द होना शुरू हो जाता है आपको यदि बहुत ज्यादा दर्द है तो आप आराम करें और लेफ्ट करवट होकर सोए जैसे आप कंफर्टेबल है वैसे आप सोए और हीटिंग पैड यूज कर सकती हैं साथ ही आप कमर की मालिश करवाएं इससे आपको अच्छा लगेगा,
»सभी उत्तरों को पढ़ें