32 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mam mughe सीने से गले तक बहुत जलन होती है लेटने पर लगता है कि खाना मुह में आ जयेगा पेट में दर्द भी होता है थोड़ा काम करूँ तो बेबी नीचे आ jata है फिर बहुत अरकस सा लगता है रात के समय चक्कर भी आते है plz बताइए कोई प्रॉब्लम तो नही है .

1 Answers
सवाल
Answer: its नॉर्मल इस समय भोजन नलिका के लिए पेट में जगह कम हें इसलिए esa होता हें ! jalan कम हो उसके लिए भोजन कम कम मात्रा में खाए और बार बार खाए एक साथ नही
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: माम mughe गलें से सीने तक बहुत जलन होती है इस कारण लेटने में बहुत तकलीफ़ होती है ऐसा लगता hai
उत्तर: हेलो डिअर, प्रेग्नेंसीय में गैस बनने और तेल मसाले वाली चीजें की वजह से भी सीने में जलन और दर्द होने लगता है और कुछ भी समझ मे नही आता है आप ऐसे में रोज खाली पेट एक लहसुन खाये इससे गैस नही बनेगी और सीने में जलन और दर्द नही होगी , आप ऐसे में ज्यादा तेल मसाले वाली चीजें ना खाएं और रोज 3 से 4 तुलसी भी चबाये इससे सीने में जलन गैस और दर्द नही होगा इसके साथ ही आप पुदीना की 4 से 5 पत्तियां चबा सकती है इससे भी सीने का जलन और दर्द कम हो जाता है आपको आराम हो जाएगा और आपको ऐसे में दिन भर में 10 से 12 गिलास पानी पीते रहना चाहिये इससे भी सीने में जलन नही होगी ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मैं मुझे गले में और सीने में बहुत जलन हो रही है मैं क्या करूं प्लीज बताइए
उत्तर: हेलो डियर ,,,,आप 28 वीक की प्रेगनेत है ...सीने ,गले में जलन भूख से ज्यादा भोजन, अधिक तला हुआ , बासी खाना खाने के कारण भी हो जाती हैं सीने, गले मे जलन हो तों ये घरेलू उपचार करे , राहत मिलेगी .. अजवायन को तवे पर डालकर हल्का – हल्का भुन लें. अब भुनी हुई अजवायन को पीस कर इसका बारीक़ चुर्ण बना लें. फिर अजवायन के चुर्ण में थोडा सेंधा नमक डालकर मिला लें. अब एक गिलास गुनगुना पानी लें, और उसके साथ अजवायन के चुर्ण को फांक लें.सीने , गले की जलन में राहत मिलेगी| धनिया और चीनी का शरबत पीने से भी सीने, गले की जलन ठीक हो जाती हैl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मैंने कोई भी स्पाइसी(spicy) चीज़ नहीं खाई है, फिर भी मुझे सीने में बहुत जलन हो रही है। क्या करूँ?
उत्तर: जलन (Heart burn) सिर्फ मिर्च वाले खाने से ही नहीं होता है बल्कि बहुत ज्यादा तेल वाले भोजन, फैट वाले खाद्य-पदार्थ,खाने की ज्यादा मात्रा, बहुत ज्यादा खट्टा खाना,चाय-कॉफ़ी या अत्यधिक चॉकलेट के सेवन से भी होता है। प्रेगनेंसी में आपका शरीर बहुत ही ज्यादा संवेदनशील हो जाता है क्योंकि आपके हॉर्मोन्स में बदलाव आते रहते हैं और गर्भाशय भी फैलता रहता है। हर दो-दो घंटे की अंतराल पर थोड़ा थोड़ा खाएं और अधिक से अधिक पानी, जूस, दूध,छांछ, निम्बू पानी पिएं और थोड़ा बहुत व्यायाम भी करते रहें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें