24 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: main 6 month pregnent hu mere pet me dard rehta hai koi darne ki baat to nhi hai na ?

2 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी में पेट दर्द होना बहुत आम समस्या है लेकिन हमेशा पेट दर्द का होना सिर्फ गैस ही वजह नहीं हो सकता गैस की प्रॉब्लम पहले की कुछ महीनों में ही ज्यादा होती है लेकिन उसके बाद पेट में दर्द होने का कारण कुछ और भी हो सकता है जैसे जैसे-जैसे आपके बच्चे का साइज बढ़ता है वैसे यूट्रस कभी साइज बढ़ता है जिससे कि पेट और पेट से जुड़े हुए अंग अंग है जो कि आसपास होते हैं उन सारे वह सारे अंगो पर दबाव पड़ता है यूटरस का साइज बढ़ने से उसके आस-पास के लिए गारमेंट मसल्स सारे पर प्रभाव होता है जिसके कारण हमें दर्द का अनुभव होता है यह दर्द बहुत ही आम है आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है हो सकता है यह दर्द हल्का हल्का पूरे 9 महीने तक रहे लेकिन यदि यह पेट का दर्द बढ़ती खोले तो आपको डॉक्टर की सलाह की जरूरत पड़ती है पेट में दर्द होने से आप किसी प्रकार का बाहरी दवाई बिना डॉक्टर के सलाह के नहीं ले सकते इससे बच्चे को बहुत इफ़ेक्ट होता है
Answer: पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन उठाने वाला काम करने और ज्यादा नीचे झुकने वाला काम करने से भी पेट दर्द हो सकता है पीठ के बल सोने की बजाए साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  यह दर्द हील वाली सेंडिल पहने से भी हो सकता है इसलिए हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें कभी भी पेट में ज्यादा दर्द हो आग और अगर आपको ऐसा लगे कि कुछ गड़बड़ है डॉक्टर के पास जाना सही रहेगा प्रेग्नेंसी में जो छोटी मोटी समस्याएं होती रहती है पर फिर भी हमें सावधानी बरतनी चाहिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mam mujhe khana nhi accha lagta aur pet me dard bhi rehta hai aur pet tight bhi rehta hai koi dar ki baat toh nhi hai
उत्तर: पहले आप को यह देखना होगा कि आपके पेट में किस हिस्से में दर्द हो रहा है प्रेगनेंसी के दौरान पेट में दर्द होना सामान्य है यदि दर्द तेज और लगातार हो रहा है या आप तीव्रता महसूस कर रहे हैं तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए गैस और कब्ज गर्भावस्था में प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन का स्तर badh जाता है इसके कारण पेट में गैस और कब्ज की शिकायत हो जाती है अधिक पानी पिएं फाइबर युक्त भोजन खाने और नियमित रूप से व्यायाम करने से आपको इसमें आराम मिल सकता है गर्भाशय का बढ़ना गर्भाशय के बढ़ने की वजह से आपको दर्द का एहसास होता है दर्द अगर ज्यादा हो तो आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट कर सकते हैं भले ही आपको भूख लगे या ना लगे आप समय पर पोषक आहार लीजिए क्योंकि यह आपके और आपके बेबी के लिए बेहद जरूरी hai आपका मन खाने का ना कर रहा हो लेकिन जब आप एक बार धीरे-धीरे खाना शुरू करेंगी तो आपको भूख का एहसास भी होने लगेगा साथ ही अपने आहार में ऐसी चीजें शामिल करें जिन से भूख बढ़ती है जैसे फाइबर खाएं पत्तेदार साग चोकरयुक्त अनाज की रोटी खूब सारे तरल पदार्थ पिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: है ाय मैं 5 मंथ चल रहा ह और आज मेरे पेट मैं रुक रुक दर्द दे रहा कोई डरने की बात तो नहीं है न प्लीज आंसर दिजिये
उत्तर: हेलो डियर हल्का फुल्का पेट दर्द तो आप कौ पूरी प्रेग्नंसी में ही हो गा ।जैसे -जैसे प्रेग्नन्सी बढ़ती है बेबी का वजन भी बढने लगता है और बेबी की ग्रोव्थ के बढ़ने के साथ -साथ उतरुस में मांसपेशियों में खिंचाव पैदा होने लगता है जिसकी वजह से पेट दर्द जैसी प्रॉब्लम होने लगती है ।कभी कभी पेट दर्द गैस या कब्ज की वजह से भी होता है। पेट दर्द को दूर कर ने के लिए आप निम्न उपाय अपना सकती हैं - आप लगातार एक ही स्थिति में खड़ी ना रहे ,ना ज्यादा देर तक कहीं पर बैठे ।संतुलित और पौष्टिक भोजन ही करें । ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए । तनाव मुक्त रहे । जमीन पर पैरों को मोड़ कर ना बैठे । एक ही स्थिति में ज्यादा देर तक ना सोए। और अगर आपको ज्यादा पेट दर्द हो रहा है तो आप तुरंत ही अपने डॉक्टर से मिलें ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere pet me dard rhta hai left side maam koi dikkat ki baat to nhi hai
उत्तर: गर्भावस्था के दौरान, पेट में हल्की-फुल्की समस्याएँ होना आम बात होती है। इस अवस्था में, पेट दर्द, विशेषकर पेट के निचले हिस्से में हल्का-हल्का दर्द भी हो सकता है प्रेगनेंसी के समय में ज्यादा वजन उठाने वाला काम करने और ज्यादा नीचे झुकने वाला काम करने से भी पेट दर्द हो सकता है जमीन पर ना बैठे और क्रॉस लेग करके नहीं बैठे वरना दर्द ज्यादा बढ़ सकता है पीठ के बल सोने की बजाए साइड की करवट लेकर सोना चाहिए  यह दर्द हील वाली सेंडिल पहने से भी हो सकता है इसलिए हमेशा स्लिपर ही पहने ज्यादा देर तक एक स्थिति में खड़े ना रहे  जिस तरफ दर्द हो रहा हो, उसके दूसरी तरफ होकर लेट जाएं और आराम करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें