14 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: maim mera 13week chal raha hai mujhe kaun sa ahar lena chahiye aur apna dekh bhal kaise karna chahiye

2 Answers
सवाल
Answer: प्रेगनेंसी के पहले तीन महीने भारी सामान को नहीं उठाना चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से ब्लीडिंग का खतरा होता हैं, भारी सामान उठाने से सबसे ज्यादा दबाव पेट पर पड़ता हैं.जिसके कारण पेट में दर्द रहने की भी समस्या खड़ी हो सकती हैं. पपीते का सेवन भी नहीं करना चाहिए. अनानास का भी प्रयोग गर्भावस्था के पहले तीन महीने हो सकें तो नहीं करना चाहिए ज्यादा मिर्च मसाले व् ज्यादा तले हुए भोजन से परहेज करना चाहिए गर्भावस्था के समय में आपको ज्यादा भाग-दौड़ व् व्यायाम नहीं करना चाहिए. बिना डॉक्टर के परामर्श के दवाई का सेवन नही करे प्रेगनेंसी में खान-पान का ध्यान देना बहुत ही जरूरी है प्रेगनेंसी में हमें ऐसा खाना खाना चाहिए जिसमें अधिक मात्रा में फोलिक एसिड विटामिन आयरन कैल्शियम सब कुछ हमें मिल जाए इसलिए हमें अपने खाने में दूध दही हरी सब्जियां फल फ्रूट जूस अधिक से अधिक पानी इन सब का सेवन करना बहुत जरूरी है इसके साथ अगर आप nonवेजीटेरियन है तो आप अपने खाने में अंडा chiken शामिल कर सकते हैं बस आपको ध्यान रखना है कि अगर आप मांसाहार ले रहे हैं तो आपका चिकन मटन egg अच्छी तरह से पक्का हो , प्रेगनेंसी में बहुत जरूरी है कि जब भी हम दूध पिए तो वह अच्छी तरह से उबला हुआ हो आप अपनी डाइट में थोड़ी मात्रा ड्राई फ्रूट्स और सोयाबीन include करें चाय कॉफी थोड़ा कम piy, साथ ही मार्केट में मिलने वाले डब्बा बन चीजे, पैकेज फूड इन सब चीजों को अवॉइड करें
Answer: ज्यादा से ज्यादा पौष्टिक आहार लें बाजार की डिब्बाबंद या फास्ट फूड अवॉइड करें इन सब चीजों में प्रिजर्वेटिव्स यूज़ किया जाता है में काफी केमिकल्स होते हैं जो कि आपके स्वास्थ्य के लिए साथ ही साथ आपके होने वाले बच्चे के लिए भी हानिकारक है प्रेगनेंसी में हाइजीनिक ध्यान रखना चाहिए आप ताजे फल साग सब्जियां यह सब अपने आहार में शामिल करें नॉनवेज न खाने से आपको किसी तरीके की कोई दिक्कत नहीं होगी पर आप प्रेगनेंसी के दौरान ताजा खाना खाएं आप दही और छाछ भी अपने आहार में शामिल करें बहुत ज्यादा मिर्ची मसालेदार वाला खाना ना खाएं इससे आपको एसिडिटी की प्रॉब्लम हो सकती है जो कि आपके लिए और आपके होने वाले बच्चे के लिए ठीक नहीं है अपना ध्यान रखें आप अपने आहार में एक गिलास दूध शामिल करें नियमित तौर पर आप ड्रायफ्रूट्स भी ले तो बहुत अच्छा होगा आपको ऐसी बैलेंस डाइट लेनी चाहिए जिसमें कि आपको विटामिंस कैल्शियम आयरन मैनरॉयल्स सब कुछ पर्याप्त मात्रा में मिले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: maim mera 13week chal raha hai mere sir dard hota hai aur gais bahut banti hai
उत्तर: hello dear घरेलू उपचारों से आप को बहुत आराम मिलेगा. जैसे जीरे का शरबत बनाकर रखें एक गिलास पानी में एक चम्मच कच्चा जीरा पीस के डालने पर शक्कर डालने| चित्र खोलकर रख लें दिन भर में थोड़ा थोड़ा पिया. खाना खाने के बाद आधा चम्मच अजवाइन का चूर्ण ले ले|ध्यान रखें आपका पानी पीना बहुत जरूरी है. इससे भी आपको गैस में राहत मिलेगी.अपनी नींद समय पर ले कोई भी भारी खाना बहुत सारा एक साथ ना खाएं.खाना चबा चबा कर खाएं .दिन भर में थोड़ा-थोड़ा खाते रहे.आप थोड़ी मसाज लेले .आप bhaap भी ले सकती हैं .जिससे आपको आराम मिलेगा .आप थोड़े से ठंडे पानी से नहा लें ऐसे भी सर dard me आपको आराम मिलता है.अदरक में एंटीआक्सीडेंट भी होते हैं .जो सिर दर्द को कम करने में मदद करते हैं एक कप अदरक की चाय बनाएं और जब भी आपको सर दर्द महसूस इसे पिएं.लैवेंडर ऑयल सिर दर्द से बहुत ज्यादा राहत देता है और गर्भावस्था के दौरान बहुत अच्छी नींद में भी सहायता करता है आप इससे मसाज कर सकती हैं.एक गिलास पानी में दो चम्मच सेब का सिरका और दो चम्मच शहद मिलाएं और piyen.सर दर्द ना हो इसके लिए आप अपने आप को बचा सकती हैं. शुगर का स्तर आपके कम रहे ध्यान रखें .पर्याप्त मात्रा में आप आराम करें .भोजन समय पर करें .कैफीन का सेवन ज्यादा ना करें.बहुत तेज रोशनी है बहुत शोर शराबे वाले मोहन से दूर रहें .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mai 1st time pregnant hu mujhe apni dekh bhal kaise karni chahiye plz batae
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी की बहुत-बहुत बधाई आपको बच्चे के दिमाग के विकास के लिए ओमेगा-3 और ओमेगा-6 बहुत जरूरी है। फिश लिवर ऑयल, ड्राइफ्रूट्स, हरी पत्तेदार सब्जियों और सरसों के तेल में यह अच्छी मात्रा में मिलते हैं। आयरन और फोलिक एसिड की गोलियां खाना भी शुरू कर दें। इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है।  - कई बार महिलाएं डॉक्टर की सलाह लिए बिना कुछ दवाइयां खाना भी शुरू कर देती हैं। लेकिन दवा के गर्भनाल के माध्यम से बच्चे के खून में प्रवेश करने की आशंका रहती है। इसलिए पहले तीन महीनों में डॉक्टर की सलाह के बिना कोई भी दवा ना खाएं। - गर्भावस्था की शुरुआत में कई कारणों के चलते कई महिलाएं तनाव में रहने लगती हैं, जिसका बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इसके चलते कई बार गर्भपात भी हो जाता है। इसलिए गर्भावस्था के दौरान जितना हो सके, खुश रहें।  - अच्छा म्यूजिक सुनें, अच्छी किताबें पढ़ें, अपने आप को व्यस्त रखें और डॉक्टर की सलाह के अनुसार एक्सरसाइज करें।  - गर्भावस्था के दौरान डाइटिंग न करें। इससे शरीर में आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन, कई तरह के खनिजों और पोषक तत्वों की कमी हो जाती है।  - इस दौरान हॉट टब और सॉना बाथ का उपयोग भी न करें, क्योंकि इससे आपके शरीर का तापमान अचानक बढ़ सकता है। इससे शरीर में पानी की कमी हो सकती है, जो बच्चे के लिए जानलेवा साबित हो सकती है।  - प्रेग्नेंसी के दौरान किसी खास चीज को खाने का दिल ज्यादा करने लगता है। ऐसे में किसी एक ही चीज को बार-बार खाने के बजाय बाकी चीजों को भी खाने में शामिल करें।  -ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाना न खाएं। इससे गैस और पेट में जलन हो सकती है। जो भी खाएं, फ्रेश खाएं। बाहर के खाने से इंफेक्शन होने का खतरा होता है, इसलिए बाहर खाने से बचें।   - अगर किसी तरह की कोई कॉम्प्लिकेशन नहीं है, तो आमतौर पर बच्चे की ग्रोथ का पता लगाने के लिए डॉक्टर तीन बार अल्ट्रासाउंड टेस्ट कराते हैं। अल्ट्रासाउंड टेस्ट दूसरे महीने में बच्चे की धड़कन जानने के लिए, चौथे महीने में बच्चे का विकास देखने के लिए और आखिरी महीने में बच्चे की स्थिति देखकर डिलिवरी प्लान करने के लिए।  - शुरू के तीन महीने में मंथली चेकअप काफी होता है। कोई परेशानी होने पर 15 दिनों में भी जांच की जाती है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera kaun sa week chal raha hai
उत्तर: हेलो डियर,आप पहले लास्ट पीरियड की डेट बताइए तभी बता पाएंगे आप का कौन सा week चल रहा हैl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 9 week chal raha h mujhe kya karna chahiye aur kya nahi karna chahiye
उत्तर: शुरू के कुछ मंथ बेबी जस्ट गर्भाशय में रुका रहता है उसे गर्भाशय के दिवार में अच्छे से जुङने के लिए कुछ जरुरी हॉर्मोन्स हमारी बॉडी में बनते है।। एक बार हमारी बॉडी अच्छे से प्रेगनेंसी के हॉर्मोन निकलना शुरू करदे तब आप हलके फुल्के काम कर सकती है। कभी कभी पेट में हल्का दर्द हो सकता है. हल्की spoting भी हो सकती हैं।लेकिन अगर ज्यादा दर्द है और लंबे समय तक है तो आप अपने डॉक्टर से जाकर तुरंत संपर्क कीजिए। जयादा एक्सेरशन ना करे। भारी सामान ना उठे। जयादा सीधी न चढ़े उतरे । आप चाय कॉफी का सेवन कम कीजिए और सॉफ्ट ड्रिंक अल्कोहल से दूर रहिए बॉडी को हिट करने वाले खाद्य पदार्थ थोड़ा अवॉइड कीजिए नहीं लीजिए जैसे पपीता अनानास तिल तिल के लड्डू गुड़ आप आम बैगन भी कम लीजिए. हप्पी रहे और पौष्टिक अहार ले। आप अपने खाने-पीने में खास ध्यान रखिए और संतुलित आहार लीजिए खाने में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट ज्यादा लीजिए आप हल्का फैट वाला खाना भी खा सकती हैं जो आसानी से पचने वाला हो। आप अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां दाल चावल रोटी ग्रीन वेजिटेबल्स दूध अंडा यह सब ऐड कीजिए दिन में कम से कम दो से तीन फल खाने की कोशिश कीजिए फलों का जूस और तरल पदार्थ लेते रहिए यह सब पौष्टिक आहार आपके बेबी को ग्रोथ करने में बहुत मदद करेगा ज्यादा तकलीफ होने पर डॉ की सलाह ले।l
»सभी उत्तरों को पढ़ें