6 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: mai 6 week prgnent hu mai abhi tk dr. k pass checkup k liye ni gayi mujhe dr k pass checkup k liye kb jana chahiye

4 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था के समय मां और बच्चे का ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है मां की पहली देखभाल तो खुद पर निर्भर करता है लेकिन बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानने के लिए हमें कुछ जांच करानी पड़ती है गर्भावस्था के दौरान शरीर में काफी परिवर्तन होते हैं जिनकी निगरानी करना बच्चे और मां के स्वास्थ्य के लिए बहुत ज्यादा आवश्यकता है इसलिए हमें समय समय पर चेकअप करवाना चाहिए बच्चे के जन्म से पहले जो परीक्षा में होता है उसे एंटी नेटल केयर कहा जाता है iska udesya यही होता है कि बच्चे के स्वास्थ्य के बारे में जानना प्रेगनेंसी में सबसे पहले स्क्रीनिंग टेस्ट 15 से 20 हफ्ते के दौरान करवाने चाहिए जिससे कि बच्चे की रीढ़ की हड्डी के बारे में हमें पता चलता है इस समय आप बच्चे में होने वाले down syndrom उनके बारे में भी पता कर सकते हैं जो क्रोमोसोम में जींस होते हैं उनके द्वारा माता पिता के गुण बच्चों में ट्रांसफर होते हैं इन क्रोमोसोम में गड़बड़ी की वजह से उनको डाउन सिंड्रोम होने का चांस रहता है इसलिए 15 से 20 सप्ताह के दौरान एक बार जांच करानी जरूरी होती है गर्भवती महिला की सबसे पहली जांच उसके पहले तिमाही में होता है जिसमें डॉ आपके मासिक धर्म चक्र पिछला गर्भाधारण , सेवन करने वाली दवाइयों और आपके जीवन शैली के बारे में पूछते हैं इस समय आपका वजन BP हृदय की गति यह सब मापा जाता है जो की बहुत जरूरी होता है दूसरी तिमाही में भी आपके यूरिन टेस्ट अल्ट्रासाउंड और आपका ब्लड टेस्ट किया जाता है जिससे कि आपका हीमोग्लोबिन का स्तर और आपके बच्चे की स्थिति के बारे में जाना जाता है तीसरी तिमाही में जब महिला गर्भवती के अंतिम चरणों में पहुंच जाती है तो आपकी सेहत आप प्रेग्नेंसी के अनुसार डॉक्टर आपको हर दो और 4 हफ्ते में हास्पिटल आने के लिए कहते हैं आज जब 36 सप्ताह की शुरुआत से जब तक डिलीवरी नहीं हो जाती तब तक आपको हमेशा जांच करवाते रहना चाहिए कि इस दौरान आपका और आपके बच्चे पर पूरा ध्यान रखा जाता है इस दौरान भी अल्ट्रासाउंड कराया जाता है जिसमें प्लेसेंटा की स्थिति बच्चे का विकास और एमनियोटिक द्रव के स्तर की जांच की जाती है इस लास्ट महीने में आपको और बच्चे के लिए खांसी से बचाव के लिए एक vaccine लगाई जाती है
Answer: हेलो आप 6 वीक प्रेगनेट है सबसे पहले किसी अच्छी गायनी डॉक्टर के पास जाकर सलाह लें । सेहत और मेडिकल हिस्ट्री के मुताबिक डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट कराने की सलाह दे सकते हैं।  हिमोग्लोबिन, कैल्शियम, ब्लड शुगर, यूरीन और एचआईवी टेस्ट, थायरॉइड आपको जरूर कराना चाहिए। ये टेस्ट हर तीन महीने में कराए जाते हैं।अगर किसी तरह की कोई कॉम्प्लिकेशन नहीं है, तो आमतौर पर बच्चे की ग्रोथ का पता लगाने के लिए डॉक्टर तीन बार अल्ट्रासाउंड टेस्ट कराते हैं। अल्ट्रासाउंड टेस्ट दूसरे महीने में बच्चे की धड़कन जानने के लिए, चौथे महीने में बच्चे का विकास देखने के लिए और आखिरी महीने में बच्चे की स्थिति dekh kar delivery plan karne k liye 6 वीक के आस्पास बेबी की हार्ट बीट आती है जो अभी या हो सकता है नेक्स्ट वीक तक आ सकती है आप अल्ट्रासाउन्ड करवा कर बेबी ग्रोथ क्लियर कर सकती है
Answer: किसी महिला को जैसे यह पता चले कि वह प्रेग्नेंट है उसे तुरंत किसी लेडी डॉक्टर से मिल कर जांच करवानी चाहिए और गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप से डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप जांच की आवश्यकता होती है ऐसे में जरूरी हो जाता है कि गर्भावस्था में समय-समय पर जांच करवाई जाए गर्भावस्था परीक्षण के दौरान ब्लड टेस्ट और मूत्र परीक्षण किया जाता है आप अपने डॉक्टर से संपर्क में रहें ताकि वह आपको सही सलाह दे सके अपनी नियमित जांच करवाते रहें
Answer: आपको जब अपनी प्रेगनेंसी का पता चला तभी आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए था चेकअप के लिए लेकिन कोई बात नहीं आप अभी भी डॉक्टर के पास जा सकती हैं और अपना प्रॉपर चेकअप करवाएं और डॉक्टर द्वारा बताई गई आयरन तथा कैल्शियम की दवाएं समय पर लीटर साथ में अपने खानपान पर भी ध्यान दीजिए आपको इस समय एक बाउल फ्रूट्स का जरूर खाना चाहिए और अपने खाने में डाले दही हरी पत्तेदार सब्जियां सलाद इनको जरूर शामिल करें साथ में 10 से 12 ग्लास पानी प्रतिदिन पिए
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hi dr mai abhi tk ek bar hi dr ke pass ultrasound karane gayi hu next kb jana h
उत्तर: हेलो डिअर, आप अगर प्रेग्नेंसीय में स्वस्थ है तो सोनोग्राफी 3 से 4 बार करवानी चाहिए ये आपकी कंडीशन पर भी निर्भर करती है वैसे प्रेग्नेंसीय में प्रथम तिमाही में एक बार सोनोग्राफी होती है , दूसरी तिमाही मे दूसरी सोनोग्राफी होती है , तीसरी तिमाही में तीसरी सोनोग्राफी करानी चाहिए , ऐसा आपको हर तिमाही में अल्ट्रासाउंड करवाना चाहिये ताकि आपके बेबी की समय समय पर पोजीशन का पता चलता रहे इससे आपके होने वाले बेबी के स्थति का पता लगाया जा सकता है और अंत मे डिलीवरी के समय डॉक्टर बेबी के कंडीशन का पता करने के लिए सोनोग्राफी करते है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam m six week pregnant hu muje checkup k liye kb jana chahiye
उत्तर: गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान नियमित रूप जांच की आवश्यकता होती है ऐसे में जरूरी हो जाता है कि गर्भावस्था में समय-समय पर जांच करवाई जाए गर्भावस्था परीक्षण के दौरान ब्लड टेस्ट और मूत्र परीक्षण किया जाता है आप अपने डॉक्टर से संपर्क में रहें ताकि वह आपको सही सलाह दे सके अपनी नियमित जांच करवाते रहें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Me 6 month pregnant hu to muse kitane din bad chekup ke liye doctor ke pass jana chahiye. Abhi tak me doctor ke pass nahi gayi hi......
उत्तर: agar कोई प्रॉब्लम ना हो तो मंथ में एक बार बाकी jese डॉक्टर suggest करें प्राइवेट हॉस्पिटल के डॉक्टर pese कमाने के liye बार बार बुलाते है acha होगा अगर आप सरकारी हॉस्पिटल में दिखायें वहाँ भी अच्छे डॉक्टर होते है वो भी shi गाइड करते hai
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mem 36 week chal mujhe dr . ko dikhne kb tk jana chahiye baby kb tk head down karega plz bataye
उत्तर: डियर . आप जयदा से जयदा वॉक करे . पानी जयदा पीए .. डॉक्टर की सलाह से हलकी एक्सरसाइज भी करे .. आप का बेबी 37 वीक्स मे अपनी पोजिशन ले leta है बेबी की पोजिशन ठीक यानी सर नीचे होने पर डॉक्टर आप की नॉर्मल डिलिवरी के लिए ट्राइ करते है वरना अगर आप k pregnancy में कोई कॉम्प्लिकेशन होती है या बेबी के गले में naal fas जाती है तो डॉक्टर आपको सिजेरियन डिलीवरी करने की ऑप्शन देते हैं ओके टेक केयर
»सभी उत्तरों को पढ़ें