8 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Ma kya kha sakti hu mere 7weeks hue hai preagnet ko

2 Answers
सवाल
Answer: प्रेग्नेन्सी के दौरान शुरू के 3 महीने आपको अपना विशेष ध्यान रखना चाहिए कोई भी भारी सामान ना उठाएं और ना ही कोई भारी काम करें सीढ़ियां ज्यादा चढ़े उतरे नहीं कोई भी काम झुककर ना करें अचानक से जमीन पर भी ना बैठे हैं जितना हो सके रेस्ट करें। आपको दिनभर में चार या पांच बार तरल चीजें, जैसे छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का जूस या शेक पीएं। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। हरी पत्तेदार सब्जियां, मटर, फूलगोभी, शिमला मिर्च, बादाम, काजू, तरबूज, केला व संतरा खाएं। इनके अलावा पालक, चुकंदर,शलगम कद्दू , दाले , दही, दूध-मट्ठा, पनीर, सोयाबीन, बीन्स, और साबुत अनाज लें। गर्भावस्था के दौरान चाय और कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था के दौरान आप को थोड़ा-थोड़ा खाना खाना चाहिए थोड़ी थोड़ी देर में बहुत अधिक खाना नहीं खाना चाहिए । स्मोक नहीं करना चाहिए। अल्कोहल नहीं लेनी चाहिए Coca-Cola Pepsi आदि का सेवन नहीं करना चाहिए । मैदे से बनी चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए। जरूरत से ज्यादा मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए। इससे आपको कब्ज की शिकायत हो सकती है। समुद्री मछली खाने से परहेज करना चाहिए । कच्चा मांस या कच्चे अंडे या कोई भी गर्म करने वाली चीज नहीं खानी चाहिए । डब्बा बंद और रेडीमेड खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं करना चाहिए।
Answer: गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को सब्जी और फल खाने की सलाह दी जाती है, लेकिन ऐसे मौके पर गर्भवती महिलाएं पपीता और अनानास खाने से बचें। गर्भवती महिला को इन सभी विटामिन और खनिजों का सेवन करना बहुत आवश्यक है| विटामिन C कैल्शियम फाइबर विटामिन D जिंक आयोडीन फोलेट विटामिन आयरन प्रोटीन कार्बोहाइड्रेट फोलिक एसिड etc… दूध, अंडा, गाजर, पालक, हरी सब्जियां, ब्रोकोली, आलू, कद्दू, पीले फल, खरबूजा संतरे, संतरे का रस, स्ट्रॉबेरी, हरी पत्तेदार सब्जियां, पालक, बीट्स, ब्रोकोली, फूलगोभी, अनाज, मटर,सेम, नट्स दही, दूध, पनीर, सोया दूध, रोटी, अनाज, गहरे हरे पत्तेदार सब्जियां. सब आप खायें , आपके और बेबी के लीई बहुत अच्छा है .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Mere ko pregnant hu ve one week huva hai mai kya kya kha sakti hu
उत्तर: हेलो आप 1 वीक प्रेग्नेन्ट है एक लेडी को शुरुआति प्रेगनेंसी में अपनी एक्स्ट्रा केयर करना चाहिए आपके खान पान रहन सहन सबका असर आपके बच्चे पर पड़ता है इसी दौरान गर्भ में भ्रूण का विकास होना शुरू होता है।मॉर्निंग सिकनेस से बचने के लिए नींबू-पानी या अदरक की चाय पी जा सकती हैं। दिनभर में चार या पांच बार तरल चीजें, जैसे छाछ, नींबू-पानी, नारियल पानी, फलों का जूस या शेक पीएं। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। इन तीन महीनों में बच्चे के अंग बनने शुरू होते हैं। ऐसे में खाने की मात्रा से ज्यादा उसकी क्वॉलिटी पर ध्यान देना जरूरी है। हर 2 से 3 घंटों में नियमित मात्रा में कुछ ना कुछ जरूर खाते रहें जो हेल्थी हो . आप स्वस्थ गर्भावस्था के लिए, आहार को संतुलित और पौष्टिक होने की आवश्यकता होती है - इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और वसा का सही संतुलन होता है . आपको इस समय आयरन, फ़ोलिक ऍसिड , वाइटमिन्स आदि की सही मात्रा की जरुरत होती है . कुछ फ़ूड आइटम जैसे - डेरी प्रॉडक्ट दूध , दही , पनीर , sabhi दालें , आलु , एग फल जैसे - अनार , सेव केला चीकू , mausambi सभी ड्राइ फ्रूट्स लें .इसके साथ ही हरी सब्ज़ी पालक , मुनगा , चुकन्दर , कद्दू , टमाटर आदि सभी को डायट में शामिल करें . आप करेला baigan पपीता पाइनएप्पल सुरन चाय कोफ़ी मैगी ज़्यादा स्वीट्स अल्कोहल कोल्ड ड्रिन्क्स का सेवन प्रेग्नेसी में ना करे इन बातों का रखें खास ख्याल rakhe भारी वजन न उठाएं , ज्यादा डांस न करें ,सीढ़ियां नहीं chade हील न पहनें ,ज्यादा ड्राइविंग न करें ,लंबी यात्रा न करें कमर से झुकने के बजाय घुटने मोड़कर बैठें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri delivery ko 2.30 mnth hue... mai ab kya kya kha sakti hu or kya nhi
उत्तर: Delivery के बाद ऐसा कुछ नहीं है जो आप नहीं खा सकते. घर का बना सारा पौष्टिक खाना खाये. ज्यादा स्पाइसी और ऑयली और बहार का जंक फ़ूड न ले. फ्रूट्स और डॉयफ्रुइट्स ले. दूध कम से कम २ गिलास पिए. उसमे शतावरी मिला सकते हो. जिससे आपको दूध ज्यादा आएगा. सभी हरी पत्ती वाली सब्जिया जरूर ले. नारियल पानी पिए. दूध दही छाछ ज्यादा ले. डिलीवरी के बाद आप सब खाना खा सकते हो. इससे बच्चे को कोई परेशानी नहीं होती है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 11मंथ हुए है क्या मैं फिश खा सकती हूं ...??
उत्तर: हेलो आप प्रेग्नेंसी में कभी भी फिश खा सकती है ं यह आपके और बेबी दोनों के लिए बहुत फायदेमंद है प्रेग्नेंसी में फिश खाने से बेबी को सांस से संबंधित बीमारी कभी नहीं होती यह बच्चों को अस्थमा से बचाता है लेकिन फिश खाने के बाद उस दिन दूध बिलकुल ना पिए और ज्यादा मात्रा में फिश ना खाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें