38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: let bhi nhi pa rahe hu bht taqlif ho rahe h plz kuch btaye

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों आप 38 वीक्स प्रेगनेंट है आपको क्या तकलीफ है आपके सवाल से क्लियर नही है वैसे भी आपकी डिलिवरी नजदीक है . प्रेग्न्सी के अन्तिम अवस्था में कमर पेट वैजिना पीठ पैर में दर्द होना नॉर्मल है क्योकी अब तक बेबी पोजिशन चेंज कर चुका हुआ होता है और माँ और बच्चे दोनों का वेट बड़ा हुआ होता है . इस समय आप आराम करे खुद को पॉजिटिव रखें सब अच्छा होगा . दर्द ज़्यादा हो तो डॉक्टर से सलाह ले ले .लेकिन जब दर्द समय के साथ बढ़े .लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो। इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो।अगर आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो।आपका बच्चा तरल पदार्थ की एक थैली से सुरक्षित रहता है। यह प्रसव पीड़ा के दौरान टूटता है और पानी गिरना शुरु हो जाता है। यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो।आपको बुखार, सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: hlo mam mera beta 3 month ka h usko bht jukham ho gya shas bhi nhi le pa rha thik s bht ghawra rha h डॉक्टर ko bhi btaya fir bhi kuch nhi hua plz help me
उत्तर: हेलों आप की बच्ची 3 महीने की है बच्चे को सर्दी है बच्चे को सर्दी है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चे को कफ है तो बेबी को nebulize मशीन से करवाये बच्चे को कफ से राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर सँवरे 8 से 10 बजे की धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखें।डायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Do din se bht vomiting ho rhi h. Kuch bhi kha nhi pa rhi hu. Second trimester me to nhi hoti h vomit fir bhi ho rhi h. Bht acid bhi ban rha h. Sar me bht dard bhi h. Plzz help.
उत्तर: Agar apko vomiting ho rahi h to aap koi bhi junk food na khaye or fruit juice pie mosambi juice is best or jo bhi khaye thoda thoda kr k khaye & tea, coffee avoid kare
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: bahut acidity ho rahi hai kuch bhi nahi kha pa rahe plz help me
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेंसी में आपके शरीर में अनेक प्रकार के बदलाव होते हैं कुछ हारमोनल चेंजेस होते हैं जिसके कारण बॉडी की गतिविधियां एवं पाचन की प्रक्रिया भी धीमी पड़ जाती है इसके लिए आपको अपने खानपान एवं जीवन शैली में कुछ परिवर्तन करने होंगे और कुछ घरेलू उपाय भी कर सकते हैं जिससे आपके एसिडिटी की समस्या कम होने लगेगी १: आप अपने भोजन में 8 से 10 गिलास पानी पीजिए पानी सभी रोगों को दूर करने व एसिडिटी को कम करने में बहुत ही सहायक होता है २: खाने में मिर्च मसाले तेल से तले हुए चटपटे खाने लेना कम कर दे क्योंकि यह एसिडिटी भी हो और भी बढ़ावा देते हैं ३: आप अपने भोजन में दही छाछ का प्रयोग करना प्रारंभ कर दीजिए छाछ के प्रयोग से आपका खाना अच्छी तरह से पचने लगेगा और एसिडिटी की समस्या कम हो जाएगी ४: जब भी आपको एसिडिटी बढ़ने लगे आप हल्का गुनगुना पानी लें और उसमें नींबू मिलाकर पीजिए इससे एसिडिटी में आपको राहत मिलेगी ५: जब भी खाना खाएं गरम हुआ ताजा ही भोजन करें और भोजन एक साथ अधिक मात्रा में ना लेकर थोड़ी-थोड़ी मात्रा में चार से पांच बार ले सकते हैं ६: अपने खाने में हरी पत्तेदार सब्जियों चुकंदर गाजर मूली का प्रयोग करें यह फाइबर युक्त होते हैं और उनके प्रयोग से आपकी एसिडिटी कम होने लगेगी ७: अपने खाने में आप जीरा अजवाइन कड़ी पत्ता का प्रयोग करें यह भोजन को बचाते हैं और एसिडिटी को रोकने में बहुत ही सहायक होते हैं इस प्रकार के उपायों को आजमाइए आपकी समस्या का जल्द ही निदान होगा टेक केयर
»सभी उत्तरों को पढ़ें