32 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kya stan se risaw na hona koi problem hai

1 Answers
सवाल
Answer: बिल्कुल भी नहीं ब्रेस्ट से रिसाव हार्मोनल चेंजेस की वजह से होता है जब आप गर्भवती होते हैं तभी से आपके ब्रेस्ट बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग करवाने की तैयारी शुरू कर देते हैं निपल्स संवेदनशील और सूजे हुए हो जाते हैं प्रेगनेंसी के शुरूआती सिम्टम्स में से एक है यह शरीर में हार्मोन के बढ़ने की वजह से होता है निप्पल्स के चारों तरफ की त्वचा काली भी थोड़ा गहरा लग सकता है और उस पर छोटे-छोटे उभार दिखाई दे सकते हैं बच्चे को ब्रेस्टफीडिंग की तरफ अट्रैक्ट करने के लिए यह एक नेचुरल तरीका है इसलिए आपका बच्चा जन्म के बाद से ही अपने आप निपल्स की तरफ अट्रैक्ट हो जाता है निपल्स में दूध बच्चे के जन्म के बाद से ही आना शुरू होता है आपके ब्रेस्ट काफी भारी और भरे हुए दिखाई देंगे डॉक्टर से सलाह अवश्य लें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kya pait jyada bada hona se koi problem to nahi hai
उत्तर: प्रेग्नस्य के दौरान बहुत लोगो को इस बात से बहुत प्रॉब्लम होती है कि समय के अनुसार पेट क्यों नहीं निकल रहा लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है जरुरी नहीं है कि दुसरो के अपेछा आपका पेट काम दिख रहा है या ज्यादा पेट के काम या ज्यादा दिखने से कोई फर्क नहीं पड़ता है ये सबके सरीर के ऊपर निर्भर करता है महीना का वजन प्रेग्नस्य में तीन भागो में बात जाता है एक तो माँ के सरीर कि चर्बी,बच्हे का वजन,ओर वह थैली जिसमे बच्चा रहता है इसमें पानी का वाजण। इस्लिये कभी कभी माँ कि चर्बी बहुत काम रहती है ,ओर पानी कि मात्रा भी ज्यादा नहीं रहता जितनी जरुरत है इतनी ही रहती है,लेकिन बच्चे का वजन सही बढ़ता है जिससे उनका पेट ज्यादा नहीं दिखाई देता इसके जस्ट उल्टा कई महिलाओ के बच्चो कि थैली में पानी ज्यादा रहता है,ओर माँ कि चर्बी भी ज्यादा रहता है और साथ में उनका पेट भी बहुत ज्यादा दिखाई देता है लेकिन बच्चा पैदा होने के बाद कमजोर रहता है इस्लिये पेट से बच्चो का अंदाजा लगाना मुश्किल है और नहीं लगाना चाहिए भी कयूंकि सही अंदाजा भी लगा सकते इस्लिये समय समय में अल्ट्रासाउंड करते रहने से बच्चे का वजन पता चलता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Muje stan me dard hota he kabhi kabhi to koi problem to nai hoga na ??
उत्तर: हेलो प्रेगनेंसी के शुरुआती दिनों में यह सारी तकलीफें होती है। जैसे-जैसे प्रेगनेंसी का टाइम आगे बढ़ते जाता है शरीर के अंदर हार्मोनल चेंजेज होते हैं जिसके कारण शरीर में विकास होने लगता है पेट बढ़ने लगता है और ब्रेस्ट में दूध भराने से ब्रेस्ट की साइज में बड़ी होने लगती है। जिसके कारण ब्रैस्ट में पैन भी होता है। इस दौरान आप ज्यादा टाइट ब्रा ना पहने और ना ही ज्यादा ढीली पहने। आपकी ब्रेस्ट ना तो ज्यादा लटकनी चाहिए और ना ही ज्यादा टाइट बंधी होनी चाहिए। आप नहाते समय गुनगुने पानी में नमक डालकर नहाएं। इससे पूरे दर्द से राहत मिलेगी ब्रेस्ट पर रात में सरसों का तेल लगाकर सोए जिससे दर्द से आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere stan me se likage hoti h..koi problem to nh na
उत्तर: हॉर्मोनों के बढ़ने के कारन दुग्ध ग्रंथियां कई गुना बढ़ जाती हैं और रक्त का प्रवाह भी बढ़ जाता है। आपके स्तन अब थोड़े बड़े होने लगेंगे और इससे कुछ चीपचीपा सा निकलता है। ये बदलाव आपके स्तनों को शिशु को स्तनपान करवाने के लिए तैयार कर रहे हैं।और यह नारमल है।ईसमें से जो गाढा़ सफेद चीपचीपा सा कुछ निकलता है। वह दूध बच्चे को पोशड़ देने के लिये तैयार है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें