11 weeks pregnant mother

Question: Kya pregnancy me sharir kala padta hai

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप बिल्कुल भी टेंशन ना ले आपकी बॉडी में प्रेगनेंसी के कारण होने वाले हार्मोनल चेंजेज हो रहे हैं इसके कारण अपनी बॉडी का कलर चेंज हो गया है या डार्क हो गया है इससे आपके बेबी पर कोई भी इफेक्ट नहीं पड़ेगा आप अपनी डाइट का पूरा ख्याल रखें हेल्दी चीजे खाए टेंशन बिल्कुल भी ना ले मन खुश रखे वह करें और खूब सारा पानी पिएं ओके टेक केयर
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kala kusmish khana chahiye pregantcy me या nai .. baby ka colour par effect padta h kya
उत्तर: Kishmish iron ka good source hai aur isse baby ke colour par koi effect nhi padega, baby ka gora ya kala jona unke parents ke colour ke according hota hai, naryal pani se 1-2 shade colour fair kar sakte hain
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Me 1 month 6 days se pragnat hu kya kala angur kha sakte hai kya vo garam padta hai vo hanikarak hai
उत्तर: हेलो डियर , प्रेगनेंसी में काले अंगूर का सेवन ज़्यादा नही करना चाहिये , क्युकी काले अंगूर की तासिर गर्म होती है , काले अंगूर के छिलके पेट में जाकर अच्छे से पच नही पाता है और इसे अदिक खाने से ऍसिडिटी भी हो सकता है !
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam delivary k kitne din bad pet ka or baki sharir ka b rng kb shi hoga....jo poora sharir kala pd gya kb theek hoga
उत्तर: प्रेगनेंसी के समय जो शरीर में आए बदलाव होते हैं उसे ठीक होने में लगभग 6 महीना लग जाते हैं इसलिए आप चिंता ना करें अगर आपका शरीर काला पड़ गया है तो यह धीरे-धीरे अपने सामान्य अवस्था में आ जाता है और इसके लिए कुछ घरेलू उपचार भी कर सकते हैं अगर पूरे शरीर में कालापन है तो आप ज्यादा अच्छा होगा कि अपने नहाने के पानी में हमेशा नींबू डालकर नहाए और ज्यादा अच्छा होगा कि हमेशा हल्का गुनगुना पानी से नहाए इसे आप का कलर साफ होगा और हफ्ते में एक बार आप ubtan लगा सकते हैं हल्दी दूध और बेसन से बनी हुई ओपन आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है इससे शरीर पर कलर बहुत जल्दी साफ होता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hello mem kya pregnancy me palthimod kr beth sakte hai uthne per pet me jor padta hai kya
उत्तर: Sitting with your legs crossed is known to raise blood pressure and can also disrupt the blood circulation causing varicose veins. Some pregnant women are advised to sit cross-legged. For many people, it is a preferred habit of sitting cross-legged during mealtimes. Good posture while sitting improves muscle function, mental health, concentration and blood flow. The most important reason is that it helps in the progression of labour. Expectant ladies should avoid a sedentary lifestyle by stretching and taking walks frequently, and the main focus should be on sitting up straight. It can be safely assumed that it is safe to sit cross-legged as long as it feels comfortable during pregnancy.
»सभी उत्तरों को पढ़ें