22 weeks pregnant mother

Question: Kya Me nonveg kha sakti hu. Egg, chicken, mutton.

सवाल
Answer: ऑफकोर्स
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Me nonveg kha salt hu kya..egg, chiken, mutton
उत्तर: हेलो डियर आप नॉनवेज खा सकती हैं लेकिन ध्यान रखें कि आप जब भी नॉनवेज बनाएं तो सफाई से बनाएं और और नॉनवेज को अच्छी तरीके से पका लें कभी भी अधपक्का और कच्चा नॉनवेज ना खाएं। आप नॉनवेज का सेवन उचित मात्रा में ही करें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya mai nonveg egg kha sakti hu ???
उत्तर: आप नॉनवेज खा सकती है , आंप चाहे तो हफ़्ते मे एक बार ज़रूर खा सकती है , बस आपको धयान रखना है की जो भि आप खायें वो अच्छी तरह से पका हो , अधपका ना हो अंडे कभी भी खाए जा सकते हैं , और इनमें प्रोटीन की काफी मात्रा होती है, इसमें मौजूद एमिनो एसिड माँ और बच्चे दोनों के लिए अच्छा होता है, इसमें एक दर्जन से ज़्यादा विटामिन एवं मिनरल्स होते हैं. इसमें मौजूद कॉलिन से बच्चे के मस्तिष्क का विकास होता है, इस बात का ध्यान रखें कि अधपके या कच्चे अंडे ना खाएं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya chicken fish egg kha sakti hu
उत्तर: हेलों आप 5 महीने प्रेगनेट है आप चिकन फिश एग खा सकती है इसमें कोई प्रॉब्लम नही है चिकन घर का बना हुआ, कम ऑयली कम मिर्च मसालों wala और फ्रेश होना चाहिए चिकन में प्रोटीन आयरन ज़िन्क वाइटमिन्स सब कुछ पाया जाता है जो आपके और आपके बेबी के हेल्थी ग्रो करने के लिए ज़रूरी होता है इसमें कई प्रकार के मिनरल होते हैं जो इम्‍यून सिस्‍टम को तेज बनाता है।  अंडे में सेलेनियम, विटामिन जैसे ए और डी होते हैं जो कि गर्भावस्था के दौरान आवश्यक हैं। अंडे में बहुत सारा प्रोटीन, फैट, मिनरल और अन्‍य पोषक तत्‍व पाया जाता है अंडे में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो कि शिशु के पूरे शरीर के साथ दिमाग का अच्‍छे से विकास करता  है कभी भी कच्‍चा या आधा उबला अंडा नहीं खाना चाहिये। इससे आपके शरीर में इंफेक्‍शन फैल सकता है। यह इंफेक्‍शन दस्त और उल्टी आदि की समस्‍या पैदा कर सकता है। ठीक से उबला हुआ या पकाया अंडा ही खाएं।दिन भर में दो अंडे से ज़्यादा ना खायें गर्भावस्था में मछली खाना मां और बच्चे दोनों के ही लिए फायदेमंद होता है. गर्भावस्था में महिला को साल्मन, ट्राउट, ट्यूना मछलियों का सेवन करना चाहिए lगर्भावस्था में मछली खाने से होने वाली संतान को सांस से जुड़ी समस्याएं होने का खतरा कम हो जाता है और फिश खाने से बच्चे को अस्थमा होने का खतरा कम होता है फिश में ओमेगा 6 पाया जाता है जो बच्चे का मानसिक विकास के लिए अच्छा होता है इसमें प्रोटीन, विटामिन डी जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो एक बच्चे के विकास के लिए हेप्पफ़ुल है
»सभी उत्तरों को पढ़ें