8 महीने का बच्चा

Question: kya mam formula milk se baby mote hote pls mam btaiye

2 Answers
सवाल
Answer: ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि बच्चे फॉर्मूला मिल्क से मोटे होते हैं बच्चे तंदुरुस्त मां के दूध से ही बन सकते हैं क्योंकि बच्चों के लिए मां का दूध ही सबसे ज्यादा सुरक्षित और पाचक होता है और अगर मां पौष्टिक आहार ज्यादा से ज्यादा खाए तो उसके दूध की क्वालिटी अच्छी होगी और बच्चे तक वह nutrition दूध के जरिए पहुंचेगी. जीके आहार के लिए गाय के दूध का प्रयोग किया जा सकता है लेकिन सिर्फ लाने के लिए गाय का दूध अभी बिल्कुल भी ना दें और अगर आप बच्चे की तंदुरुस्ती चाहते हैं तो 1 साल तक आप सिर्फ मां का दूध पिलाएं और जो भी ऊपरी आहार है वह समय से खिलाए लेकिन मां के दूध की देने के बदले फॉर्मूला मिल्क बिल्कुल भी ना दें
Answer: हेलो डियर ऐसा बिल्कुल भी नहीं है आप अपने बच्चे को जितना अपना दूध पिलाएंगे बच्चा उतना अंदर से हल्दी बनेगा मोटा होने से डियर कुछ भी नहीं होता है बच्चा जल्दी-जल्दी बीमार नहीं पड़े बच्चा एक्टिव रहे उसी को डॉक्टर भी हेल्दी चाइल्ड कहते हैं इसलिए डियर मोटापे की तरफ ध्यान ना देकर बच्चे को हेल्थी बनाएं और अपना दूध पिलाएं क्योंकि मां का दूध अमृत समान माना गया है जो बच्चे 6 महीने तक मां का दूध पीते हैं बीमारी से बचे रहते हैं जल्दी से बीमार नहीं पड़ते हैं इसलिए अपने बच्चे को 2 साल तक अपना ही दूध पिलाएं
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: pls mam btaiye formula milk se baby ka helth acha hota pls tell me
उत्तर: hello dear. breast milk k baad formula milk hi sahi hota hai babies ke liye. cow milk aap ek year ka baby hone k baad hi de. formula milk me aap use nanpro ya other de sakti hain.
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Formula milk pilane se baby mote dikhte hai. Kya ye pilana sahi h
उत्तर: बेबी का लिए मां का दूध सर्वोत्तम है मा का दूध नहीं हो रहा है तो उसे फार्मूला मिल्क ही सही हाँ
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Hello mam .......lactogen1 formula milk baby ke kaisa h....?? Yaa fir esase achha formula milk btaiye....
उत्तर: हेलो डियर जब तक बच्चा 6 महीने का ना हो जाए आप अपने बच्चों को फॉर्मूला मिल्क बिल्कुल भी ना दें, आप उसको सिर्फ अपना स्तनपान है कराये, इससे बच्चे की सेहत अच्छी होगी। बाहर का दूध उसके लिए नुकसानदायक हो सकता है क्योंकि बच्चों का पेट बहुत ही नाजुक होता है जिसको ऐसा कभी बाहर को देती है तो उसको हजम नहीं हो सकता है और उसके पेट में इन्फेक्शन भी हो सकता है लेकिन अगर आपको किसी कारणवश हम बाहर का दूध देना पड़ रहा है तो आप एक बार अपने डॉक्टर से राय जरूर लेना कि बच्चे के लिए कौन सा दूध ठीक रहेगा क्योंकि बाहर के सभी फार्मूले मिल्क अलग-अलग तरह के होते है। इसीलिए आपको बच्चे के लिए कौन सा मिल्क अच्छा रहेगा ये डाक्टर ही ज्यादा बेहतर बता पाएगें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Formula milk se potti hard hote h kya? aur potti hone me taklif hote h kya?
उत्तर: हेलो डियर हां फॉर्मूला मिल्क से ऐसा हो सकता है बच्चों को फॉर्मूला मिल्क कभी-कभी अच्छे से डाइजेस्ट नहीं होता इसलिए जो बच्चे फॉर्मूला मिल्क पीते हैं उनमें यह परेशानी होती है कि उन्हें पाॅटी करने में तकलीफ होती है और पॉटी हार्ड होती है ।
»सभी उत्तरों को पढ़ें