गर्भावस्था की तैयारी

Question: pcos kya hai plz btaye

1 Answers
सवाल
Answer: question thik से likho dear
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: PCOS kya hota h plz Ans
उत्तर: डियर ..PCOD महिलाओं में पाया जाने वाला एक ऐसा रोग है जिसमें उनके अंडाशय में छोटी छोटी गाँठें बन जाती है. रोग महिलाओं में मासिक धर्म में अनियमितता और उनकी प्रजनन शक्ति में कमी का कारण भी बनता है. जिससे महिलाओं को गर्भधारण करने तक में दिक्कतें आने लगती है. जब महिलाओं में Androgen हॉर्मोन सामान्य से अधिक बनने लगता है तब इस रोग की संभावनाएं बढ़ जाती है. .इस रोग का मुख्य कारण आजकल की चिंता,खाने-पीने मे अनियमितता,असंतुलित आहार, मोटापा और मधुमेह ही है गर्भधारण में परेशानियां या बार बार गर्भपात PCOD के लक्षण है. आप कभी भी गर्भधारण करने के पहले एक बार अपना pcod का टेस्ट जरूर करवाएं . ओके
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya pcos me kya hota h btaye or pregnency ku ni rukti
उत्तर: पीसीओएस आजकल के समय में में महिलाओं में होने वाली एक आम समस्या है जिसके इसके कारण महिलाओं के ओवरी में सिस्ट या गांठ हो जाती है पीसीओएस को पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी कहते हैं yeh ek aisi समस्या है है जो महिलाओं में हार्मोनल असंतुलन के कारण पाई जाती है जब महिलाओं के शरीर में में मेल हार्मोन एंड रोगन स्तर बढ़ जाता है का स्तर बढ़ जाता है और महिलाओं की ओवरी में एक से ज्यादा सिस्ट हो जाते है किसी महिला में पीसीएस की प्रॉब्लम के बहुत सारे लक्षण होते हैं जैसे कि चेहरे पर ढेर सारे बाल का निकलना पूरे शरीर पर हेयर ग्रोथ करना चेहरे में मुहांसे निकलना बालों का झड़ना तैलीय त्वचा होना पेल्विक एरिया में दर्द करना यह सब पीसीओएस के लक्षण होते हैं यह समस्या से ज्यादा तनाव और वजन बढ़ने से हो सकता है ,per ये कोई बहुत बाडी बीमारी नही है जिसकी वजह से आप कन्सिव ना कर पाये ..आप बस अपनी लाइफ स्टाइल बदले , रोज सुबा और शाम वॉक करे , वज़न जयाद है तो कम करे , कोशिश करे की मैदा , ब्रेड शक्कर राइस कम से कम खायें , रोटी खायें . फ्रूट खायें . जितना हो सकें ऑयल से बनी चीज़ें ना खायें . इन सब से pcod कंट्रोल होगा और आप कन्सिव कर पाएगी . सबसे ज़रूरी बात स्ट्रेस कम करे स्ट्रेस मे कन्सिव करना मुश्किल होता है ,
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pcos mai fruits नही khate hai kya ?
उत्तर: hello dear Pcod ya pcos एक ऐसी मैडिकल कंडीशन है जो महिलाओं मे होर्मोनल असन्तुलन के कारण पाई जाती है। इसमे महिला के शरीर मे पुरुष होर्मोन का स्तर बढ़ जाता है। और ओवरी मे एक से ज्यादा सिस्ट हो जाती हैं। इसको पोल्य्सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम या पोल्य्सिस्टिक ओवरी डिसऑर्डर के नाम से जानते हैं। इसके सिम्पटम्स वजन बढ़ना, अनियमित पीरियड होना, शरीर पर ज्यादा बालो की ग्रोथ होना, मुहासे हो सकते हैं। वैसे तो इसका इलाज डॉक्टर से करवाना ठीक रह्ता है लेकिन आप कुछ घरेलु उपाय भी कर सकती हैं। सबसे पहले अपनी जीवन शैली मे थोड़ा बदलाव करे। मसालेदार और जंक फूड बिल्कुल ना लें। साथ मे दालचीनी गरम पानी मे मिलाकर रोज पिये। अलसी को भी पानी मे मिलाकर पिया जा सकता है। मेथी को रात भर पानी मे भिगो दें सुबाह मेथी दाना शहद के साथ खाएं। एप्पल साइडर विनेगर सुबह २ स्पून १ ग्लास पानी मे मिलाकर पियें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें