39 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: koi bta skta h mujge sardi jukam bar bar q ho rha h mera kl 10 lg jayega delevery v najdik h koi problm to ni h na koi jwab do plz jldi kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: जैसे ही महिलाएं गर्भवती होती हैं उन्हें जल्दी इन्फेक्शन हो जाता है। क्योंकि उनकी बॉडी बहुत ही सेंसिटिव हो जाती है प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है 1) सर्दी खांसी से खुद को बचाने और गर्भावस्था में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आपको अपने डायट में ताजे फल सब्जियां और साबुत अनाज शामिल कर सकती हैं। 2) तरल पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए जैसे अदरक वाली चाय हर्बल चाय और फलों का जूस 3) ज्यादा थके नहीं आराम करें आप जितने आराम से रहेंगे आपको इन्फेक्शन उतना ही कम होगा 4)खासी आने पर ईलायची मुंह में लेखर चुसें। उपाय-- सर्दी होने पर अक्सर नाक बंद हो जाता है तो आप गर्म पानी गर्म पानी का मशीन से भाप ले सकती हैं इसमें आप दो तीन बूंद नीलगिरी का तेल डाल ले इससे सिर के ऊपर तो लिया ढक कर अपना सर बर्तन के ऊपर झुकाकर भाप लें इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और सर दर्द कम हो जायेगा और सर्दी से भी राहत मिलेगी साथ ही अगर गले में भी दरद या टांसील हो तो गरम पानी में नमक डालकर दीन में चार पांच बार तो राहत मिलेगी आप तुलसी अदरक का रस आधा आधा चम्म्च लेकर शहद मीलाकर पी सकती हैं।इससे सर्दी खांसी में राहत मीलेगी। गुनगुने गर्म पानी में शहद और नींबू डालकर आप इसे पी सकती हैं अगर आपकी सर्दी खांसी ठीक नहीं हो रही है और आप को तेज बुखार है तो आप को बिल्कुल भी देर नहीं करना चाहिए डॉक्टर से कंसल्ट करें और अपनी मर्जी से कोई भी दवाई ना ले .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: मेरी बेटी 8 मंथ की hai usko sardi jukam hogya h ...thk hi ni ho rha h doc se v dikha di.. dwa v de bt koi fayeda ni.. naam v bnad ho jate h.kya kru us
उत्तर: हेलो डियर मैं आपके साथ कुछ टिप्स शेयर कर रही हूँ जिससे आपको मदद मिल पाएगी, माँ का स्तनपान शिशु के रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ता है और इतना सक्षम बनता है की शिशु विषाणुओं (virus), जीवाणुओं (bacteria) और रोगाणु (germs) से लड़ सके।  एक तवा या भारी तली वाले बर्तन पर अजवाइन के 2 बड़े चम्मच ले और उन्हे कम आँच पर भुन लें| एक साफ मलमल अथवा कॉटेन के कपड़े में भुना हुआ अजवाइन डालकर एक पोटली बना ले। इस पोटली से अपने बच्चे की छाती पर सेक करें| यह सिकाई से सांस चलने और श्वास-कष्ट में तुरंत राहत मिलती है। यह सर्दी अथवा बंद नाक खोलने में भी बहुत लाभदायक है| कृपया पहेले खुद पर पोटली लगा कर सुनिश्चित करें कि पोटली ज़्यादा गर्म नही है, इस के बाद अपने बच्चे पर इसका इस्तेमाल करे. बड़े लहसुन की कलियाँ और एक बड़ा चम्मच अजवाइन को तवे पर भुन लें| थोड़ा ठंडा होने पर एक साफ मलमल के कपड़े के साथ एक पोटली बना लें| अब इस पोटली को बच्चे क़ी सोने की स्थान / पालने के पास रख दें | पोटली से लहसुन और अजवाइन की सुगंध / अरोमा से बंद नाक खोलने में मदद मिलती है लहसून के कुछ फाकों को सरसों के तेल में भून लीजिये। इस तेल को शिशु की गर्दन, छाती, पीठ और पैर के तलुओं पे लगाइये। शिशु को सर्दी, खांसी और जुकाम से राहत पहुंचेगा। शिशु को सोते वक्त उसके छाती से ऊपर के हिस्से को तकिये की सहायता से उठा देने से शिशु को साँस लेने में सहूलियत मिलता है और शिशु रात को चैन से सो पाता है। गरम पानी का भाप एक बेहतरीन तरीका है शिशु के नाक और छाती में जमे कफ (mucus/बलगम) को बहार निकलने का. अभी आप अपने बच्चे को हल्का गुनगुना सूप चाहें तो वो वेजिटेबल हो या चिकन सूप या फिर दाल का सूप भी दे सकते हैं इससे बच्चे को पीने में अच्छा लगेगा सर्दी जाने में थोड़ा टाइम डियर लगता ही है अपने बच्चे को अच्छे से कवर करके रखें ठंड ज्यादा पैरों से चढ़ती है इसलिए socks का इस्तेमाल जरूर करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mujhe kl se9mth lg jyga aj mrg mai vargina m drd ho rha h bhar pad rha h plz koi problm to ni h
उत्तर: यह परेशानी ज्यादातर प्रेगनेंसी में महिलाओं को होता ही है। यह दर्द गर्भाशय में बच्चे के बढ़ने के कारण पड़ने वाले दबाव के कारण योनि और उसके आसपास दरद होता है कभी-कभी मांसपेशियों और हड्डियों पर पड़ने वाले दबाव के कारण योनी में दर्द के साथ सूजन भी हो सकती है यह दर्द बच्चे के जन्म के साथ ही खत्म हो जाता है आपको इस स्थिति में अधिक से अधिक आराम करना चाहीये।जादा खडे़ चलन और सिढी़ नही चढ़ना नही चाहीये अधिक हसहजता या दरद होने पर एक बार डाक्टर से कंसल्ट जरुर कर लें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा baby green colr ki poty kr rha h koi problm to nhi h na aj usne do din bad ki h poty plz mujhw jldi jwab de
उत्तर: हेलो डीयर वैसे हरा मल बहुत common होता है बेबी मे। ये कई कारणो से होता है है जैसे-- बेबी को सर्दी हो। बेबी मदर फ़ीड पर हो और मदर ने कुछ हरा खाया हो। बेबी को infection या डायरिया हो। बेबी को digestion issue हो। आप ध्यान दे क्या बेबी को पेट मे दर्द है या मल मे बहुत ज्यादा अजीब smell है तो digestion की दिक्कत हो सकती है। इस condition मे डॉक्टर को दिखाएं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें