3 महीने का बच्चा

Question: mje dood km aata hai maira baby bhukha rh jata hai kya mai use cow ka dood deskti hu abvi to 3month ka huaanhi hai

4 Answers
सवाल
Answer: अगर आप बच्चे को दूध पिलाती हैं और वह दूध पर्याप्त नहीं हो रहा है बच्चे के लिए तो घरेलू ऐसे बहुत से उपचार hai jo aap कर सकती हैं .जैसे की खजूर,खोपरा ,दूध ,मक्खन ,घी ,शतावरी, अमृता आदि का सेवन करने से आपको दूध काफी बनेगा.मक्खन मिश्री के साथ में खाए .चने khaye .गाय के दूध में चावल का दलिया खाएं इन सभी चीजों को करने से आपको दूध पर्याप्त मात्रा में बने लगेगा. महिलाओं में खून की कमी के कारण भी कभी कभी दूर नहीं बनता इसलिए आप पपीता खा सकते हैं. अंगूर खाए मुनक्का खाएं गाजर खाएं प्याज खाने से भी दूध बनने में वृद्धि होती है .उड़द की दाल में घी मिलाकर खाने से भी आपको फायदा होगा .शतावर की जड़ का चूर्ण दूध में लेने से बहुत फायदा होता है.यह करें साथ ही पानी भी काफी मात्रा में पिए इन सभी से आपको बहुत फायदा होगा. बच्चे के 1 साल होने के बाद है उसे गाय का दूध देना चाहिए .6 महीने तक के बच्चे के लिए आप जो भी खाना बनाती हैं उसमें आप गाय का दूध इस्तेमाल कर सकते हैं. पर दूध पीने के लिए बिल्कुल भी ना दें. गाय के दूध में पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं होता. जिससे कि उसके शरीर एनिमिक होने की समस्या हो सकती है . मां के दूध में और फार्मूले में गाय के दूध की तुलना में आयरन ज्यादा होता है इसलिए आप 1 साल तक गाय का दूध बिल्कुल भी ना दें
Answer: बच्चे के 1 साल होने के बाद है उसे गाय का दूध देना चाहिए .6 महीने तक के बच्चे के लिए आप जो भी खाना बनाती हैं उसमें आप गाय का दूध इस्तेमाल कर सकते हैं. पर दूध पीने के लिए बिल्कुल भी ना दें. गाय के दूध में पर्याप्त मात्रा में आयरन नहीं होता. जिससे कि उसके शरीर एनिमिक होने की समस्या हो सकती है . मां के दूध में और फार्मूले में गाय के दूध की तुलना में आयरन ज्यादा होता है इसलिए आप 1 साल तक गाय का दूध बिल्कुल भी ना दें .अगर आप बच्चे को दूध पिलाती हैं और वह दूध पर्याप्त नहीं हो रहा है बच्चे के लिए तो घरेलू ऐसे बहुत से उपचार hai jo aap कर सकती हैं .जैसे की खजूर,खोपरा ,दूध ,मक्खन ,घी ,शतावरी, अमृता आदि का सेवन करने से आपको दूध काफी बनेगा.मक्खन मिश्री के साथ में खाए .चने khaye .गाय के दूध में चावल का दलिया खाएं इन सभी चीजों को करने से आपको दूध पर्याप्त मात्रा में बने लगेगा.महिलाओं में खून की कमी के कारण भी कभी कभी दूर नहीं बनता इसलिए आप पपीता खा सकते हैं. अंगूर खाए मुनक्का खाएं गाजर खाएं प्याज खाने से भी दूध बनने में वृद्धि होती है .उड़द की दाल में घी मिलाकर खाने से भी आपको फायदा होगा .शतावर की जड़ का चूर्ण दूध में लेने से बहुत फायदा होता है.यह करें साथ ही पानी भी काफी मात्रा में पिए इन सभी से आपको बहुत फायदा होगा
Answer: हेलो डियर छह महीने से छोटे बच्चे को किसी ऊपर की चीज की जरूरत नहीं पड़ती है यहां तक कि पानी की भी जरूरत नहीं पड़ती हैं आप अपने बच्चे को अपना ही दूध पिलाएं आप अपने दूध को बहुत ही आसानी से बढ़ा सकते हैं जैसे कि आप अपनी हर चीज में ज्यादा से ज्यादा जीरे का प्रयोग करें साथ ही हरी सब्जियां सभी तरह की दालें अंडा चिकन दूध पनीर आदि ये सब ज्यादा से ज्यादा लें इससे आपका दूध बढ़ेगा और बच्चे को पूरी तरह से पोषण मिल पाएगा यदि आप ऊपर का दूध फिर भी देना चाहते हैं तो पाउडर वाला यानि कि फार्मूला दूध आप दे सकते हैं वो भी आप डॉक्टर से कंसल्ट करके ही देख क्योंकि डॉक्टर आपको इस बारे में अच्छी राय दे पाएंगे बच्चे के वेट के अक्कोर्डिंग कौन सा फार्मूला दूध बेबी के लिए सही रहेगा प्लीज आप गाय का दूध बच्चे को बिल्कुल भी ना दें गाय के दूध में शिशुओं के लिए पर्याप्त आयरन नहीं होता। शिशु के एक साल का होने से पहले स्तन दूध की बजाय गाय का दूध देने से, शिशु में आवश्यक पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। इससे एनीमिया (रक्त में आयरन की कमी) भी हो सकता है। गाय का दूध शिशु के गुर्दों पर जोर डालता है और दूध के प्रति एलर्जी भी हो सकती है। 
Answer: नही 3 महीने के बच्चे को सिर्फ़ आप्ना दूध पिलये गाय के दूध से आयरन पुरा नही मिलेगा . अगर आप बच्चे को दूध पिलाती हैं और वह दूध पर्याप्त नहीं हो रहा है बच्चे के लिए तो घरेलू ऐसे बहुत से उपचार hai jo aap कर सकती हैं .जैसे की खजूर,खोपरा ,दूध ,मक्खन ,घी ,शतावरी, अमृता आदि का सेवन करने से आपको दूध काफी बनेगा.मक्खन मिश्री के साथ में खाए .चने khaye .गाय के दूध में चावल का दलिया खाएं इन सभी चीजों को करने से आपको दूध पर्याप्त मात्रा में बने लगेगा. महिलाओं में खून की कमी के कारण भी कभी कभी दूर नहीं बनता इसलिए आप पपीता खा सकते हैं. अंगूर खाए मुनक्का खाएं गाजर खाएं प्याज खाने से भी दूध बनने में वृद्धि होती है .उड़द की दाल में घी मिलाकर खाने से भी आपको फायदा होगा .शतावर की जड़ का चूर्ण दूध में लेने से बहुत फायदा होता है.यह करें साथ ही पानी भी काफी मात्रा में पिए इन सभी से आपको बहुत फायदा होगा
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: क्या मैं काऊ के दूध बेबी को डेस्क्टि हूँ
उत्तर: हेलो डियर बेबी जब 6 महीने का हो जाएगा तब आप बेबी को ऊपर का खाना खिला सकते हैं और कॉउ का मिल्क तो बेबी को 1 साल के बाद दिया जाता है इसलिए इस वक्त आपको बेबी को सिर्फ और सिर्फ अपना ही दूध पिलाते रहना चाहिए अपना और बेबी का ख्याल रखना
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe cold hua hai mai medicen le rahi hu cold ka..kya mai apna dood pila sakti hu बेबी को..mera baby 3month ka hai
उत्तर: हेलो डियर डियर आप अगर बीमार है तो अभी आप अपने बेबी को अपना दूध पिला सकती हैं क्योंकि आपके दूध में ऐसे तत्व होते हैं जो कि बेबी को बीमारी से लड़ने में मदद करते है बुखार या बीमार होने पर स्तनपान कराना बंद करना नहीं है, जब तक कि डॉक्टर ने ऐसा करने के लिए न कहा हो। अगर आप डियर ऐसे में दूध पिलाना बेबी को बंद कर देंगे तो आपकी जो ब्रैस्ट है वह और भी भारी हो जाएंगे उनमें दूध भर जाएगा और वह सोच भी जाएंगे जिससे कि आप की तबीयत और भी बिगड़ सकती है तो प्लीज ऐसा ना करें कि आप अपने बेबी को बीमार है तो दूध ना पिलाए बेबी का दूध बंद करने के कारण आपकी जो दूध की सप्लाई में भी कमी आ सकती है इससे बेबी हो और आगे चलकर दुख उठाना पड़ सकता है तो प्लीज ऐसा ना करें आप दूध पिलाते रहिए पर अगर आपके बीमारी कोई इंफेक्शन है या कोई वायरल बुखार आ रहा है आपको या कोल्ड वगैरह है आपको बार-बार अपने हाथ धोने और हाथ अपने गर्म पानी से धोया और गर्म पानी के धोने के अलावा या सैनिटाइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं अगर आपको छींक आती है या या खांसी आती है तो आप अपने मुंह और नाक को टिशू से ढकी है यूज़ करे हुए टिशू को आप डस्टबिन में डाल दें और जो रुमाल आपने अगर यूज़ किया है तो उसको आप धोने के लिए डाल दें दोबारा उसका इस्तेमाल ना करें और अपने बेबी के बीमारी के समय में अपने बेबी के मुंह में किस ना ले क्योंकि अगर आप ठीक हो जाएंगे जब तो उसमें आप किसलिए सकते हैं बट अभी किस नाले से बेबी को बीमारी होने का खतरा रहता है ध्यान दीजिए आपको जुखाम सर्दी से हो सकता हैजुखाम सार्ड गर्म से भी हो जाता है कि बार जुखाम धूल मिट्टी से भी हो जाता है हमारे नोज में धूल मिट्टी जाने के कारण हमें बार बार छीके आती है छीके आने का मतलब है कि आपको जुखाम होने वाला है जुखाम के कारण हमें गले मे सार्ड सर में दर्द व बुखार हो जाता है पूरे शरीर मे दर्द भी रहता है डिअर आपको जुखाम लगा है तो आप कुछ उपाय कर ले 1)आप तुलसी का कड़ा बना सकते है तुलसी के काडे के लिए आप थोड़े से पानी मे 1 मुठ्ठी तुलसी के पत्ते कूट कर डाले फिर आप थोड़ी सी चाय पत्ती डेल ओर चीनी ले उसे अच्छी तरह बॉईल ही जाए आधी ही छाए राह जाए तो उसे पीजिये आराम मिलेगा 2)आप अदरक का काढ़ा भी बना के पी सकते है आप पानी ले फिर उसमें अदरक डाले फिर तुलसी के पत्ते ले फिर नमक ,मोती इलयाची ओर काली मिर्च इन सबको कूट ले फिर पानी मे डाले चीनी डाले चाय पसवत्ती डाले और बॉईल करे आफ रह जाये फिर पिये आर्म मि
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: maira baby 3minth ka hogua mje lgta hai maire dood se uska pait nhi brta maiuse cow ka dood de skti hu
उत्तर: हेलो ji mem aap usko cow ka milk de sakti h but dyan rakhe ki baby usko shi se pi rha h ya nhi usko jyda dhud pilane ko force na kre agar wo ek thoda dhud pikar aur nbi pina chah rha ho forcly nhi pilaye.....okk
»सभी उत्तरों को पढ़ें