36 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: Khasi ki vjese baby ko koi problem to nhi hoi gana . please reply

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो 36 मंथ में बच्चा पूरी तरीके से डेवलप हो चुका होता है और यह मां के पेट में ज्यादा जगह कवर किया हुआ रहता है। ऐसे में खासने से लगने वाले झटके से बच्चे को भी झटका लगता है। और बच्चे को पेट में आराम नहीं मिल पाता। पेट बड़ा होने के कारण लगने वाले झटके से आपको भी तकलीफ ज्यादा होती है आपको जब भी खांसी आया आप बैठ जाएं खड़े होकर खाने से पेट पर झटका ज्यादा पड़ता है जिसके कारण पसलियों में दर्द होता है
Answer: HA khasi की vjah एस आपके बेबी को problam ho sakti h
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Baby ko khasi hoi hai to rat Oo raat ko nhi sota
उत्तर: हेलो डियर मौसम परिवर्तन के कारण chote baby ko sardijukham ho skta hai आप बेबी को गर्म कपड़े पहना कर रखें छोटे बेबी मे रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है इस कारण उनको सर्दी जुखाम कफ़ बुखार बहुत जल्द हो जाता है | आप कुछ घरेलू उपचार भी कर सकती है @ घी मे सेन्धा नमक मिक्स कर के बेबी की छाती और पसलियों पर लगायें @ सरसों के तेल मे 1 चम्मच अजवाइन 6 लहसुन की कलियां डाल कर गरम करें ठण्डा होने पर छान कर रख लें और इस ऑयल से बेबी की मसाज करें @ घी को गर्म करें और उसमे 1 चुटकी सोंठ डाल कर बेबी के छाती पीठ और पसलियों पर लगायें @ बेबी को भाफ दें भाफ के पानी मे 3लौंग,4 लहसुन की कलियां , 1 छोटा टुकड़ा दालचीनी डाल कर भाफ दें @ जायफ़ल को घिस कर दिन मे 2 बार पिलाये ...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe abhi tak baby ki movement nhi hui h koi problem to nhi h please reply
उत्तर: 16 weeks me nhi hogi 12-15 din or ruk jao halka halka sa samajh ane lagega baby ka movement
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mam mujhe kal se khasi ki problem h isse baby ko koi dikkat to nhi h na
उत्तर: हेलो डियर प्रेगनेंसी के दौरान, खांसी से निबटने के लिए आप अपने आहार में हरी-पत्तेदार सब्जियों और मौसमी फलों को जरूर शामिल करें। क्योंकि, इसके सेवन से आपके इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ावा मिलता है, और साथ ही इसमें विटामिन और फाइबर की मात्रा मौजूद होने के कारण यह संक्रमण से लड़ने में मदद करता है गुनगुने पानी का सेवन करें, क्योंकि यह संक्रमण को रोकने का काम करता है, और साथ ही गले की खरास और सूजन की समस्या से भी राहत प्रदान करता है। इसके अलावा, जितना हो सके तरल पदार्थों का सेवन करें, ताकि आप हाइड्रेटेड रह सकें। खाँसी के दौरान गले में दर्द से राहत पाने के लिए आप गार्गल करें, इससे आपको बहुत आराम मिलेगा। इसके लिए आप गर्म पानी में नमक डालकर गार्गल करें, इससे खांसी और कंजेशन में आराम मिलता है।बाकी इससे बच्चे को कोई प्रॉब्लम नहीं होगी यदि दवा लेने की जरूरत पड़े तो डॉक्टर से पूछ कर ही ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें