10 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kesar wala dudh konse month se pina safe hai

1 Answers
सवाल
Answer: गर्भावस्था में केसर दूध छठवें महीने से लेना चाहिए केसर को आप गर्म दूध के साथ सुबह-शाम ले सकती हैं एक गिलास दूध में एक चुटकी केसर पर्याप्त है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Kesar vala dudh konse month se pina chahie
उत्तर: हेलो डियर आप केसर दूध प्रेग्नेन्सी के 4 महीने से पी सकते है इसके काई फ़ायदे होते है प्रेग्नेन्सी में जैस की इसके उपयोग से बेबी गोरा होता है ऑर प्रेगनेट लेडीज का बॉडी स्वस्थ रह्ता है आँखों की प्रॉब्लम भि दूर होती है जैस की नीन्द पुरी ना होने के वज्ह से आँखों में जो तनाव दिखता है लाल ऑर सुजन आ जाती है वो सब प्रॉब्लम नही होती केसर के उपयोग से प्रेग्नेन्सी में पाचन क्रिया की बहुत प्रॉब्लम होती है जैसे की पेट में दर्द होना खाना ना पचना गेस की प्रॉब्लम इन सब में आराम मिलता है इसके सेवन से बी.पी. भि नॉर्मल रहता है आप एक दिन में दूध के साथ 4 केसर के रेसे ले सकती है इस्से जादा दिन भर में उपयोग ना करें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रेगनेंसी m कौनसे मंथ से केसेर वाला दूध पिना चाहिए ???
उत्तर: हेलो प्रेग्नेंसी के पांचवे हफ्ते से केसर दूध लिया जा सकता है। केसर में मौजूद थियामिन अौर रिबोफलेविन बच्चे के लिए अच्छा होता है कैसर दूध पीने से मां की आंखों की रोशनी भी अच्छी होती है ।यह पाचन तंत्र को स्वस्थ बनाती है और साथ ही भूख बढ़ाने में भी सहायक होती है। गर्भवती महिलाओं में चिड़चिड़ापन नहीं आने देती। केसर के फायदे, गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में रक्तचाप कम या ज्यादा हो जाने की समस्या आती है लेकिन केसर के प्रयोग से उनका रक्तचाप सामान्य बना रहता है।बच्चे का रंग गोरा होता है केसर दूध पीने से डाइजेशन भी अच्छा होता है ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है और नॉर्मल डिलीवरी के भी चांसेस बढ़ जाते हैं।लेकिन ध्यान रहे ज्यादा मात्रा में केसर लेना नुकसानदायक भी हो सकता है।1 किलो दूध में चार-पांच रे से केसर के डालें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hi mam kesar ka dudh konse month se pina chahiye ??
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी मे 5 month से ही केसर वाला दूध पीना चाहिए | प्रेगनेन्सी मे गर्म तासीर की चीज़ों से परहेज किया जाता है पर केसर आप ले सकते है पर 4 रेसे से ज़्यादा ना हो @ केसर दूध के साथ लेने से गर्भवस्था मे होने वाली घबराहट नही होती | 2)नॉर्मल डिलेवरी के चान्सेस बढ़ जाते है @ गर्भावस्था मे हड्डियों मे होने वाले दर्द से निजात मिल जाती है @ आँखों की रोशनी कमज़ोर नही होगी @ पाचन तंत्र को मजबूत करता है @ Daily 4 रेसे से अधिक दूध मे नही डालना चाहिए इसकी तासीर गर्म होती है जिसका अधिक सेवन से गर्भपात होने का खतरा होता है |
»सभी उत्तरों को पढ़ें