11 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kesar doodh me kis mahine se pina suru krna chahiye

2 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर आप केसर वाला दूध अपने प्रेगनेंसी के fifth मंथ से स्टार्ट कर सकती है रात में आप दूध पीने के आधे घंटे पहले केसर के 5 se 6 रेशे दूध में भिगोकर रख दें और थोड़ी देर बाद उसे पी ले...प्रैग्नेंसी के दौरान रोजाना 9 mahino tak दूध में केसर मिलाकर पीने से बच्चे का रंग गोरा होता है..केसर वाला दूध पीने से पाचन शक्ति मजबूत होती है और पेट भी स्वस्थ रहता है...केसर वाला दूध पीने से नार्मल डिलीवरी के चांस बढ़ जाते हैं..रोजाना केसर दूध का सेवन करने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है और मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं..Ok
Answer: हैलो डियर-- गर्भावस्था में केसर दूध छठवें महीने से लेना चाहिए केसर को आप गर्म दूध के साथ सुबह-शाम ले सकती हैं ।एक गिलास दूध में एक चुटकी केसर पर्याप्त है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: किस महीने से दूध में केसर दाल के पीना चाहिए ?
उत्तर: 5 महीने पूरे होने के बाद दूध में केसर डालकर पी सकती है ं पर सिर्फ एक या दो धागे डालें केसर गर्म होती है तो मिसकैरेज का डर रहता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pragnancy me kesar wala dudh kis mahine se suru krna chahiye
उत्तर: हेलो डियर """केसर का प्रयोग आप प्रेगनेंसी के दूसरी तिमाही के बाद कर सकते हैं | सुबह ,शाम दूध के साथ कर सकते हैं | केसर से पाचन तंत्र ठीक रहता है | रक्तचाप की समस्या durहोती है | केसर को खरीदते समय बहुत ही ध्यान रखना चाहिए बाजार में एक प्रकार उपलब्ध नकली केसर उपलब्ध है नकली केसर के प्रयोग से हानि हो सकती है इसलिए असली केसर खरीदें| प्रेगनेंसी मे अत्यधिक मात्रा नुकसान पहुंचा सकती है इसलिए केवल एक चुटकी का ही प्रयोग करें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kesar wala dudh kis mahine se pina chahiye?
उत्तर: हेलो डियर , गर्भावस्था में केसर लेने की जल्दबाज़ी आप बिल्कुल न करें। अगर शुरुआत में ही केसर खाना शुरू कर दिया तो गर्भाशय में संकुचन शुरू होने की आशंका रहती है, जिससे गर्भपात का खतरा हो सकता है। आयुर्वेद के स्वास्थ विशेषज्ञों के मुताबिक, गर्भावस्था की दूसरी तिमाही से केसर का इस्तेमाल किया जा सकता है। आप गर्भावस्था के पांचवें महीने से केसर का सेवन शुरू कर सकती हैं लेकिन खुद से केसर का सेवन न करें पहले डॉक्टर से इस बारे में सलाह लेना जरूरी वैसे  गर्भवस्था में केसर खाने के फ़ायदे बस इसे सही मात्र में खाना चाहिए जैसे दिनमे 20-30 एमजी केसर का इस्तेमाल किया जा सकता है| गर्भावस्था के दौरान कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं जिस कारण गर्भवती को कई तरह के मूड स्विंग होते हैं। कभी गुस्सा आना, चिड़चिड़ाहट होना, बिना किसी बात के रोने जैसा महसूस होना सामान्य है। ऐसे में केसर का सेवन करने से आराम मिलता है जिससे व्यक्ति को अच्छा महसूस होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें