21 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kesar wala dudh kab se pina chahiye or kon sa kesar sabse acha hota h

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो आप केसर मिल्क के साथ प्रेग्नेन्सी की दूसरी तिमाही से लेना शुरू कर सकती है लेकिन इसका यूज़ सिमित मात्रा में करे केसर की 2 से 3 रेशे ही मिल्क में पर्याप्त है इसका अधिक सेवन करने से गर्भवती महिला और उसके बच्चे को नुकसान भी हो सकता है।गर्भावस्था के दौरान शरीर में हार्मोन में बदलाव आने की वजह से उन्हें हैवी फूड नहीं पच पाता जिस वजह से अक्सर महिलाओं का पेट खराब रहता है। ऐसे में केसर वाला दूध पीने से पाचन मजबूत होती है प्रैग्नेंसी के दौरान महिलाओं को तनाव की वजह से ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाता है। केसर दूध का सेवन करने से ब्लड प्रेशर संतुलित रहता है l
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kesar wala dudh kab se pina suru kr sakte h
उत्तर: हेलो डियर """केसर का प्रयोग आप प्रेगनेंसी के दूसरी तिमाही के बाद कर सकते हैं | सुबह ,शाम दूध के साथ कर सकते हैं | केसर से पाचन तंत्र ठीक रहता है | रक्तचाप की समस्या durहोती है | केसर को खरीदते समय बहुत ही ध्यान रखना चाहिए बाजार में एक प्रकार उपलब्ध नकली केसर उपलब्ध है नकली केसर के प्रयोग से हानि हो सकती है इसलिए असली केसर खरीदें| प्रेगनेंसी मे अत्यधिक मात्रा नुकसान पहुंचा सकती है इसलिए केवल एक चुटकी का ही प्रयोग करें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kesar wala dhoodh kab se pina chahiye
उत्तर: हेलो डियर """केसर का प्रयोग आप प्रेगनेंसी के दूसरी तिमाही के बाद कर सकते हैं | सुबह ,शाम दूध के साथ कर सकते हैं | केसर से पाचन तंत्र ठीक रहता है | रक्तचाप की समस्या durहोती है | केसर को खरीदते समय बहुत ही ध्यान रखना चाहिए बाजार में एक प्रकार उपलब्ध नकली केसर उपलब्ध है नकली केसर के प्रयोग से हानि हो सकती है इसलिए असली केसर खरीदें| प्रेगनेंसी मे अत्यधिक मात्रा नुकसान पहुंचा सकती है इसलिए केवल एक चुटकी का ही प्रयोग करें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kesar wala dudh kis mahine se pina chahiye?
उत्तर: हेलो डियर , गर्भावस्था में केसर लेने की जल्दबाज़ी आप बिल्कुल न करें। अगर शुरुआत में ही केसर खाना शुरू कर दिया तो गर्भाशय में संकुचन शुरू होने की आशंका रहती है, जिससे गर्भपात का खतरा हो सकता है। आयुर्वेद के स्वास्थ विशेषज्ञों के मुताबिक, गर्भावस्था की दूसरी तिमाही से केसर का इस्तेमाल किया जा सकता है। आप गर्भावस्था के पांचवें महीने से केसर का सेवन शुरू कर सकती हैं लेकिन खुद से केसर का सेवन न करें पहले डॉक्टर से इस बारे में सलाह लेना जरूरी वैसे  गर्भवस्था में केसर खाने के फ़ायदे बस इसे सही मात्र में खाना चाहिए जैसे दिनमे 20-30 एमजी केसर का इस्तेमाल किया जा सकता है| गर्भावस्था के दौरान कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं जिस कारण गर्भवती को कई तरह के मूड स्विंग होते हैं। कभी गुस्सा आना, चिड़चिड़ाहट होना, बिना किसी बात के रोने जैसा महसूस होना सामान्य है। ऐसे में केसर का सेवन करने से आराम मिलता है जिससे व्यक्ति को अच्छा महसूस होता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Kesar dhudh kab se pina chahiye sehat k liy acha hota hai Kya?aur
उत्तर: प्रेगनेंसी के टाइम पर केसर वाला दूध पांचवे महीने से ही लेना चाहिए एक गिलास में केसर के चार रेशे ही काफी 1 दिन में गर्भावस्था के दौरान आपको केसर वाला दूध जरूर पीना चाहिए इससे गर्भावस्था में होने वाली घबराहट कम हो जाती है केसर का दूध पीने से बच्चे का रंग साफ होता है इससे फायदा होता है आपकी नजर कभी भी कमजोर नहीं होगी डाइजेशन को मजबूत बनाते हैं नार्मल डिलीवरी के चांस बढ़ जाते हैं ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता है और मसल्स भी स्ट्रांग रेट बनती है लेकिन इसको संतुलित मात्रा में ही लेना चाहिए यह ध्यान रखने वाली बात है इसका अधिक सेवन करने से गर्भवती महिला और उसके बच्चे को नुकसान भी हो सकता है
»सभी उत्तरों को पढ़ें