गर्भावस्था की तैयारी

Question: pregnent ke symtum kaise hote hai

1 Answers
सवाल
Answer: Ulti ji michlana breast pain abdominal cramping spotting headache thakan ye sab hote he
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: delivery pain k kon kon se symtum hote h
उत्तर: हेलो डियर लेबर पैन सभी को एक जैसा हो जरुरी नही है सभी को अलग अलग होता है। main labor के 1 वीक पहले उतेरुस में एक मरोड़ जैसी होती रहती है। ये सभी को होता है अलमोस्ट। ये false labor होता है। बैक पैन होता है जैसे पीरियड के टाइम होता है। और बैक में निचे के साइड में होता है। pain के अलावा वाटर ब्रेक से भी लेबर टाइम का पता चल जाता है। वाटर ब्रेक होने के २४ घन्ते तक बेबी हो जाये तो सही रहता है नही तो इन्फेक्शन हो सकता है। vaginal ब्लीडिंग भी हो सकती है। लेबर से पहले फीवर भी हो सकता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: प्रजेंट कैसे होते है
उत्तर: हेलो डियर आपके ओवुलेशन पीरियड में जितना ज्यादा हो सके अपने हस्बैंड से रिलेशन बनाइए आपके प्रेग्नेंट होने के चांसेस बहुत ज्यादा बढ़ जाएंगे और इसके अलावा जितना ज्यादा हो सके हरी पत्तेदार सब्जियां खाइए ताकि फॉलिक एसिड मिले थोड़ी एक्सरसाइज कीजिए ताकि आप फिट रहे हैं
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Pregnant kaise hote hai
उत्तर: गर्भवती होने के लिए संबंध बनाने से ज्यादा जरूरी होता है कि सही समय पर संबंध बनाए और सही टाइम की जानकारी रिलेशन टाइम से पता चलती है और यह टाइम गर्भधारण करने का एकदम ज्यादा उचित समय होता है अगर आप ओवुलेशन टाइम के बारे में जानते हैं तो आपको गर्भधारण करने के लिए कोई भी परेशानी नहीं आएगी| प्रेग्नेंट होने के लिए ऑपरेशन पीरियड सबसे अच्छा समय होता है। हर महिला का ऑपरेशन पीरियड अलग-अलग हो सकता है| और अभी नेशन का समय जानने के लिए सबसे पहले पीरियड का टाइम पता करना होता है| पीरियड शुरू होने के लगभग 12 से 14 दिन पहले का टाइम ही ओवुलेशन होता है आर्य पीरियड आने के 7 दिन पहले तक रहता है यही वो टाइम होता है जिसमें अगर आप संबंध बनाते हैं तो गर्भ ठहरने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाती है|। ओवुलेशन का समय मतलब पीरियड्स के 12 से 14 दिन पहले और उसके अगले 5 दिन महिला की प्रजनन क्षमता बहुत ज्यादा होती है। example के लिए अगर किसी महिला का पीरियड 25 को आते हैं तो उसका रिलेशन समय 11से 13 के बीच हो सकता है। जिन महिलाओं के पीरियड अगर सही समय पर नहीं आते हैं तो उनके लिए अब रिलेशन टाइम पता करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है जिसकी वजह से प्रेगनेंसी प्लान करने में परेशानी होती है इसलिए पीरियड अगर समय समय पर नहीं आते हैं तो सबसे पहले इर्रेगुलर पीरियड्स का इलाज करवाना चाहिए। प्रेगनेंसी के लिए ओवुलेशन पीरियड के अलावा भी बहुत सारी बातें मायने रखती है अगर आप बच्चे के बारे में सोच रहे हैं तो इस दौरान आपको बहुत सारी बातों का ध्यान भी रखना होता है। जैसे अगर आप प्लान कर रहे होते हैं तो पुरुष और महिला दोनों का शारीरिक और मानसिक तरीके से तैयार होना बहुत जरूरी होता है क्योंकि महिला अगर तनाव में रहती है तो उसके रिलेशन पर बहुत प्रभाव पड़ता है। और अगर आप बच्चे प्लान कर रहे हैं तो आपको अपने पीरियड्स टाइम का बहुत ज्यादा ध्यान रखना होता है और उसी के हिसाब से आप अभी मिशन पीरियड पर संबंध बना सकते हैं। गर्भधारण करने का सही उम्र 22 से 29 साल होती है और अगर 25 की उम्र में प्रेगनेंसी पा प्लान कर रहे हैं तो सबसे अच्छा समय होता है क्योंकि 25 की उम्र में महिला का शादी का मानसिक रूप से बच्चा पैदा करने के लिए तैयार होती हैं। अगर आप प्रेग्नेंट होना चाहती है तो शारीरिक मेल होने के बाद लगभग 15 से 20 मिनट तक पीठ के बल ही लेटे रहना चाहिए। इस समय अपने आहार में बहुत ज्यादा ध्यान देना पड़ता है और अगर आपका वजन बहुत ज्यादा है तो संतुलित होना बहुत जरूरी होता है वजन का। और इस समय पुरुष को भी बहुत सारी बातों का ध्यान में रखना पड़ता है क्योंकि जैसे अगर अपने गुप्तांग को गर्मी से दूर रखना चाहिए जैसे कि अगर तारों पर लैपटॉप बहुत देर तक करते हैं तो गर्मी की वजह से उनके शुक्राणु पर असर पड़ सकता है। पीरियड के बाद भी अगर आप संबंध बनाते हैं तो यह भी बहुत अच्छा होता है लेकिन आपको सही समय का जानकारी होना बहुत जरूरी होता है जैसे अगर पीरियड 5 से 7 दिन तक चलते हैं तो उसके तुरंत बाद संबंध बनाते हो तो प्रेग्नेंट होने की संभावना ज्यादा होती है अगर पीरियड 6 दिन में बंद हो जाता है तो आपको सातवें दिन sarrikमेल करना जरूरी होता है जिसके वजह से प्रेग्नेंट होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके 11 दिन बाद आप फिर से प्रयास कर सकते हैं क्योंकि इसके बाद ओवुलेशन पीरियड टाइम शुरू हो जाता है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: हेलो मेरा फोर मंथ्स चल रहा है मुझे बॉय हनी के सीमतुम बताएं
उत्तर: हेलो डियर ऐसा कोई तरीका नहीं है जिससे आप लड़की या लड़का पैदा कर सकती है। ना तो यह आपके हाथ में है और ना आपके पति के हाथ में है। इसके लिए तो सिर्फ आप भगवान से प्रार्थना कीजिए कि जो आप चाहती हैं वह आपको मिल जाए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें