28 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kaun se month me tike lagwane hote hai?

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर गर्भावस्था में टेटनस के infection से बचाने के लिये टेटनस का injection लगाया जाता है। pregnancy में टेटनस के 2 टीके लगते हैं और इनमे 4 weeks का gap होता है |
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हेलो ... प्रेग्नेन्सी एमkab kab kaun se tike lgane hote h..kis month m kaun se tke lgane hote h plz reply k
उत्तर: प्रेगनेन्सी मे 2 टीके लगते है टिटनस के . पहला टिका तिसरे मंथ के खतम होने के पहले कभी भी लगया जा सकता है और दुसरा टिका ,पहले टीके से 1 मंथ के बाद | का 26 वा हफ्ता चल रहा है अगर आपने एक भी टीका नहीं लिया है तो अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें |
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: kya baby ko sab tike lagwane jaruri hai
उत्तर: जी हां बच्चे को सारे tike लगाइए समय-समय पर डॉक्टर की सलाह lijiye और टीकाकरण करने की चार्ट अपने पास रख लीजिए इससे आपको या ज्ञात होगा कि आपको नेक्स्ट टीका कब लगवाना है।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: pregnancy mein kaun kaun se test hote hai aur kab hote hai
उत्तर: प्रेगनेंसी में कुछ टेस्ट बहुत जरूरी है जैसे अल्ट्रासाउंड ब्लड प्रेशर यूरिन टेस्ट ब्लड टेस्ट अमीनो सेंटेंसेस अनेमिया शुगर प्लेटलेट्स टेस्ट और सेक्सी ट्रांसमिटेड डिसीसेस का टेस्ट जरूर कराना चाहिए
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: 9th month mein kaun se test hote hai
उत्तर: प्रेगनेंसी के 4th और 5th स्केन 28 से 32 weeks और 38 से 40 weeks के बीच में होते हैं इसे ग्रोथ स्कैन भी कहते हैं इसे स्कैन में बच्चे के खोपड़ी का डायमीटर लिया जाता है. सिर की परिधि. peit की परिधि और लंबाई को मेजरमेंट किया जाता है. जिसके आधार पर डॉक्टर बच्चे की ग्रोथ रिपोर्टिंग बना कर देता है .जिससे हम पता कर सकते हैं कि बच्चे की ग्रोथ इस समय के हिसाब से सही हो रही है कि नहीं हो रही है और हमारी आने वाली कोई परेशानी को हम इस समय से ही देख कर समझ कर उसे सॉल्व कर सकते हैं. पेट में अगर पानी की मात्रा का पता करना हो तो इस स्थान से हम पता कर सकते हैं .अगर डिलीवरी जल्दी होने के चांसेस हैं तो उसके लिए भी डॉक्टर अभी से हमें बता सकते हैं कि हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए .प्लेसेंटा अगर बच्चे के गले में लपेट गया है तो उसके लिए भी हमें डॉक्टर पहले से बता देते हैं. Doppler Scan hota hai. यह एक प्रकार की स्कैन है .जिससे आपके बच्चे के शरीर के अलग-अलग अंगों के बारे में जानकारी मिलेगी. जैसे प्लेसेंटा ,ब्रेन ,हॉट. बच्चों के शरीर में हो रहा ब्लड फ्लो भी इससे पता चलेगा. इससे यह भी पता चलेगा कि बच्चे को ऑक्सीजन और सभी पोषक तत्व बराबर से मिल रहे हैं कि नहीं. यह स्कैन नार्मल अल्ट्रासाउंड के साथ ही हो जाता है .जो ध्वनि तरंगे अल्ट्रासाउंड से निकलती है वह प्रजेंटर के जरिए बेबी के शरीर में हो रहे ब्लड फ्लो और साथ ही उसकी रक्त संचरण प्रणाली को छू कर वापस आ जाती है .isse स्क्रीन पर तस्वीर बन कर देखती है जिससे डॉक्टर को पता चलता है कि खून किस तरह flow हो रहा है .इससे आपके baby की सेहत का बेहतर अंदाज लगाया जा सकता है.
»सभी उत्तरों को पढ़ें