38 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: kaise pta chalega ki labour pain shuru ho gua h

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: kyese pta chalega ki labour pain
उत्तर: हेलों आप 39 वीक प्रेगनेट है .लेबर पेन का अनुभव हर लेडी के लिए अलग अलग होता है प्रेग्न्सी के अन्तिम अवस्था में कमर दर्द पेट दर्द वैजिना में दर्द और प्रेशर का अनुभव करना नॉर्मल है लेकिन जब दर्द समय के साथ बढ़े .लेबर पेन की शुरुआत पिरियड में होने दर्द जैसे हो सकती है ये दर्द के साथ आपको पेट में दर्द कमर दर्द सर दर्द उलटी पोटी जाने की इच्छा हो सकती है जब दर्द समय के साथ लगातार बढ़े और असनीय होने लगे जब लगातार और थोड़ी-थोड़ी देर पर गर्भ की पेशियों में खिंचाव महसूस हो। इसके अलावा जब यह अधिक समय तक और तीव्रता से हो।अगर आपके कमर के निचले हिस्से में दर्द की शिकायत हो।आपका बच्चा तरल पदार्थ की एक थैली से सुरक्षित रहता है। यह प्रसव पीड़ा के दौरान टूटता है और पानी गिरना शुरु हो जाता है। यह प्रसव का ही एक लक्षण है।अगर रक्त स्त्राव की समस्या हो रही हो।आपको बुखार, सिरदर्द या पेट में दर्द हो। तो आप तुरन्त डॉक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mujhe kaise pta chalega ki levar pain ho rha h ....
उत्तर: हेलो डियर ,,,अभी आपको 39 वीक की प्रेगनेंसी है ड्यू डेट के आसपास आपको लेबर पर होगा जिसके कुछ विशेष लक्षण होते हैं जिसके आधार पर आपको यह स्पष्ट हो जाएगा कि डिलीवरी का टाइम आ चुका है लेबर पेन के समय आपको पीरियड के समय जिस प्रकार पेट में दर्द होता है उसी प्रकार का दर्द का अनुभव होने लगेगा |पेट में खराबी ,लूज मोशन ,बार बार पॉटी जाने का अनुभव होने लगेगा| सफेद पानी का अधिक मात्रा में निकलना या फिर सफेद पानी के साथ हल्के गुलाबी रंग का द्रव भी बाहर निकलने लगेगा |कमर में दर्द' बैक व कमर में दर्द का एहसास बढ़ते जाएगा |पेट में रुक रुक कर दर्द होने लगेगा और कभी दर्द में कमी होगी और कभी दर्द तेज रूप से होगा |अगर इस प्रकार के लक्षण आपको अनुभव हो तो आप तुरंत ही अपने चिकित्सक से संपर्क करें|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: How we will come to know about labour pain means pata kaise chalega ki labour pain chalu ho gya hai
उत्तर: Pre-labor signs and symptoms that appear one to four weeks before labor:Lack of coordination in movements as the baby descends lower into the pelvic regionLoosened joints as relaxin hormone softens and loosens the ligaments and joints in the pelvic areaUrge to urinate frequently as the baby’s head presses against the urinary bladderBraxton Hick’s contractions, the false contractions that develop before the real laborCramping and pain in the lower back as the joints and muscles stretch and become active for the nearing laborDilation of the cervix, which is noted by your doctor during the prenatal checkupWatery stools as the rectal muscles begin to relax for the delivery
»सभी उत्तरों को पढ़ें