10 months old baby

Question: home made catelac kaisa बनाया जता है प्लीज़ बताये

0 Answers
सवाल
अभी तक इस सवाल का कोई जवाब नहीं है
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: हम जब पानी पीते है तो तुरन्त देर बाद पिसाब हो जता है क्या करु प्लीज़ बताये
उत्तर: हेलो डियर प्रेग्नेन्सी में बार बार यूरिन का आना भूत नॉर्मल है क्युकी पेट में बच्चे के बढ़ने की वजह से मूत्राशय में दबाव पड़ता है इस वजह से बार बार यूरिन की प्रॉब्लम होती है ऑर जैस जैसे डिलेवरी का दिन पास आटे जता है यह प्रॉब्लम ऑर जादा बढ़ती है ऑर यह कोई प्रॉब्लम नही है इस्से आपको या आपके बेबी को कोई प्रॉब्लम नही होगी मगर नीन्द ज़रूर खरब होटी है इसके लिए आप रात के टाइम पानी ना पीएं तो आपको रात में कम बाथरूम जाना पड़ेगा ऑर आपकी नीन्द भि पुरी हो पाएगी
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा बेटा अभी3 साल 11 महीने का है ऑर उसक वजन बोहत कम हे 12 किलो है उसके आगे जता नही है में क्या करो प्लीज़ बताये
उत्तर: यदि आपका बच्चा भी कमज़ोर है तो ऐसे में कुछ खाद्य वस्तुयों का प्रयोग आपके बच्चे का वजन बढ़ाने के लिए कारगर होगा। जैसे -    1)मलाई सहित दूध  बच्चे का वजन अगर कम है तो उसे मलाई वाला दूध पिलाना सही माना जाता है। अगर दूध पीने से बच्चा मना करें तो शेक, स्मूदी या चॉक्लेट पाउडर मिक्स कर देना चाहिए।    2)अंडे अंडे प्रोटीन से भरपूर होते हैं। पीली जर्दी को 8 वें महीने और पूरे अंडे एक वर्ष की उम्र से शुरू किया जा सकता है।    3)आलू  आलू वजन बढ़ाने के लिए उपयोगी होते हैं। ये कार्बोहाइड्रेट और ऊर्जा का बहुत अच्छा स्रोत है। आप इसे आलू पनीर या चीज़ मैश के रूप में दे सकते है।    4)शकरकंद   शकरकंद फाइबर, पोटेशियम, विटामिन ए,बी और सी से भरपूर होते हैं। इन्हें खाने से वजन भी बढ़ता है। बच्चों को दूध में मैश कर इसे दिया जा सकता है।     5)नट्स  सभी प्रकार के ड्राई फ्रूट्स और विशेषकर नट्स विटामिन से भरपूर होते हैं। इनका पाउडर बनाकर बच्चों को दूध में मिलाकर पिलाया जा सकता है।     6)केला केला एनर्जी का बेहतरीन स्त्रोत होता है। दूध में मैश कर इसे देने से बच्चों के वजन में वृद्धि आती है। एक साल से अधिक के बच्चों के लिए केले का शेक भी एक अच्छा विकल्प होता है।    7)दाल दाल में प्रोटीन काफी होता है। छोटे बच्चों को दाल का पानी अवश्य पिलाना चाहिए।    8)फुल क्रीम दही  पूरे क्रीम का दही भी एक उपयुक्त विकल्प है। बाजार में उपलब्ध फल वाला दही / फ्रुटी दही खरीदने से बचें क्यूकी उसमें बहुत अधिक मात्रा में शक्कर मिलाई जाती है। इसके बजाय दही के साथ कुछ फलों का मिश्रण बना कर अपने बच्चो को दीजिए। श्रीखंड, दही की एक बढ़िया रेसिपी / डिश है जो की शिशुओं और बच्चों को दी जा सकती है।    9) चीज़ / पनीर  शाम नाश्ते के रूप में पनीर का एक छोटा सा टुकड़ा भी आपकी मदद कर सकता हैं। घर का बना पनीर अथवा कोटेज चीज़ एक सर्वश्रेष्ठ विकल्प है। ब्रोकोली पनीर मैश, आलू पनीर मैश, अंडा चीज़ मैश के रूप में भी पनीर को दिया जा सकता है।    10)रागी  घी और गुड़ के साथ रागी का प्रयोग बच्चों का वजन बढ़ाने में मदद करता है।    11)घी  आप घी को मक्खन के समान प्रयोग में ला सकते हैं।     12)मूंगफली का मक्खन मूंगफली का मक्खन वजन बढ़ाने के लिए एक बहुत अच्छा स्रोत है। आपका शिशु यदि 1 वर्ष से अधिक आयु का है, तो आप एक रोटी या टोस्ट पर मूंगफली का मक्खन एक चम्मच फैला दीजिए और अपने बच्चे को खाने के लिए दीजिए।    13)हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें  बच्चों को हरी सब्जियां खिलाने की आदत डालें। हरी सब्जियों में भरपूर पोषण के साथ पाचन तंत्र को साफ रखने की भी क्षमता होती है।    14)जिंक से भरपूर भोजन बच्चों के विकास के लिए जिंक एक बेहद अहम पोषक तत्व होता है। जिंक की कमी के कारण बच्चों को भूख कम लगती है। कोशिश करें कि बच्चें को जिंक से भरपूर भोजन दें जैसे तरबूज के बीज, मूंगफली, बींस, पालक, मशरूम और दूध आदि।    15)प्रोटीन व कार्बोहाइड्रेट वजन बढ़ाने के लिए प्रोटीन का सेवन जरूरी है इसलिए अपने आहार में चिकन, मछली, अंडा, दूध, बादाम व मूंगफली आदि को शामिल करें। इसके अलावा कार्बोहाइड्रेट भी वजन बढ़ाने में मददगार होता है जैसे पास्ता, ब्राउन राइस, ओटमील आदि। इन सबके साथ फलों व सब्जियों का सेवन भी जरूर करें।    16)दूध में शहद शहद वजन संतुलित करता है। अगर आपका वजन अधिक हो, तो शहद उसे कम करने में मदद करता है और अगर वजन कम हो तो उसे बढ़ाने का काम करता है। रोज सोने से पहले या नाश्ते में दूध के शहद का सेवन आपका वजन बढ़ा सकता है। इससे आपकी पाचन शक्ति भी अच्‍छी रहती है।  17)जैतून का तेल जैतून का तेल में अच्छा वसा होता है। आप जैतून का तेल में बच्चे के भोजन को पका सकते हैं।  18)ऐवकाडो यह फल भी वसा / फैट में समृद्ध और वजन बढ़ाने के लिए एक उत्कृष्ट भोजन है। दूध के साथ या सादे तरीके से मैश करके आप इसे परोस सकते हैं।  19)सूप, खीर और हलवा  सब्जियों का पतला सूप या टमाटर का सूप बच्चों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ सूजी का हलवा भी बेहद पौष्टिक और वजन बढ़ाने में मददगार होता है।  20)चीकू / सपोटा  यह एक चीनी समृद्ध (sugar rich) फल है। आप किसी भी अन्य फलों अथवा मिल्क शेक आदि के साथ या सादे चीकू की प्यूरी या चीकू खीर दे सकते हैं। उपरोक्त आहार के साथ यह बात बिलकुल नहीं भूलनी चाहिए कि बच्चे के लिए, मां के दूध से अधिक पौष्टिक कुछ नहीं होता है। अगर बच्चे का वजन नहीं बढ़ रहा है तो उसके दूध पीने की क्रिया पर भी ध्यान देना चाहिए।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: मेरा 2 इयर्स का बेबी बॉय है उसे बार बार सर्दी ज़ुकाम हो जता है . तिक करने के लाइए कोई घरेलु उपाय बताये प्लीज़
उत्तर: हेलो डिअर, आपके बेबी को अगर जुखाम हो गया हैं तो आप सरसो के तेल में थोड़ा अजवायन और एक जवा लहसुन डाल कर धीमे आंच पर पका दे जब तेल ठंडा ही जाए तब इसी तेल से बेबी के हाथ पैर के तलुए पे तेल से मालिश करे और फिर बॉडी पर मालिश करे इससे आपके बेबी के जुखाम में बहुत आराम मिलेगा आपके बेबी को अगर अक्सर जुखाम हो जाता है तो आप अपने बेबी को सप्ताह में 3 से 4 बार ही गुनगुने पानी से नहलाये , आप अपने बेबी को मौसम के अनुकूल कपड़े पहनाये, जुखाम होने पर आप कुछ सहजन ली पत्तियों को तोड़कर नारियल के तेल मे पका दे जब पत्तियां सुख जाए अब आप इस तेल को ठंडा करके बेबी के सर पे लगा के मालिश कर दे और बॉडी में भी लगा दे इससे आपके बेबी का जुखाम ठीक हो जाएगा!
»सभी उत्तरों को पढ़ें