1 महीने का बच्चा

Question: muje khaansi ho rahi है aur mere 1month बेबी को bhi ho gai hai kya yeh khaansi mere karan hui hai usko iske liye mai kya kru

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर . आप बेबी को चेस्ट पर काऊ घी क साथ सेन्धा नमक मिलकर रब करे...सरसों क तेल को २ स३ लहसुन की कलियां डालकर गए कर क भी बेबी क बैक चेस्ट और हाथ पेरों मई अच्छे से रब करे...बaबी को थोड़े गर्म रूम में रखे..सोते हुए बच्चे का सिर ऊपर रखे, जिससे वह आसानी से साँस ले सके. बेबी को जब भी दूध पिलाएं . बेबी को थोड़ी खड़ी अवस्था मे रखें जीस्से बेबी के गलें मे दूध ना अट के . आप अपनी सर्दी और खासी क लिये कुच घरेलु टिप्स try करे..जेसी आप ताजे अदरक क रस मई थोड़ा हनी मिक्स कर क ले सकती है...म्युट्ठी भर तुलसी क रस को भी आप हनी क साथ ले सकती है..पनि जयदा पीए..ओर जित्ने भी बार पिए गुनगुना ही पीए..सारदी क लिये आप भाप ले सकती है..ओर सरसों क तेल में २ से ३ कलिया लहसुन की कुटकर गर्म गर ले और कुनकुना ही अपनी चेस्ट और पीठ पर लगये...गले मई सोते समय इस तेल को लगा कर कॉटन का कपडा बांध ले..खांसी में बहुत आराम मिलेंगा..अगर अदरक क टुकड़े को नमक क साथ लेंगी तो भी बहुत जल्दी रिलीफ मिलेंगा...ok
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere baby ko bahut khaansi ho gai hai plz btaaye main kya kru
उत्तर: हेलो आपका बेबी 4 महीने का है और बच्चे को खाँसी है आपका बेबी अभी बहुत छोटा है ऐसे में मेडिसिन आप बेबी को डॉक्टर की सलाह ले कर ही दे बच्चे को कफ है तो बेबी को nebulize मशीन से करवाये बच्चे को कफ से राहत मिलेगी बच्चों का इम्यून सिस्टम कमज़ोर होता है ऐसे में बच्चे को कपड़े ऐसे पहनाये कि गर्माहट बनी रहें कमरे को भी गरम रखने की कोशिश करे .आप उसे घी और कपूर का मिश्रण लगा सकते है। पहले घी ले और उसे हल्का गर्म करें, फिर उसमे कपूर के कुछ टुकड़े डाल दें और पिघलने दें। ठंडा हो जाने के बाद इसे आप उसकी छाती, पीठ और तलवे पर लगाएं। उसे आराम मिलेगा। आप उसे सरसों के तेल को गर्म कर उसमे अजवाइन और लहसुन डालें ,फिर जब वह ठंडा हो जाए तो उसे उसकी छाती और पीठ पर अच्छी तरह से लगाएं बच्चे को आराम करवाये बच्चे जितना आराम करेगा उतनी जल्दी रिकवर करेगा अगर आप ब्रेस्ट फीड माँ है तो खाने में सन्तुलित और हेल्थी चीज़ें खायें जिसके कारण बच्चे को न्यूट्रिशन मिल सकें और बच्चे को पानी की कमी ना हो lबच्चे को संक्रमण से बचाने के लिये अपना और बच्चे का हाथ साफ रखें बच्चे को फीड कराते समय पहले हैण्ड वाश करेl बच्चे को फीड कराते समय और सुलाते समय बच्चे का सर कुछ ऊपर रखें इसके लिए आप पतली तकिया का यूज़ कर सकती है ऐसे में बच्चे को साँस लेने में आसानी होगी आप अजवाइन भून ले उसे एक कपड़े में बाँध कर पोटली बना ले फिर उसे बच्चे के बच्चे के बैक चेस्ट तलवो पर सीकाई करे धयान रहें अजवाइन ज़्यादा गर्म नही होना चाहिए .बच्चे को कुछ देर धूप में ज़रूर ले जायें ताकि बच्चे को सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी मिलें विटामिन डी बच्चे के सर्दी को कम करने और ग्रोथ में हेल्प फूल हैlधुप दिखाने के लिए बच्चे को सीधे धुप में न रखें।डायपर समय पर बदले प्रोबेल्म ज़्यादा हो तो डोक्टर से सलाह ले
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 6th month chal rha hai aur mere pairo me sujan ho gyi hai iske liye mai kya kru..
उत्तर: बहुत से उपाय सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं, लेकिन सबसे सुखद हल्की मालिश ही मानी जाती है। मसाज से ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है, जो सूजन को कम करता है। इससे ऐंठन की समस्या भी कम होती हैंगर्भावस्था के दौरन खूब पानी पीना चाहिए। यह आपको गर्भावस्था से संबंधित कई समस्या जैसे सूजन से निपटने में मदद करेगा। आमतौर पर यह माना जाता है कि नमक का ज्यादा प्रयोग सूजन को बढ़ा देता हैं। लेकिन अपने चिकित्सक की सलाह के बिना गर्भावस्था के दौरान नमक में कटौती नहीं करनी चाहिए।अपने पैरों के बीच एक तकिया रखकर अपनी बायीं ओर पर लेटे हुए घुटनों को छाती की ओर उठाने या फैलाने की कोशिश कीजिये। आप अनेक प्रकार के मेटरनिटी तकिया खरीद सकती हैं, हालांकि आप पाएंगी कि आपका आम तकिया भी उतना ही बढि़या काम करता है। अतिरिक्त आराम और सहारे के लिए इन तकियों को अपने पैरों के बीच, अपने नितम्बों के नीचे और अपनी पीठ के पीछे रखिये।अपनी बायीं ओर करवट लेकर सोने की आदत डालिए। बायीं करवट पर सोने से आपके गुदो को भी अपशिष्ट पदार्थों और द्रवों को आपके शरीर से अधिक कुशलतापूर्वक बाहर निकालने में मदद मिलती है। जिससे एडि़यों, पांव और हाथों में सूजन को कम करने में मदद मिलती है। यह सिर्फ रात के लिए ही नही है बल्कि दिन भर में हर एक घंटे के बाद थोड़ी देर आराम करना जरूरी हैं।
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Mere legs mai bahot Suzan ayi hai aur muje chakkar bhi ati hai iske liye Kya Karna chahiye
उत्तर: आप घबराए नहीं प्रेगनेंसी में पैरों का दर्द आम समस्या है। प्रेगनेंसी में हमारे शरीर का सारा भार पैरों पर पड़ता है जिससे कि उस में दर्द हो जाता है। प्रेग्नेंसी में वजन बढ़ जाने के कारण भी पैरों में दर्द की समस्या सामने आती है कभी-कभी हमारे पैरों में सूजन भी हो जाती है। इन सब चीजों के लिए आप कुछ घरेलू उपाय कर सकती हैं। आप अपने पैरों को हल्के गर्म पानी में थोड़ी देर के लिए डुबो कर रखें इससे आपको पैर दर्द और सूजन में आराम मिलेगा। आप अपने पैरों में सरसों के तेल से या फिर किसी भी तेल से हल्की मसाज कर सकते हैं जिससे ब्लड सरकुलेशन बढ़ेगा और आपके पैर दर्द और सूजन में राहत मिलेगी। आप ज्यादा देर तक पैर लटका कर नहीं बैठे पैरों को हमेशा सपोर्ट देखकर ही बैठे हैं या फिर लेटी है। आप पैर दर्द के लिए हल्की हल्की वॉक भी कर सकते हैं जिससे ब्लड सरकुलेशन बढ़ेगा और पैर के दर्द में थोड़ा आराम भी मिलेगा।ज्यादा देर तक खड़े होकर काम करना अवॉइड कीजिए। अगर आपको पैर के दर्द से आराम नहीं मिलता है तो आप को जाकर डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए.. आपको चक्कर कमजोरी क्या फिर बीपी लो होने की वजह से भी आ सकता है इसलिए आप अब थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ खाते रहिए और बीपी का चेकअप कराइए..
»सभी उत्तरों को पढ़ें