13 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hlo mem mere left hip m aur left leg m bht pain h koi dikatt bali baat to nhi h mem

1 Answers
सवाल
Answer: hello जैसे-जैसे प्रेगनेंसी का समय आगे बढ़ते जाता है बच्चे का भार बढ़ता है और उसका दबाव शरीर के निचले अंगों पर पड़ता है जिसके कारण दर्द होती है गलत पोजिशन पर सोने बैठने से ज्यादा देर तक खड़े रहने से या थकावट वाले कोई काम करने से हिप्स पर रक्त संचार बढ़ जाता है जिसके कारण निचले अंगो जैसे पैर जांघो कमर और कूल्हों पर दर्द होता है। इससे बचने के लिए आप सोने के दौरान अपने पेट के नीचे और पैरों के बीच में एक तकिया जरूर रखें। इससे बॉडी की पॉजिशन सही रहती है जिससे पेल्विक और साइटिका नर्वस पर कम प्रेशर पड़ता है। एक पेल्विक को स्‍पोर्ट करने वाली बेल्‍ट पहनें जिससे आपके पीठ के नीचे के हिस्‍से पर प्रेशर कम होगा और हिप्‍स और पैर में दर्द से कम हो जाता है। गुनगुने पानी से नहाना किसी भी दर्द से छुटकारा पाने का सबसे अच्‍छा इलाज है।
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mere left leg m aur ussi said hip m buht dard h kuch batai
उत्तर: गर्भावस्था के सुरूवात से लेकर अंतिम चरण तक पैरों तथा किसी एक पैरों और तलवों में दरद होना सामान्य है ।यह जादातर महीलाओं को होता है। गर्भ में पल रहे शिशु केकारण गर्भाशय का भार पैरों पर पड़ने लगता है।इससे पैरों को अधिक भार झेलने के दरद और सुजन भी हो सकती है जो शिशु जन्म के बाद खतम हो जाता है।दरद से बचने के लिये पैर के तलवों को गुनगुने तेल से मालीश करें और कम चले जादा देर तक खड़े न रहें आराम करें ऊंची हील न पहने आराम दायक फ्लैट चप्पलें पहनें इससे आपके पैरों को आराम मीलेगा। गर्भावस्था मे कमर दरद-----आपका वजन सामान्य से अधिक है या फिर आप पहले भी गर्भवती हो चुकी हैं, तो आपको पीठ दर्द होने की संभावना अधिक रहती है।आपकी मांसपेशियों में थकान और अस्थं पर आपके शरीर एवं शिशु का वजन पड़ने से होने वाले हल्के खिंचाव के कारण होता है।  आपको कम उचाई या फ्लैठ चप्पलें पहनें पैरो मे गुनगुने तेल हल्की मालीश लें
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mere back m or leg m bht pain rhta h rt bhr neend nhi aati h ..koi ghrelu upay btayiye
उत्तर: कमर मे दरद होना तो सभी गभवती स्त्रियो के लिए सामान्य सी बात है क्योकि इसी समय मे मासपेसियो मे बहोत खिचाव होता है और हमारे शरीर का हामोनस भी बदलता है इसके राहत के लिए आप घूटनो मे तकिया लगाकर सोए व्यायाम करे। मगर ध्यान रखे कि जादा व्यायाम नही करे । कमर की हल्के हाथो से मालिस करे। एक ही स्थित मे जादा देर रहने से बचे आप परेसान ना हों पेट में बेबी होने के वजह से पूरा भार पैर पे ही पड़ता है इसलिए पैर में दर्द होता है आप पैर में गुनगुने तेल से मलीस करें ऑर उनचि हिल के सेन्दिल ना पहनें सिम्पल फ्लैट्स स्लीपर पहनें इस्से आपके पैरों ऑर एड़ियों को आराम मिलेगा व्यायाम करें ऑर मॉर्निंग वाक करें सोते टाइम पैर में तकिया लगाकर सोएं इसे आपको दर्द में कुछ आराम मिलेगा
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: hlo mere kal se pet me left side light pain h or vo left pair me bhi feel ho raha h koi dikkat ki to baat nhi h .
उत्तर: प्रेग्नेन्सी में थोड़ा बोहोत पेन होना नॉर्मल है । आप चिन्ता ना करे
»सभी उत्तरों को पढ़ें