30 सप्ताह की गर्भवती माँ

Question: hlo mam meri lmp date 5 aug hai to meri edd date kya hogi

1 Answers
सवाल
Answer: हेलों आपका लास्ट पिरियड 5 ऑगस्ट था ..और आमतौर पर हर लेडीज का पिरियड साइकल 28 डेज का होता है प्रेग्नेसी 9 मंथ 7डेज की होती है और एक मंथ में 4 वीक्स होते है .एक हेल्थी प्रेग्नेसी 40 वीक्स तक जा सकती है आपके लास्ट पिरियड के हिसाब से आप 29 वीक्स प्रेग्नेन्ट है और आपकी ड्यू डेट 12 may 2019 है l ये एक संभावित डिलिवरी डेट है डिलिवरी ड्यू डेट के 7 दिन पहले या 7 दिन बाद हो सकती है .
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: Meri lmp date 5.6.18 he to meri edd date kya hogi ??
उत्तर: हेलों आपका लास्ट पिरियड डेट 5 जुन था.और आमतौर पर हर लेडीज का पिरियड साइकल 28 डेज का होता है प्रेग्नेसी 9 मंथ 7डेज की होती है और एक मंथ में 4 वीक्स होते है .एक हेल्थी प्रेग्नेसी 40 वीक्स तक जा सकती है आपके लास्ट पिरियड के हिसाब से आप 31 वीक्स प्रेग्नेन्ट है और आपकी ड्यू डेट 12 march 2019 है l ये एक संभावित डिलिवरी डेट है डिलिवरी ड्यू डेट के 7 दिन पहले या 7 दिन बाद हो सकती है .
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Meri LMP 22-4-18 to meri EDD kya hogi
उत्तर: Hi dear, Due date is calculated by adding 280 days(40 weeks) to the first day of last menstrual period.so going by your LMP, your due date would be 29th Jan,2019.wish you all the best!
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: Meri date 26th aug hai to delivery date kya hogi
उत्तर: हेलो डियर अभी आप 19 हफ्ते प्रेग्नेंट है और आपकी ड्यू डेट 2 जून है 4% बच्चे ही अपनी ड्यू date पर होते हैं अधिकतर बच्चे या तो अपनी ड्यू date से पहले होते हैं और या फिर ड्यू डेट के बाद.डियर आपको अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन और मिनरल्स को शामिल करना चाहिए। आपका आहार ऐसा होना चाहिए जिसमें पर्याप्‍त मात्रा में आयरन और फॉलिक एसिड हो। खाने में ताजे फल, दाल, चावल, हरी सब्जियां, रोटी आदि खाना चाहिए। बच्चे के दिमाग के विकास के लिए ओमेगा-3 और ओमेगा-6 बहुत जरूरी है। फिश लिवर ऑयल, ड्राइफ्रूट्स, हरी पत्तेदार सब्जियों और सरसों के तेल में यह अच्छी मात्रा में मिलते हैं। आयरन और फोलिक एसिड की गोलियां खाना भी शुरू कर दें। इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है।  ज्यादा तला-भुना और मसालेदार खाना न खाएं। इससे गैस और पेट में जलन हो सकती है। जो भी खाएं, फ्रेश खाएं। बाहर के खाने से इंफेक्शन होने का खतरा होता है, इसलिए बाहर खाने से बचें।  
»सभी उत्तरों को पढ़ें