6 महीने का बच्चा

Question: hi mam, teen char din se meri urine ka col light red sa a rha h or mera 5month pehle c section hua h plz help me .

1 Answers
सवाल
Answer: हेलो डियर शायद आपको कुछ गलत खान पान या दवाई के इन्फेक्शन से या किसी और लापरवाही की वजह सेसंक्रमण का खतरा लग रहा हैइसलिए आप जल्द से जल्द डॉक्टर से परामर्श लें
समान प्रश्न, उत्तर के साथ
सवाल: mera c section se बेटा hua h 3 din pehle
उत्तर: hello dear, आपको सी सेक्शन से बेटा हुआ है इसलिए आपको बहुत-बहुत बधाई lआप क्या पूछना चाहती है आप अपना क्वेश्चन सकती है जल्दी ही आप के क्वेश्चन का आंसर आपको दिया जाएगाl
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera baby 5month ka h or wo poty hari pily jati h din m teen char bar
उत्तर: ग्रीन कलर की potty का मतलब होता है आपके बेबी को cuff है .. उन्हें हाल hi में सर्दी खासी हुई होगी ..cuff जो बेबी बहार नही निकाल पते to gatak lete हैं जो पेट से पचते हुए potty के dwara बहार निकल jata है . आप बच्चे को भाप dilaye जिससे उनके सीने मि cuff नही jamegi .. और पेट से होते हुए पती से निकल जायेगी ऐगर यह samsya jyada लम्बी चल रही है बार बार दस्त jese हरी potty होरी है तो ये किसी प्रकर का इन्फेक्शन भि हो सकता है जिसके लाइए आपको डॉक्टर से मिल्क सलाह लेनी चाहिए जरुरत pade टु वो आपको स्टूल टेस्ट मतलब potty टेस्ट भी कराने बोल सकते हैं .. आप अपना दूध अच्छे से पिलाते रहिए ...
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: mera 13 week chl rha h but muje teen char din se bhut jalan feel ho rhi h pet m or seene m esa ku ho rh h
उत्तर: pet,sine में जलन भूख से ज्यादा भोजन, अधिक तला हुआ , बासी खाना खाने के कारण भी हो जाती हैं pet ,sineमे जलन हो तों ये घरेलू उपचार करे , राहत मिलेगी .. अजवायन को तवे पर डालकर हल्का – हल्का भुन लें. अब भुनी हुई अजवायन को पीस कर इसका बारीक़ चुर्ण बना लें. फिर अजवायन के चुर्ण में थोडा सेंधा नमक डालकर मिला लें. अब एक गिलास गुनगुना पानी लें, और उसके साथ अजवायन के चुर्ण को फांक लें. pet ,sineकी जलन में राहत मिलेगी| धनिया और चीनी का शरबत पीने से भी pet,sineकी जलन ठीक हो जाती हैं.'|
»सभी उत्तरों को पढ़ें
सवाल: meri delevry ko 11 din hi hue h or meri delevry c section se hue h
उत्तर: hello dear सिजेरियन डिलीवरी के बाद कब्ज़ की समस्या से बचने के लिए भरपूर पोषण और फाइबर युक्त आहार जैसे दलिया ,साफ धुले और कटे फल सब्ज़ियाँ, साबुत अनाज से बने उत्पाद, चोकर युक्त आटा, फ़ल, हरी सब्जियां, पत्तेदार सब्जियां, आदि खायें। माँ का दूध की सही मात्रा बनाए रखने के लिये माँ को दिन में ख़ूब तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिये। इसके लिए आप छाछ, दूध, नारियल पानी, सूप, लस्सी आदि पीयें। दही आपके पेट के स्वस्थ बनाता है और पाचन तंत्र को सही रखता है। साथ ही इसमें कैल्शियम, प्रोटीन और कई विटामिन्स होते हैं, इसलिए दही को आहार में ज़रूर शामिल करें। अगर आप दही घर पर ही जमायें तो बहुत अच्छा होगा। फैटी एसिड से भरपूर आहार लें जैसे बादाम, सोयामिल्क, दूध, मछली आदि। यह आपके और आपके शिशु दोनों की सेहत के लिए अच्छा है। सिजेरियन डिलीवरी के बाद शरीर की प्रोटीन सम्बंधी ज़रूरतें पूरी करने साथ ही घाव के सही होने के लिए माँ को प्रोटीन से भरपूर खाने के चीजें आहार में शामिल करनी चाहिये। प्रोटीन के लिए आप दाल, अंडा, चिकन, मछली और सूखे मेवे खा सकती हैं। सीजर डिलीवरी ऑपरेशन के दौरान माँ का काफी रक्त बह जाता है, इसलिए उसके शरीर में खून बढ़ाने के लिए फॉलिक एसिड और आयरन से भरपूर आहार शामिल करें। आयरन के लिए माँ को अंजीर, पालक, मांस, और अंडे की जर्दी वगैरह खिलायें। लेकिन ज्यादा आयरन लेने से बचें क्योंकि इससे आपको कब्ज़ हो सकती है। शरीर के ज़ख्म जल्दी भरने में विटामिन सी बहुत मददगार है, साथ ही यह ऑपरेशन डिलीवरी के घाव को संक्रमण के खतरे से भी बचाता है। पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी लेने के लिये संतरा, अंगूर, टमाटर, ब्रोकली, तरबूज़ आदि खायें।
»सभी उत्तरों को पढ़ें